Breaking News

संभागीय जनसम्पर्क कार्यालय रीवा मध्यप्रदेश शासन समाचार ----------- खाद बिक्री में मात्रा निर्धारण प्रतिबंध समाप्त किसानों को अब उनकी जरूरत के अनुसार मिलेगी खाद



रीवा 13 अक्टूबर 2020. शासन द्वारा यूरिया खाद तथा डीएपी की कालाबाजारी रोकने एवं जरूरतमंद किसानों को खाद उपलब्ध कराने के लिए 31 जुलाई 2020 को खाद बिक्री के लिए मात्रा निर्धारण के आदेश दिये थे। जिसके अनुसार किसान की वास्तविक पहचान निर्धारित करने के बाद उसे एक एकड़ खेत के लिए एक बोरी यूरिया तथा एक बोरी डीएपी बिक्री की अनुमति दी गयी थी। किसान को अधिकतम पांच एकड़ के लिए एक बार में 5 बोरी डीएपी देने के निर्देश दिये गये थे। शासन द्वारा वर्तमान में यूरिया तथा डीएपी की पर्याप्त उपलब्धता के कारण मात्रा निर्धारण के प्रतिबंध को समाप्त करने के आदेश दिये हैं। अब किसान को उसकी आवश्यकता के अनुसार सहकारी समितियों तथा निजी विक्रेताओं से खाद की बिक्री की जा सकेगी। उप संचालक कृषि यूपी बागरी ने सभी सहकारी समितियों के समिति सेवक एवं विक्रेताओं तथा निजी विक्रेताओं को शासन के नये निर्देशों के अनुसार किसानों को उनकी जरूरत के अनुसार खाद की बिक्री करने के निर्देश दिये गये हैं। 
क्रमांक-132-3050-तिवारी

खनिज रियायत की स्वीकृति के लिये बैठक आज

रीवा 13 अक्टूबर 2020. वन सीमा से 250 मीटर की परिधि में आने वाली जमीनों में खनिज रियायत के प्रकरणों को मंजूरी देने के लिये 14 अक्टूबर को शाम 4 बजे से कमिश्नर कार्यालय में बैठक आयोजित की गई है। इसकी अध्यक्षता रीवा संभाग के कमिश्नर राजेश कुमार जैन करेंगे। बैठक में मुख्य वन संरक्षक, कलेक्टर, वन मण्डलाधिकारी, खनिज अधिकारी तथा अन्य संबंधित अधिकारी शामिल होंगे। 
क्रमांक-133-3051-तिवारी 

कृषि उत्पादन आयुक्त 16 अक्टूबर को करेंगे कृषि आदान की समीक्षा

रीवा 13 अक्टूबर 2020. वर्तमान खरीफ फसल की समीक्षा तथा आगामी रबी फसल की तैयारियों की अपर मुख्य सचिव एवं कृषि उत्पादन आयुक्त श्री केके सिंह वीडियो कान्फ्रेंसिंग से समीक्षा करेंगे। रीवा संभाग की समीक्षा बैठक 16 अक्टूबर को प्रात: 10 बजे से कलेक्ट्रेट के एनआईसी केन्द्र में आयोजित की जा रही है। बैठक में प्रात: 10 बजे से 10.45 बजे तक पशुपालन एवं डेयरी विभाग, प्रात: 10.45 से दोपहर 11.45 बजे तक कृषि विभाग, प्रात: 11.45 दोपहर 12.20 बजे तक उद्यानिकी, दोपहर 12.20 बजे से 12.55 बजे तक सहकारिता तथा दोपहर 12.55 बजे से 1.30 बजे तक मछली पालन विभाग की समीक्षा की जायेगी। रीवा संभाग के कमिश्नर राजेश कुमार जैन ने बैठक से संबंधित जानकारी निर्धारित प्रपत्र में तत्काल उपलब्ध कराने तथा विभागवार नियत समय में कलेक्ट्रेट के एनआईसी केन्द्र में उपस्थित रहने के निर्देश दिये हैं। 
क्रमांक-134-3052-तिवारी 
कमिश्नर आज करेंगे कृषि आदान की समीक्षा  

