Breaking News


रीवा 02 नवम्बर 2020. कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित साप्ताहिक समीक्षा बैठक में कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने कहा कि सभी अधिकारी अपने कार्यालय को साफ-सुथरा तथा व्यवस्थित रखें। विभागीय योजनाओं के लक्ष्यों की शत-प्रतिशत पूर्ति के लिये उचित प्रयास करें। सभी अधिकारी हर सप्ताह कम से कम तीन दिन क्षेत्र का भ्रमण करके विभागीय योजनाओं के क्रियान्वयन का मौके पर जायजा लें। शासन की उच्च प्राथमिकता की योजनाओं तथा सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों के निराकरण पर विशेष ध्यान दें। 
बैठक में कलेक्टर ने कहा कि सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों के निराकरण में पीएचई, जिला पंचायत तथा खाद्य विभाग ने अच्छे प्रयास किये हैं। अग्रणी बैंक प्रबंधक, जिला शिक्षा अधिकारी, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी तथा अधीक्षण यंत्री पूर्वी क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी भी लंबित प्रकरणों का निराकरण करके ऑनलाइन प्रतिवेदन दर्ज करें। एलडीएम इस सप्ताह कम से कम 100 प्रकरणों, प्रभारी अधिकारी भू-अर्जन 50 प्रकरणों का निराकरण करायें। सभी अधिकारी सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों के निराकरण तथा लोक सेवा गारंटी योजना में दर्ज आवेदन पत्रों के समय-सीमा में निराकरण के प्रयास करें। 
बैठक में कलेक्टर ने कहा कि जिले भर में पेंशन के 400 से अधिक प्रकरण लंबित हैं। संभागीय पेंशन अधिकारी तथा संबंधित कार्यालय प्रमुख इन प्रकरणों का निराकरण शीघ्र करें। नवम्बर माह में कम से कम दो सौ प्रकरणों का निराकरण करके सेवा निवृत्त कर्मचारी को पीपीओ जारी करें। अपर कलेक्टर पेंशन प्रकरणों के निराकरण की हर सप्ताह समीक्षा करें। बैठक में कलेक्टर ने खाद तथा बीज की आपूर्ति, सार्वजनिक वितरण प्रणाली से खाद्यान्न वितरण तथा निर्माण कार्यों के संबंध में अधिकारियों को निर्देश दिये। 
बैठक में कलेक्टर ने कहा कि नवम्बर माह में खाद्यान्न उठाव में अभी रीवा जिला प्रदेश में प्रथम स्थान पर है। जिला आपूर्ति अधिकारी समय-सीमा में खाद्यान्न का उठाव तथा वितरण करायें। सभी उचित मूल्य दुकानदार मध्यान्ह भोजन योजना तथा आंगनवाड़ी केन्द्रों के लिये हर माह नियमित रूप से खाद्यान्न प्रदान करें। इसके लिये खाद्यान्न आवंटन की प्रतीक्षा न करें। महाप्रबंधक जिला सहकारी बैंक इस संबंध में सभी सेल्समैनों को निर्देश जारी करें। जिले में निर्धारित खरीदी केन्द्रों में 16 नवम्बर से धान का उपार्जन होगा। इसके लिये सभी खरीदी केन्द्रों में आवश्यक व्यवस्थायें सुनिश्चित कर लें। सीमावर्ती खरीदी केन्द्रों में उपार्जन के समय कड़ी निगरानी रखें। जिला प्रबंधक नागरिक आपूर्ति निगम समितियों से बारदाने प्राप्त करके उसे खरीदी केन्द्रों में उपलब्ध करायें। इस माह आवंटित गेंहू जूट के बारदाने में उचित मूल्य दुकानों को प्रदान करें जिससे खाली बारदाने का धान उपार्जन में उपयोग किया जा सके। उपार्जित धान के भण्डारण के लिये गोदाम तथा कैब की व्यवस्था 15 नवम्बर तक कर लें। बैठक में जिला पंचायत के मुख्य कार्यपालन अधिकारी स्वप्निल वानखेड़, आयुक्त नगर निगम मृणाल मीणा, एडीएम श्रीमती इला तिवारी, संयुक्त कलेक्टर एके झा तथा सभी संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे। 
क्रमांक-12-3285-तिवारी-फोटो क्रमांक 01 संलग्न है। 

फ्लाई ओवर का निर्माण 31 दिसम्बर तक हर हाल में पूरा करायें - श्री शुक्ल 
पूर्व मंत्री श्री शुक्ल ने शहर में चल रहे निर्माण कार्यों की समीक्षा की 

रीवा 02 नवम्बर 2020. कलेक्ट्रेट के बाणसागर सभागार में आयोजित बैठक में पूर्व मंत्री एवं विधायक रीवा श्री राजेन्द्र शुक्ल ने नगर निगम क्षेत्र रीवा में चल रहे निर्माण कार्यों के प्रगति की समीक्षा की। श्री शुक्ल ने कहा कि नये बस स्टैण्ड में बनाये जा रहे फ्लाई ओवर का निर्माण कार्य 31 दिसम्बर तक हर हाल में पूरा करें। इसके निर्माण को समय-सीमा में पूरा करने के लिये अतिरिक्त संसाधनों का उपयोग करें। इसी तरह रेलवे ओवर ब्रिज का निर्माण भी अगले वर्ष 31 जनवरी तक पूरा कराने के प्रयास करें। इसके मुख्य स्लैब में हाईटेंशन बिजली की लाइन के कारण बाधा आ रही है। लाइन की शिÏफ्टग के लिये तत्परता से कार्यवाही करें। इन दो फ्लाई ओवर का निर्माण पूरा हो जाने से शहर के यातायात को व्यवस्थित और सुगम बनाने में सहायता मिलेगी। 
बैठक में पूर्व मंत्री श्री शुक्ल ने कहा कि निर्माण कार्यों में गुणवत्ता का विशेष ध्यान रखें। गैस पाइप लाइन निर्माण को पूरा करने के लिये 16 नवम्बर की समय-सीमा तय की गई है। इसका पालन करते हुए कार्य पूरा करायें। गैस पाइप लाइन के लिये जहां सीसी रोड तोड़ी जा रही है वहां से मलवा हटाने तथा सड़क को चलने योग्य बनाने के लिये तत्काल कार्य करें। सभी निर्माण स्थलों में पानी का नियमित रूप से छिड़काव करायें। सीवर लाइन का निर्माण कार्य समय-सीमा से पीछे चल रहा है। समान से रतहरा के बीच 1600 मीटर तथा कालेज चौराहा से स्टेशन मोड़ तक शेष बचे कार्य को 15 दिसम्बर तक पूरा करायें। जिन स्थानों में सीवर लाइन के लिये सड़कों की खुदाई की जा रही है वहां सीवर लाइन बनने के बाद माडल रोड बनाने वाली एजेंसी उचित मटेरियल से खोदे गये स्थान को भरवायें तथा सड़क को चलने योग्य बनायें। 
पूर्व मंत्री ने कहा कि आयुक्त नगर निगम चोरहटा से रतहरा रोड निर्माण में आ रही बाधाओं को दूर करने तथा विभिन्न विभागों एवं निर्माण एजेंसियों के बीच समन्वय के लिये उचित पहल करें। बैठक में माडल रोड के अनुपयुक्त कट बंद करने, डिवाइडर लगाने तथा वृक्षारोपण के संबंध में भी निर्णय लिये गये। बैठक में कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने कहा कि सभी निर्माण कार्यों को समय-सीमा में पूरा करने के लिये निर्धारित साप्ताहिक लक्ष्यों की अनिवार्य रूप से पूर्ति करें। कार्य योजना के अनुसार कार्य करेंगे तो समय-सीमा में निर्माण कार्य पूरे हो जायेंगे। इसमें किसी तरह की कठिनाई आने पर व्यक्तिगत तौर पर मुझसे सम्पर्क करें। तय समय-सीमा में निर्माण कार्य पूरा करना अनिवार्य है। निर्माण कार्यों में सुरक्षा का भी पूरा ध्यान रखें। बैठक में आयुक्त नगर निगम मृणाल मीणा, चीफ इंजीनियर पीडब्ल्यूडी जीआर गुजरे, अधीक्षण यंत्री नगर निगम शैलेन्द्र शुक्ला, कार्यपालन यंत्री राजेश सिंह, एसडीओ पीडब्ल्यूडी श्री गर्ग, कार्यपालन यंत्री वसीम खान तथा निर्माण एजेंसियों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे। 
क्रमांक-13-3286-तिवारी-फोटो क्रमांक 02, 03 संलग्न हैं। 