रीवा 13 अक्टूबर 2020. कृषि आदान की संभागीय समीक्षा बैठक कमिश्नर कार्यालय सभागार में 14 अक्टूबर को दोपहर 12 बजे से आयोजित की जा रही है। बैठक में रीवा संभाग के कमिश्नर राजेश कुमार जैन कृषि आदान की समीक्षा करेंगे। बैठक में कृषि, उद्यानिकी, सहकारिता, पशुपालन एवं डेयरी, मछलीपालन तथा कृषि आदान से जुड़े विभागों की योजनाओं की समीक्षा करेंगे। बैठक में कृषि उत्पादन आयुक्त की प्रस्तावित बैठक के एजेण्डा बिंदुओं पर विभागों द्वारा की गई कार्यवाही की भी समीक्षा की जायेगी। सभी संबंधित अधिकारियों को अद्यतन जानकारी के साथ बैठक में उपस्थित रहने के निर्देश दिये गये हैं। 
क्रमांक-135-3053-तिवारी 
समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी के लिये पंजीयन 15 अक्टूबर तक 
 किसानों को ऑनलाइन पंजीयन की सुविधा 
रीवा 13 अक्टूबर 2020. किसानों को उनकी उपज का अधिकतम लाभ देने के लिये शासन द्वारा घोषित समर्थन मूल्य पर खरीदी की जाती है। रीवा जिले में धान, ज्वार, बाजरा एवं मक्का के समर्थन मूल्य पर उपार्जन के लिये किसानों का पंजीयन प्रारंभ है। पंजीयन कराने की अंतिम तिथि 15 अक्टूबर तक है। सहकारी समितियों तथा निर्धारित खरीदी केन्द्रों में पंजीयन किया जायेगा। इन केन्द्रों में किसान 15 अक्टूबर 2020 तक नवीन पंजीयन करा सकते हैं। इस संबंध में अपर कलेक्टर श्रीमती इला तिवारी ने बताया कि किसानों का पंजीयन इस वर्ष फसल गिरदावरी के डाटाबेस के आधार पर किया जायेगा। शासन द्वारा खरीफ फसल 2020-21 में धान के लिए 1868 रूपये, ज्वार के लिए 2620 रूपये तथा बाजरे के लिए 2150 रूपये प्रति Ïक्वटल का समर्थन मूल्य घोषित किया गया है। एमपी किसान एप, ई-उपार्जन एप तथा ई-उपार्जन कियोस्क सेंटर एवं लोक सेवा केन्द्र में जाकर किसान ऑनलाइन पंजीयन भी करा सकते हैं।  
अपर कलेक्टर ने बताया कि किसान पंजीयन कराने के लिये निकटतम खरीदी केन्द्रों में अपने समग्र आईडी नम्बर, आधार नम्बर, बैंक पासबुक के एकल खाता नम्बर की जानकारी के साथ आवेदन करें। जिस खेत में फसल बोयी गई है उसकी जानकारी के लिये खसरे की प्रति, ऋण पुस्तिका अथवा वनाधिकार पट्टे की छायाप्रति संलग्न करें। जो किसान दूसरे किसानों के स्वामित्व वाली जमीनों पर अनुबंध के आधार पर खेती करते हैं उन्हें भी समर्थन मूल्य पर खरीदी का लाभ दिया जायेगा। इसके लिये उन किसानों को निर्धारित प्रपत्र पर भूमि स्वामी के साथ अनुबंध करके उसकी छाया प्रति के साथ आवेदन करना होगा। किसान द्वारा जिस बैंक खाते मोबाइल नम्बर तथा समग्र आईडी नम्बर का उपयोग पंजीयन के लिये किया जायेगा उसका किसी दूसरे किसान के लिये उपयोग नहीं होगा। एक आईडी नम्बर पर केवल एक किसान का ही पंजीयन होगा। जिला आपूर्ति अधिकारी ने सभी किसानों से समर्थन मूल्य का लाभ लेने के लिये खरीदी केन्द्रों में पंजीयन कराने की अपील की है। 
क्रमांक-136-3054-तिवारी  
पालतू पशुओं के आवारा न छोड़े - पशुओं के कान में लगवायें टैग
रीवा 13 अक्टूबर 2020. नगर निगम क्षेत्र अंतर्गत पशु पालक अपने पालतू पशुओं के कान में टैग लगवायें तथा उन्हें आवारा न छोड़े। सड़क में आवारा पाये जाने पर नगर निगम द्वारा जुर्माना वसूल किया जावेगा तथा सड़क में दुर्घटना होने पर हर्जाना भी वसूल किया जावेगा। जिन पशुओं के कान में टैग नहीं लगे हैं उनमें टैग लगवाने हेतु नगर निगम कार्यालय अथवा चल पशु चिकित्सालय मानस भवन के सामने मोबाइल नंबर 9993864109 में संपर्क करें।