राजस्व कार्यों की समीक्षा बैठक 7 नवम्बर को

रीवा 02 नवम्बर 2020. राजस्व कार्यों की समीक्षा बैठक 7 नवम्बर को प्रात: 10.30 बजे से कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित की जा रही है। बैठक में कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी नामांतरण, बंटवारा, सीमांकन, राजस्व प्रकरणों के निराकरण, सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों के निराकरण तथा ऑडिट आपत्तियों के निराकरण की समीक्षा करेंगे। बैठक में जिले की कानून और व्यवस्था, भू-अर्जन के प्रकरणों, समर्थन मूल्य पर धान उपार्जन की तैयारी, सिंचाई के लिये नहरों में पानी छोड़े जाने की भी समीक्षा की जायेगी। सभी संबंधित अधिकारियों से बैठक में उपस्थित रहने का अनुरोध किया गया है। 
क्रमांक-14-3287-तिवारी 
जिला बैंकर्स सलाहकार समिति की विशेष बैठक 7 नवम्बर को 

रीवा 02 नवम्बर 2020. कलेक्ट्रेट सभागार में 7 नवम्बर को शाम 5 बजे से जिला बैंकर्स सलाहकार समिति की विशेष बैठक आयोजित की जा रही है। बैठक की अध्यक्षता कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी करेंगे। बैठक में प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम की बैंकवार तथा विभागवार समीक्षा की जायेगी। महाप्रबंधक जिला उद्योग केन्द्र यूबी तिवारी ने संबंधित अधिकारियों, अग्रणी बैंक प्रबंधक तथा बैंक शाखा प्रबंधकों से बैठक में उपस्थित रहने का अनुरोध किया है। 
क्रमांक-15-3288-तिवारी 

पटाखा दुकानों के लिये ऑनलाइन लाइसेंस आवेदन की सुविधा 

रीवा 02 नवम्बर 2020. शासन के निर्देशों तथा विस्फोटक अधिनियम 1984 एवं विस्फोटक नियम 2008 के प्रावधानों के तहत पटाखों एवं विस्फोटक सामग्री के निर्माण, भण्डारण, परिवहन एवं बिक्री के लिये लाइसेंस दिये जाते हैं। शासन द्वारा 30 अक्टूबर से लाइसेंस के लिये ऑनलाइन आवेदन की सुविधा शुरू की गई है। इस संबंध में एडीएम श्रीमती इला तिवारी ने बताया कि पटाखा दुकानों अथवा विस्फोटक के निर्माण, परिवहन, भण्डारण एवं बिक्री के लिये इच्छुक व्यक्ति एमपी ई सर्विस पोर्टल  द्मड्ढद्धध्त्ड़ड्ढद्म.थ्र्द्र.ढ़दृध्.त्द के माध्यम से ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। निर्धारित फीस जमा करके आवेदनकर्ता स्थायी अथवा अस्थायी लाइसेंस प्राप्त कर सकते हैं। अब लाइसेंस के लिये ऑफलाइन आवेदन पत्र स्वीकार नहीं किये जायेंगे। 
क्रमांक-16-3289-तिवारी 

ई-दक्ष केन्द्र में आउट सोर्सिंग से होगी केयर टेकर की सेवाये लेने की व्यवस्था 

रीवा 02 नवम्बर 2020. जिला ई-गवर्नेंस सोसायटी रीवा के तहत संचालित ई-दक्ष केन्द्र में एक वर्ष की अवधि के लिये आउट सोर्सिंग एजेंसी के माध्यम से केयर टेकर की सेवायें ली जायेंगी। इसके लिये पंजीकृत एजेंसी तथा संस्थायें कलेक्ट्रेट कार्यालय रीवा में 18 नवम्बर को दोपहर 12 बजे तक आवेदन पत्र दे सकती हैं। इस संबंध में अन्य जानकारियां कार्यालय कलेक्टर रीवा की वेबसाइट ध्र्ध्र्ध्र्.द्धड्ढध्र्ठ्ठ.दत्ड़.त्द पर देखी जा सकती हैं। 
क्रमांक-17-3290-तिवारी 

जिले के दो स्थानों से कंटेनमेंट एरिया समाप्त

रीवा 02 नवम्बर 2020. कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट इलैयाराजा टी ने तहसील नईगढ़ी के ग्राम बेलहा कोठार में हीरामणि मिश्रा के घर तथा नगर परिषद मऊगंज के वार्ड क्रमांक 14 में दलई कुशवाहा के घर से कंटेनमेंट एरिया समाप्त करने के आदेश दिये हैं। कलेक्टर ने यहां अंतिम पुष्ट मामला मिलने के बाद लगातार दो सप्ताह तक लैब द्वारा कोविड-19 का कोई पुष्ट मामला नहीं मिलने पर दो नवम्बर की मध्यरात्रि से कंटेनमेंट एरिया समाप्त करने के आदेश दिये हैं। यह आदेश संबंधित क्षेत्र के इंसिडेंट कमाण्डर एवं एसडीएम तथा खण्ड चिकित्सा अधिकारी से प्राप्त प्रतिवेदन के आधार पर जारी किये गये हैं।
क्रमांक-18-3291-शुक्ल  
जिले के 11 स्थानों में बनाये गये कंटेनमेंट क्षेत्र

रीवा 02 नवम्बर 2020. जिले के 11 स्थानों में कोरोना संक्रमित रोगी पाये जाने पर कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट इलैयाराजा टी ने कंटेनमेंट क्षेत्र बनाने के आदेश दिये हैं। जारी अलग-अलग आदेशों के अनुसार नगर परिषद हनुमना के वार्ड क्रमांक 10 में मुकुन्दलाल गुप्ता तथा लवकुश गुप्ता के घर, वार्ड क्रमांक 6 सगरा खुर्द में पवन सोंधिया का घर, तहसील हनुमना के ग्राम टटिहरा में भरतलाल केवट का घर, ग्राम देवरा में सिवली सेन का घर, ग्राम खैरा नम्बर एक में रघुराई साकेत का घर, ग्राम कजरा में राकेश प्रजापति का घर, तहसील मऊगंज के ग्राम लटियार में मोहन यादव का घर, ग्राम पाड़र में रामकिशोर प्रजापति का घर, ग्राम ढढ़नी खर्रा टोला में वासुदेव साहू का घर तथा तहसील नईगढ़ी के ग्राम छत्रगढ़कला में सुरेश साहू के घर को कंटेनमेंट एरिया बनाने के आदेश दिये गये हैं। कंटेनमेंट घोषित किये गये स्थानों में आवागमन पूर्ण रूप से प्रतिबंधित रहेगा। 
जारी आदेश के अनुसार घोषित किये गये कंटेनमेंट एरिया में निवास करने वाले सभी निवासियों को होम क्वारेंटाइन में रहना होगा। इन क्षेत्रों में स्वास्थ्य विभाग, राजस्व विभाग, पुलिस विभाग तथा आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति करने के लिए अधिकृत व्यक्तियों के अतिरिक्त सभी का प्रवेश वर्जित होगा। कंटेनमेंट एरिया में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, स्वास्थ्य कार्यकर्ता तथा अन्य स्थानीय कर्मचारियों के दल तैनात किये गये हैं। इनके द्वारा कंटेनमेंट क्षेत्रों के प्रत्येक घर में जाकर निर्धारित प्रपत्र में व्यक्तियों की जानकारी तैयार की जायेगी। जारी आदेश के अनुसार संबंधित क्षेत्र में कंटेनमेंट एरिया के लिए संबंधित एसडीएम कोे इंसिडेंट कमाण्डर बनाया गया है। इन्हें सहयोग देने के लिए राजस्व, पुलिस, स्वास्थ्य विभाग, जनपद पंचायत, नगरीय निकाय, तथा लोक निर्माण विभाग के अधिकारी तैनात किये गये हैं। कलेक्टर ने कंटेनमेंट क्षेत्रों में निर्देशों तथा प्रतिबंधों का कठोरता से पालन कराने के निर्देश दिए हैं। 
क्रमांक-19-3292-शुक्ल  