क्रमांक-137-3055-मिश्रा 
जिले के 3 स्थानों से कंटेनमेंट एरिया समाप्त 
रीवा 13 अक्टूबर 2020. कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट इलैयाराजा टी ने जिले के 3 स्थानों कंटेनमेंट एरिया समाप्त करने के आदेश दिये हैं। जारी अलग-अलग आदेशों के अनुसार तहसील सिरमौर के ग्राम खैरहन के वार्ड क्रमांक 13 में कमलेश कोल का घर, नगर परिषद त्योंथर के वार्ड क्रमांक 4 में महमदुल्ला के घर से अनवर अहमद के घर तक तथा तहसील सेमरिया के ग्राम खड्डा के वार्ड क्रमांक 15 में जय सिंह के घर से कंटेनमेंट एरिया समाप्त करने के आदेश दिये गये हैं। 
कलेक्टर ने अंतिम पुष्ट मामला मिलने के बाद लगातार दो सप्ताह तक लैब द्वारा कोविड-19 का कोई पुष्ट मामला नहीं मिलने पर 13 अक्टूबर की मध्य रात्रि से कंटेनमेंट एरिया समाप्त करने के आदेश जारी किये हैं। यह आदेश संबंधित क्षेत्र के इंसिडेंट कमाण्डर एवं एसडीएम तथा खण्ड चिकित्सा अधिकारी से प्राप्त प्रतिवेदन के आधार पर जारी किये गये हैं। 
क्रमांक-138-3056-तिवारी 
कोरोना संक्रमित मिलने पर जिले के 19 स्थानों में बनाये गये कंटेनमेंट क्षेत्र 
रीवा 13 अक्टूबर 2020. जिले के 19 स्थानों में कोरोना संक्रमित रोगी पाये जाने पर कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट इलैयाराजा टी ने कंटेनमेंट क्षेत्र बनाने के आदेश दिये हैं। जारी अलग-अलग आदेशों के अनुसार तहसील नईगढ़ी के ग्राम माड़ौ में रामजश जायसवाल के घर तथा ग्राम चंदेह में जयभान साकेत के घर, नगर परिषद मऊगंज के वार्ड क्रमांक 12 में दीपक तिवारी के घर तथा तहसील रायपुर कर्चुलियान के ग्राम खुझ के वार्ड क्रमांक 8 में उर्मिला सिंह के घर को कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित किया गया है। 
कलेक्टर ने तहसील हुजूर के ग्राम मड़वा के वार्ड क्रमांक 11 में बिहारी बंसल के घर, ग्राम टीकर में लोली साकेत के घर से बाबूलाल साकेत के घर तक, ग्राम बांसा में वार्ड क्रमांक 13 में संतोष रावत के घर, ग्राम नकटा के वार्ड क्रमांक 13 में नंदकिशोर अग्निहोत्री के घर, नगर परिषद गोविंदगढ़ के वार्ड क्रमांक 10 कैलाश नगर में दशरथ साकेत का घर, वार्ड क्रमांक 15 में रामसिया चिकवा का घर तथा इसी वार्ड में बृजेन्द्र साकेत के घर को कंटेनमेंट क्षेत्र घोषित किया गया है। तहसील हनुमना के ग्राम फूल बजरंग सिंह में नेहा विश्वकर्मा का घर, ग्राम दुगौली में अभिषेक द्विवेदी का घर, ग्राम पहाड़ी में वार्ड क्रमांक 7 में रोहिणी सिंह का घर तथा तहसील जवा के ग्राम गड़ेहरा वार्ड क्रमांक एक में जयराम यादव से छोटेलाल यादव के घर तक कंटेनमेंट एरिया बनाया गया है। 
कोरोना संक्रमित व्यक्ति पाये जाने पर तहसील त्योंथर के ग्राम सतपुरा वार्ड क्रमांक 5 में छोटेलाल के घर से मटुकधर आदिवासी के घर तक, तहसील सेमरिया के ग्राम मौहरा में ललिता साकेत के घर, इसी तहसील में ग्राम खम्हरिया चौबेन में ललिता आदिवासी के घर तथा सेमरिया तहसील के ही ग्राम लखनपुर में अजय प्रजापति के घर को कंटेनमेंट एरिया बनाया गया है। कंटेनमेंट एरिया में आवागमन पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा।