राज्य बालश्री कला प्रतियोगिता में चयनित हुए प्रतिभागी 

रीवा 02 नवम्बर 2020. कोरोना संकटकाल के दौरान बच्चों को सृजनात्मक गतिविधियों से जोड़ने एव उनमें सृजनात्मकता के विकास के लिए महिला एवं बाल विकास विभाग द्वारा राज्य बालश्री कला प्रतियोगिता का आनलाइन आयोजन किया गया ।
बाल भवन के सहायक संचालक रमेश कुमार रजक ने बताया कि यह प्रतियोगिता 2 वर्गो 5 से 11 वर्ष तथा 16 वर्ष आयु वर्ग में आयोजित की गयी थी। उक्त प्रतियोगिता में शास्त्रीय संगीत में शैली द्विवेदी प्रथम स्थान पर आयीं। सुगम संगीत दीक्षा द्विवेदी प्रथम, सृजनात्मकला (चित्रकला) में प्रकृति तिवरकर में सात्वना, सुगम संगीत में अथर्व मिश्रा एवं शीवांश पाण्डेय ने सात्वना स्थान पाया। 
क्रमांक-20-3293-मिश्रा

मान्यता प्राप्त राजनैतिक पार्टी के पदाधिकारी मतदाता सूची प्राप्त करें 

रीवा 02 नवम्बर 2020. अपर कलेक्टर एवं उप जिला निर्वाचन अधिकारी इला तिवारी ने कहा है कि नगर परिषद गोविंदगढ़, मनगवां, बैकुण्ठपुर, सिरमौर, सेमरिया, त्योंथर, चाकघाट, मऊगंज, नईगढ़ी एवं हनुमना की अंतिम मतदाता सूची तैयार है। मान्यता प्राप्त राजनैतिक पार्टी के पदाधिकारी स्वयं या प्राधिकृत व्यक्ति के माध्यम से अंतिम मतदाता सूची प्राप्त कर लें। 
क्रमांक-21-3294-मिश्रा 

सीएलसी चतुर्थ चरण की समय सारिणी जारी 
तीन नवम्बर तक होगा आनलाइन पंजीयन
रीवा 02 नवम्बर 2020. उच्च शिक्षा विभाग के निर्देशानुसार ई-प्रवेश हेतु सीएलसी चतुर्थ चरण की विभागीय वेबसाइट में समय सारिणी जारी की गई है। स्नातक प्रथम वर्ष एवं स्नातकोत्तर प्रथम सेमेस्टर हेतु अपंजीकृत आवेदकों हेतु आनलाइन पंजीयन 30 अक्टूबर से प्रारंभ हो गया है, जो आज 3 नवम्बर 2020 तक होंगे तथा 2 नवम्बर से 4 नवम्बर तक स्नातक एवं स्नातकोत्तर आवेदकों के दस्तावेजों का सत्यापन प्रारंभ होगा। 
महाविद्यालयों में सीएलसी तृतीय चरण के पश्चात रिक्त रहे गए स्थानों का महाविद्यालयवार एवं पाठ्यक्रमवार पोर्टल पर जानकारी 3 नवम्बर 2020 को प्रदर्शित होगी। 5 नवम्बर से 10 नवम्बर 2020 तक महाविद्यालय, पाठ्यक्रम विषय समूह का निर्धारित प्रारूप में पृथक-पृथक महाविद्यालय में विकल्प दिया जायेगा एवं महाविद्यालय द्वारा सीएलसी चरण की मेरिट सूची प्रतिदिन जारी की जायेगी। आवंटित महाविद्यालयों में पोर्टल के माध्यम से डिजिटली आनलाइन शुल्क का भुगतान भी किया जा सकेगा। 10 नवम्बर तक प्रवेशित विद्यार्थियों की पोर्टल पर आनलाइन रिपोर्टिंग की जायेगी। 
क्रमांक-22-3295-मिश्रा
जीपीएफ एवं डीपीएफ आवेदन में आ रही समस्याओं का निराकरण 