जारी आदेश के अनुसार घोषित किये गये कंटेनमेंट एरिया में निवास करने वाले सभी निवासियों को होम क्वारेंटाइन में रहना होगा। इन क्षेत्रों में स्वास्थ्य विभाग, राजस्व विभाग, पुलिस विभाग तथा आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति करने के लिए अधिकृत व्यक्तियों के अतिरिक्त सभी का प्रवेश वर्जित होगा। कंटेनमेंट एरिया में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, स्वास्थ्य कार्यकर्ता तथा अन्य स्थानीय कर्मचारियों के दल तैनात किये गये हैं। इनके द्वारा कंटेनमेंट क्षेत्रों के प्रत्येक घर में जाकर निर्धारित प्रपत्र में व्यक्तियों की जानकारी तैयार की जायेगी। जारी आदेश के अनुसार संबंधित क्षेत्र में कंटेनमेंट एरिया के लिए संबंधित एसडीएम कोे इंसिडेंट कमाण्डर बनाया गया है। इन्हें सहयोग देने के लिए राजस्व, पुलिस, स्वास्थ्य विभाग, जनपद पंचायत तथा लोक निर्माण विभाग के अधिकारी तैनात किये गये हैं। कलेक्टर ने कंटेनमेंट क्षेत्रों में निर्देशों तथा प्रतिबंधों का कठोरता से पालन कराने के निर्देश दिए हैं। 
क्रमांक-139-3057-तिवारी 
कोविड-19 अनुकूल व्यवहार परिवर्तन अभियान 30 नवम्बर तक 
रीवा 13 अक्टूबर 2020. लोक स्वास्थ्य परिवार कल्याण विभाग द्वारा निर्देश दिये गये हैं कि कोविड-19 संक्रमण के वायरस प्रसार को देखते हुए 30 नवम्बर तक सहयोग से सुरक्षा अभियान चलाया जा रहा है। इसकी थीम सावधानी में ही सुरक्षा है और पंचलाइन कोरोना से बचाव के लिए है जरूरी मास्क पहने, धोते रहे हाथ, रखे दो गज की दूरी। 
कलेक्टर इलैयाराजा टी ने बताया कि प्रदेश में कोविड-19 संक्रमण के प्रकरण लगातार पाये जा रहे हैं। कोरोना वायरस संक्रमण के खतरे के बीच आर्थिक गतिविधियां प्रारंभ की गयी हैं। आत्मनिर्भर भारत की संकल्पना प्रभावशील है। त्यौहार इत्यादि आने के कारण लोगों में मिलना-जुलना और एकत्रित होना प्रारंभ हो गया है। शीत ऋतु भी आने को है। जिसके कारण वातावरण का तापमान कम हो जाता है और वह वायरस प्रसार के लिए उपयुक्त होता है। ऐसे में विभिन्न विभागों के सहयोग से सुरक्षा अभियान 30 नवम्बर तक चलाया जायेगा। उन्होंने बताया कि जिला स्तर पर कोविड-19 अनुकूल व्यवहार परिवर्तन सघन अभियान की गतिविधियों को संचालित करने के लिए समस्त विभागों के प्रमुखों को नोडल अधिकारी बनाया गया है। स्वास्थ्य विभाग के डीएचओ-1 एवं विकासखण्ड स्तर पर खण्ड चिकित्सा अधिकारी को नोडल अधिकारी बनाया गया है। उन्होंने बताया कि कोविड-19 संक्रमण के लक्षण एवं बचाव की रोकथाम के प्रचार प्रसार की कार्ययोजना तैयार कर क्रियान्वित कराया जाय। 
कलेक्टर ने बताया कि कोविड-19 के नियंत्रण हेतु सघन प्रचार प्रसार अभियान को कोविड-19 अनुकूल व्यवहार परिवर्तन अभियान नाम दिया गया है। यह अभियान 30 नवम्बर तक संचालित किया जायेगा। उन्होंने बताया कि जब वायरस संक्रमण अपने शुरूआती दौर पर था तब लॉकडाउन घोषित किया गया था इसका मुख्य उद्देश्य लोग अपने घरों में रहें और सुरक्षित रहे। लेकिन अब अनलॉक के दौरान आत्मनिर्भर भारत की संकल्पना प्रभावशील है ऐसे में सावधानियों के साथ जीवन को सामान्य बनाना ही मुख्य संदेश