रीवा 02 नवम्बर 2020. संचालक कोष एवं लेखा मध्यप्रदेश द्वारा शासकीय सेवकों द्वारा जीपीएफ एवं डीपीएफ आवेदन करते समय अनादर रिक्वेस्ट इन पेडिंग का मैसेज प्रदर्शित होता है और सिस्टम से आवेदन नहीं हो पाता है। ऐसे प्रकरणों का नेविगेशन का प्रयोग कर निराकरण में आने वाली समस्याओं का निराकरण सुनिश्चित करने के निर्देश मध्यप्रदेश के समस्त कोषालय अधिकारियों को दिये है। जारी निर्देशों में कहा है कि जीपीएफ एवं डीपीएफ आवेदनों में आ रही समस्याओं के निराकरण में बिल रिजेक्ट कर देने पर अनादर रिक्वेस्ट आलरेडी पेडिंग का मैसेज प्रदर्शित नहीं होने पर कर्मचारी पुन: आवेदन कर सकते है। इस दिशा में जिले के समस्त डीडीओ को निर्देश जारी कर दिये गये है। 
क्रमांक-23-3296-मिश्रा
फिट हेल्थ वर्कर अभियान 14 नवम्बर तक 
रीवा 02 नवम्बर 2020. स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं एएनएम, एमपीडब्ल्यू, कम्युनिटी हेल्थ आफिसर, आशा कार्यकर्ता, आशा सहयोगी, आंगनवाड़ी केन्द्र के कर्मचारी, प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र स्तरीय हेल्थ एण्ड वैलनेस सेंटर्स पर कार्यरत कर्मचारी की विभिन्न बीमारियों की पहचान एवं उपचार के लिये शासन द्वारा फिट हेल्थ वर्कर अभियान चलाया जा रहा है। अभियान 14 नवम्बर तक निरंतर चलाया जायेगा। अभियान के अन्तर्गत स्वास्थ्य विभाग एवं संबंधित विभाग के अधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं की उच्च रक्तचाप, मधुमेह, मुंह का कैंसर, ब्रेस्ट कैंसर, सरवाईकल कैंसर की जांच कर उपचार किया जा रहा है। 
क्रमांक-24-3297-मिश्रा 
बंदियों के परिजन जेलों में करेंगे मुलाकात 
रीवा 02 नवम्बर 2020. जेलों में परिनिरूद्ध बंदियों की उनके परिजनों से मुलाकात को एक नवम्बर से प्रारंभ करने की स्वीकृति प्रदान की गयी है। अब जेलों में परिरूद्ध बंदियों के परिजन जेलों में जाकर उनसे मुलाकात कर सकेंगे। उल्लेखनीय है कोरोना वायरस बीमारी से बचाव हेतु बंदियों की परिजनों से मुलाकात को 31 अक्टूबर तक प्रतिबंधित किया था। जारी परिपत्र अनुसार बंदियों की परिजनों से मुलाकात के दौरान कोरोना वायरस से बचाव संबंधी राज्य सरकार के निर्देशों का पालन अनिवार्य रूप से करना होगा। 
क्रमांक-25-3298-मिश्रा 
कृषक पुरस्कार हेतु 15 नवम्बर करें आवेदन 

रीवा 02 नवम्बर 2020. कृषकों द्वारा अपनाई गई कृषि तकनीक, उत्पादकता के आधार पर जिले के समस्त कृषकों से कृषि विस्तार सुधार कार्यक्रम (आत्मा परियोजना) के तहत वर्ष 2019-20 गतिविधियों के आधार पर कृषक पुरस्कार एवं कृषक समूह पुरस्कार हेतु 15 नवम्बर तक आवेदन किया जा सकता है। जिनमें जिले से विभिन्न 5 इंटरप्राइजेस, गतिविधियों में दो-दो कृषकों को मूल्यांकन समिति की अनुशंसा पर 25000 रूपये (पच्चीस हजार) एवं जिले के प्रत्येक विकासखण्ड से 5 विभिन्न गतिविधियों की एक-एक कृषक को मूल्यांकन समिति की अनुशंसा पर 10000 (दस हजार) का पुरस्कार तथा 5 विभिन्न गतिविधियों की एक-एक कृषक समूह को मूल्यांकन समिति की अनुशंसा पर 20000 (बीस हजार) का पुरस्कार प्रदान किया जायेगा। पुरस्कार के विषय में निर्णय लेने का पूर्णाधिकार कलेक्टर सह अध्यक्ष आत्मा गवर्निंग बोर्ड का रहेगा। 
कृषकों से आग्रह है कि पुरस्कार हेतु निर्धारित प्रपत्र विकासखण्ड के वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी, ब्लॉक टेक्नोलॉजी मैनेजर, असिस्टेंट टेक्नोलॉजी मैनेजर से तथा परियोजना संचालक (आत्मा) समिति से प्राप्त कर सकते है। आवेदन पत्र भरकर 15 नवम्बर तक वरिष्ठ कृषि विकास अधिकारी, ब्लाक टेक्नोलॉजी मैनेजर, असिसटेंट टेक्नोलाजी मैनेजर के कार्यालय में सायं 5 बजे तक जमा कर सकते है। इसके साथ ही उद्यानिकी कृषक, उद्यान विभाग से, पशुपालक कृषक, पशुपालन विभाग से, मछलीपालन कृषक, मछलीपालन विभाग से एवं कृषि अभियांत्रिकी कृषक, कृषि अभियांत्रिकी विभाग से आवेदन प्राप्त कर सकते है। भरे हुये आवेदन संबंधित विभाग से सत्यापन पश्चात 15 नवम्बर तक सायं 5 बजे तक जमा किया जा सकता है। 
क्रमांक-26-3299-मिश्रा 

लोक अदालत में 46 प्रकरणों में 94 लाख 93 हजार रूपये के अवार्ड पारित 

रीवा 02 नवम्बर 2020. ऑनलाइन स्थाई एवं निरंतर लोक अदालत में आपसी सुलह एवं समझौते के आधार पर 46 प्रकरणों में 94 लाख 93 हजार 378 रूपये के अवार्ड पारित किये गये। लोक अदालत का आयोजन कोरोना संबंधी शासन की समस्त गाइड लाइन का पालन करते हुए जिला एवं सत्र न्यायाधीश अरूण कुमार सिंह की अध्यक्षता में तथा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव विपिन कुमार लवानिया की उपस्थिति में किया गया। 
आनलाइन स्थाई एवं निरंतर लोक अदालत में मोटर क्लेन के 41 प्रकरणों में 88 लाख 71 हजार 500 रूपये, चेक बाउंस के 4 प्रकरणों में 6 लाख 21 हजार 878 रूपये के अवार्ड पारित किये गये। सिविल का एक प्रकरण का भी निराकरण किया गया। कुल 233 व्यक्तियों को लाभांवित किया गया। जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री अभय कुमार मिश्रा ने बताया कि उक्त आनलाइन स्थाई एवं निरंतर लोक अदालत का आयोजन प्रत्येक माह के अंतिम शनिवार को किया जाता है। इसमें रीवा न्यायालय के साथ-साथ तहसील न्यायालय सिरमौर, त्योंथर, मऊगंज एवं हनुमना में भी आनलाइन स्थाई एवं निरंतर लोक अदालत हेतु खण्डपीठों का गठन किया गया। रीवा न्यायालय में दो खण्डपीठे, तहसील न्यायालयों में 7 खण्डपीठे इस तरह से संपूर्ण जिला न्यायालय में कुल 9 खण्डपीठे गठित की गई थी। न्यायालय में खण्डपीठ क्रमांक-1 में अपर जिला सत्र न्यायाधीश श्री सुधीर सिंह राठौड़ एवं खण्डपीठ क्रमांक-2 में न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी श्री शंशाक सिंह ने लोक अदालत का कार्य संपादित किया। 
क्रमांक-27-3300-मिश्रा