है। अनलॉक का अर्थ यह नहीं है कि महामारी समाप्त हो गयी है। अब लोगों को कोरोना के लिए उपयुक्त व्यवहार करने की आवश्यकता है। हमें सभी सावधानियों का पालन करते हुए संक्रमण के प्रसार को रोकना होगा। संचार तंत्र का समुचित उपयोग कर संक्रमण से बचाव के उपायों के विषय में जनजागरूकता फैलानी होगी। जिन क्षेत्रों में अधिक कोरोना प्रकरण निकल रहे हैं वहां के लिए अलग तरह से संचार रणनीति तय करने की आवश्यकता है। सामाजिक और धार्मिक आयोजनों में जब लोगों की भीड़ इकट्ठा होती है तो वहां पर उन्हें संक्रमण से बचाव के लिए क्या सावधानियां अपनानी चाहिए यह बताना होगा। आवश्यक है कि अधिक से अधिक लोग आरोग्य सेतु एवं सार्थक लाइट एप डाउनलोड कर उसका उपयोग करें तथा उसकी सहायता से संक्रमण के विषय में आवश्यक सूचना प्राप्त करें। हम स्वास्थ्य को संतुलित बनाने वाले व्यवहारों को अपनाये, अपनी दिनचर्या ठीक रखें, सकारात्मक सोचें, संतुलित आहार ले, भरपूर नीद लें, और नकारात्मकता से बचें।उन्होंने बताया कि भारत सरकार द्वारा चिन्हित कोरोना संक्रमण रोकने संबंधी अनुकूल व्यवहार हैं- दूर से अभिवादन करें, किसी से हाथ न मिलाये न गले मिले, आपस में दो गज की दूरी रखे, घर से बाहर निकलने पर हमेशा मास्क पहने, बार-बार अपनी आंख, नाक और मुह को छूने से बचे, खासते और छीकते समय अपने मुह तथा नाक को ढककर रखें, बार-बार साबुन तथा पानी अथवा अल्कोहलयुक्त सेनेटाइजर से हाथों को धोऐ, सार्वजनिक स्थानों पर न थूके, तम्बाकू, गुटखा, खैनी, पानी आदि खाकर यहां वहां न थूके, बार-बार छूये जाने वाले सतहों को नियमित रूप से विसंक्रमित करें। अनावश्यक यात्रा से बचें, कोरोना को लेकर किसी से भेदभाव न करे। अनावश्यक भीडभाड़ एकत्रित न होने दे। अफवाहों पर ध्यान न दे और सोशल मीडिया पर किसी भी अपुष्ट जानकारी को प्रसारित न करें। सूचना के भरोसेमंद स्त्रोतों से ही जानकारी प्राप्त करें। कोरोना के विषय में जानकारी के लिए भारत सरकार अथवा प्रदेश शासन के टोल फ्री नंबर पर कॉल करें आपस में सभी एक दूसरे को मनोवैज्ञानिक रूप से सहयोग प्रदान करे। 
क्रमांक-140-3058-मिश्रा 
प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना सहायक है मत्स्य पालन करने में
रीवा 13 अक्टूबर 2020. मत्स्य पालन विभाग में अनुदान आधारित रोजगारमुखी प्रधानमंत्री मत्स्य संपदा योजना संचालित की जा रही है। मत्स्य पालन में रूचि रखने वाले व्यक्ति स्वयं की भूमि में तालाब निर्माण, मत्स्य बीज संवर्धन इकाई, सर्कुलर हैचिरी का निर्माण, बायोफलाक, आरएएस, एकीकृत रंगीन मत्स्य इकाई का व्यवसाय प्रारंभ कर सकते हैं।
सहायक संचालक मत्स्य पालन शिवेन्द्र सिंह ने बताया कि जलाशय में केज कल्चर, आईस प्लांट की स्थापना, इनसुलेटेड व्हीकल फिश फीड मील के इकाई की स्थापना की जा सकती है। कियोस्क सेंटर निर्माण के साथ-साथ मत्स्य पालन कार्य से संबद्ध मत्स्य पालक, समिति के सदस्यों के लिए मोटर साइकिल, आटो रिक्शा, (लोडर) एवं साइकिल आईस बाक्स क्रय करने पर विभाग द्वारा अनुदान राशि प्रदान की जाती है। उन्होंने बताया कि वित्तीय वर्ष 2021-22 के लिए योजनाओं का लाभ लेने के लिए इच्छुक व्यक्ति से आवेदन पत्र आवश्यक दस्तावेजों के साथ मगाये जा रहे हैं। प्राप्त आवेदनों का प्रस्ताव तैयार कर मत्स्योद्योग संचालनालय भोपाल भेजा जा रहा है। मत्स्य पालन का रोजगार शुरू करने वाले व्यक्ति विस्तृत जानकारी के लिए शिल्पी प्लाजा ए-ब्लाक में स्थित मत्स्य पालन विभाग में संपर्क करें। 