औद्योगीकरण एवं आर्थिक विकास हेतु कलेक्टर ने बनाया नया मॉडल

रीवा 02 नवम्बर 2020. किसी जगह के औद्योगिकरण को गति मिलने से अन्य आर्थिक गतिविधियों का विकास, रोजगार सृजन, नैसर्गिक कच्चे माल एवं मानव संसाधन का सदुपयोग, बाहरी व्यापारियों के आवागमन से संस्कृति का आदान-प्रदान तथा नवीन आधुनिक गतिविधियों का प्रादुर्भाव होता है। रीवा औद्योगिक क्रांति की दहलीज पर खड़ा है जिसे मात्र दिशा देकर मूर्तरूप देने की आवश्यकता है। इस संभाव्यता को रीवा कलेक्टर इलैयाराजा टी ने पहचान कर नया माडल तैयार किया है, जिसमें आर्थिक गतिविधियों को पांच भागों में बांटकर प्रत्येक सेक्टर हेतु नोडल अधिकारी वित्तीय संस्थाओं के वरिष्ठ एवं अनुभवी रिजनल मैनेजर्स को बनाया गया है जो सेक्टर विशेष के विकास एवं संवर्धन हेतु कार्य करेंगे तथा उनके सहयोग हेतु विभागों के जिला अधिकारी एवं अन्य बैंकों के वरिष्ठ प्रबंधक कंसल्टेंट रहेंगे। ये सहयोगी अधिकारी किसी प्रस्ताव में किसी भी प्रकार की समस्या न आये, जवाबदार होंगे। 
जिला व्यापार एवं उद्योग केन्द्र के महाप्रबंधक यूबी तिवारी ने बताया कि समस्त सेक्टर की मानीटरिंग प्रत्येक माह के अंतिम बुधवार को नियमित रूप से की जावेगी जिसमें कलेक्टर को निवेशकों के नवीन प्रस्ताव एवं चयन, वित्तीयकरण की स्थित एवं परियोजनावार समस्या पर चर्चा विशेष रूप से की जावेगी ताकि उनकी परियोजना को मूर्तरूप दिया जा सके एवं राज्य व केन्द्र सरकार की योजनाओं का लाभ भी प्राप्त हो सके। प्रभावी मानीटरिंग सिस्टम एवं नोडल विभाग के आभाव में वित्तीय संस्थाओं पर योजनाएं आश्रित थी, लेकिन अब सेक्टर विशेष के लिये क्षेत्रीय प्रबंधक स्तर के बैंक अधिकारी एवं अधिकारियों के समूह को उत्तरदायित्व दिया जाकर कलेक्टर की नजर रहेगी। 
महाप्रबंधक श्री तिवारी ने बताया कि रीवा में आर्थिक गतिविधियों की संभाव्यता एवं आवश्यकता को ध्यान में रखकर सेक्टर में विभाजित करते हुए एमएसएमई के नोडल अधिकारी, यूबीआई क्षेत्रीय कार्यालय के क्षेत्रीय प्रबंधक राजीव रंजन को नामांकित किया गया है। टूरिज्म, हेल्थकेयर एवं वेयर हाउसिंग सेक्टर के विकास एवं संवर्धन हेतु भारतीय स्टेट बैंक के क्षेत्रीय प्रबंधक अनुराग शाह को उत्तरदायित्व सौंपा गया है। आत्मनिर्भर भारत के तहत भारत सरकार द्वारा हाल ही में घोषित पीएमएफएमई एवं डेयरी विकास हेतु इंडियन बैंक (पूर्व इलाहाबाद बैंक) के क्षेत्रीय प्रबंधक अरविंद महापात्र को नोडल अधिकारी बनाया गया है। सतीश फुलवानी, क्षेत्रीय प्रबंधक, मध्यांचल ग्रामीण बैंक कृषक संपदा योजनान्तर्गत पोस्ट हार्वेस्ट एग्री इन्फ्रास्ट्रक्चर एण्ड एलाइड एक्टिविटीज के लिये उत्तरदायी होंगे। सेल्फ हेल्प ग्रुप एवं वीकर सेक्सन के विकास संबंधी योजनाओं हेतु डीडीएम नाबार्ड सुनील डिकले नोडल होंगे। इन समस्त नोडल अधिकारियों के साथ विभागीय अधिकारी एवं बैंकों के वरिष्ठ प्रबंधकों का समूह लगाया गया है जो अपने-अपने विभाग संबंधी गतिरोधों को दूर करेंगे जिससे किसी भी निवेशक को कठिनाइयों के कारण परियोजना स्थापना में विलम्ब न हो। इन सेक्टर के मानीटरिंग हेतु जिला स्तर पर फोरम न होना तथा प्रभावी मानीटरिंग सिस्टम के आभाव के कारण जिले में क्रियान्वयन नहीं के बराबर था। वित्तीय संस्थाओं की इच्छा पर निर्भर था। इस प्रक्रिया से इच्छा आधारित क्रियान्वयन न होकर जवाबदारी निर्धारित की गई है। इससे जिले की सुस्त पड़ी आर्थिक गतिविधियों में गति आयेगी और सीडी रेशियों बढ़ेगा।
क्रमांक-28-3301-मिश्रा

No comments