क्रमांक-141-3059-मिश्रा
मुख्यमंत्री श्री चौहान ने 145 नवनिर्मित शैक्षिक भवनों का किया वर्चुअल लोकार्पण 
रीवा 13 अक्टूबर 2020. मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान भोपाल स्थित मिंटो हॉल में आदिम जाति कल्याण विभाग और स्कूल शिक्षा विभाग के 497 करोड़ 70 लाख रूपये की लागत से नवनिर्मित 145 शैक्षिक भवनों का वर्चुअल लोकार्पण किया। लोकार्पण समारोह में  आदिम जाति कल्याण विभाग के 357 करोड़ 9 लाख रूपये लागत के 13 विशिष्ट आवासीय विद्यालयों (कन्या शिक्षा परिसरों) 4 करोड़ 63 लाख रूपये के 3 छात्रावास के नवीन भवनों और स्कूल शिक्षा विभाग के 135 करोड़ 98 लाख रूपये लागत के 129 हाई स्कूल एवं हायर सेकेण्डरी शाला भवनों का लोकार्पण किया गया। लोकार्पित होने वाली सभी शैक्षणिक अधोसंरचनाएँ चुनाव अप्रभावित जिलों की हैं। जिन जिलों में विधानसभा उप निर्वाचन है, वहां के निर्माण कार्य इस कार्यक्रम में शामिल नहीं हैं। 
आदिम जाति कल्याण विभाग के लोकार्पित होने वाले 13 कन्या शिक्षा परिसरों में जनजातीय वर्ग के 6 हजार 370 बालिकाओं और 3 छात्रावास भवनों में 150 छात्रों को बेहतर आवासीय सुविधा उपलब्ध हो सकेगी। स्कूल शिक्षा विभाग के नवनिर्मित 129 हाई एवं हायर सेकेण्डरी स्कूल 26 जिलों के अलग-अलग स्थानों पर निर्मित हैं। इन शाला भवनों के निर्माण से करीब 21 हजार विद्यार्थी लाभांवित होंगे। स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा इन शालाओं के लिये शीघ्र ही फर्नीचर की व्यवस्था भी की जा रही है। 
क्रमांक-142-3060-मिश्रा 
आठवीं तक की कक्षाएं 15 नवंबर तक बंद रहेंगी
रीवा 13 अक्टूबर 2020. नोवल कोरोना वायरस के संक्रमण से बचाव के लिये स्कूल शिक्षा विभाग द्वारा आदेश जारी किया गया है कि प्रदेश के समस्त स्कूलों में कक्षा एक से कक्षा आठवीं तक की कक्षाएं 15 नवंबर, 2020 तक पूर्णत: बंद रहेंगी। इसके साथ ही कक्षा 9 से 12वीं तक के सभी स्कूल आंशिक रूप से खुले रहेंगे। नियमित कक्षाओं का संचालन नहीं होगा एवं ऑनलाइन पठन-पाठन की गतिविधियाँ पूर्व की तरह जारी रहेंगी। सभी स्कूलों को स्वास्थ्य एवं सुरक्षा संबंधी एसओपी/गाइड लाइन का पालन करना अनिवार्य होगा। 
क्रमांक-143-3061-मिश्रा 
नगर परिषद डभौरा के वार्डों का आरक्षण 17 अक्टूबर को होगा

रीवा 13 अक्टूबर 2020. जिले की नवगठित नगर परिषद डभौरा के वार्डों के आरक्षण की कार्यवाही 17 अक्टूबर को संपन्न होगी। कलेक्टर इलैयाराजा टी ने वार्डों के आरक्षण की कार्यवाही के लिये संजीव कुमार पाण्डेय अनुविभागीय अधिकारी त्योंथर को प्राधिकृत अधिकारी नियुक्त किया है उनके सहयोगी अधिकारी नगर पालिका अधिकारी डभौरा होंगे। कलेक्ट्रेट भवन में आरक्षण की कार्यवाही दोपहर एक बजे से आरंभ होगा।
क्रमांक-144-3062-शुक्ल

No comments