Breaking News

बिहार के औरंगाबाद में छिटपुट घटनाओं को छोड़कर भयमुक्त शांति वातावरण में प्रथम चरण का मतदान संपन्न

BHARAT NEWS LIVE24बिहार के औरंगाबाद में छिटपुट घटनाओं को छोड़कर भयमुक्त शांति वातावरण में प्रथम चरण का मतदान संपन्न 

वरीय संवाददाता
 गया (मगध)-  मगध प्रमंडल के विभिन्न जिलों में छिटपुट घटनाओं को छोड़कर भयमुक्त एवं शांति वातावरण में प्रथम चरण का का मतदान पुलिस छावनी के बीच संपन्न हो गया l बताते चलें कि औरंगाबाद जिले के प्रथम चरण के मतदान सुबह से ही निर्धारित समय से प्रारंभ किया गया था l सभी मतदान केंद्रों पर  सीआरपीएफ एवं बीएसएफ के जवानों को शांति पूर्ण एवं भयमुक्त वातावरण में मतदान  कराने को लेकर तैनाती की गई थी l हालांकि औरंगाबाद के कई मतदान केंद्रों पर  ग्रामीणों ने सड़क नहीं तो वोट नहीं का नारा लगाते हुए विरोध जताया l  हालांकि स्थानीय प्रशासन काफी मतदान करने को लेकर ग्रामीणों को समझाते हुए प्रेरित करते हुए देखें गए l  परंतु ग्रामीण अपनी जिद पर अड़े हुए थे lग्रामीणों की बात सच मानी जाए तो कहना है कि  दलित के नाम पर जनप्रतिनिधि से लेकर स्थानीय लोग जनता को ठगी का शिकार बनाते रहे l लेकिन आज तक ना ग्रामीणों की तस्वीर बदली और ना ही विकास की किरने का रफ्तार  ही बढ़ा l आज स्थिति यह है कि  ग्रामीणों ने विरोध जताते हुए कहा कि सड़क नहीं तो वोट नहीं l का नारा लगाते हुए देखे गए l यह मामला रफीगंज विधानसभा क्षेत्र के घटराइन पंचायत के बड़का बिगहा आंगनवाड़ी केंद्र संख्या 321 पर ग्रामीणों ने  विरोध जताया  lऔरंगाबाद जिले के विभिन्न बिहार विधान सभा मतदान केंद्रों की बात की जाए तो गोह 54%, ओबरा 52%, नवीनगर 57. 14%, ,कुटुंबा 52%, औरंगाबाद48.4%, रफीगंज 54% पड़ने की संभावना व्यक्त की गई है l ऐसे तो भारत निर्वाचन आयोग  के दिशा निर्देश के आलोक में जिला निर्वाचित पदाधिकारी ने कड़ी सुरक्षा के बीच प्रथम चरण का मतदान कराया l वहीं दूसरी तरफ कोविड-19 को लेकर मतदान केंद्रों पर सोशल डिस्टेंस, सेनीटाइजर, ग्लव्स एवं माक्स लगाकर मतदाताओं को मताधिकार का प्रयोग करते देखा गया l ऐसे तो चप्पे-चप्पे  मतदान केंद्रों  एवं सड़क मार्गों पर  सीआरपीएफ एवं बीएसएफ के जवानों को तैनाती करते  एवं पेट्रोलिंग करते देखा गया l औरंगाबाद जिले के संपूर्ण उम्मीदवारों का भविष्य प्रथम चरण के मतदान होने के बाद सुरक्षित सुरक्षाकर्मियों  पदाधिकारियों की मौजूदगी में रखा गया है l अब देखना है कि आने वाले दिनों में उम्मीदवारों का परिणाम क्या  आता है यह तो आने वाला वक्त बताएगा लेकिन जिस प्रकार से जिला प्रशासन ने कड़ी सुरक्षा के बीच पुलिस छावनी में तब्दील करते हुए भयमुक्त शांतिपूर्ण मतदान कराया है जो काबिले तारीफ है l ऐसे तो  अति संवेदनशील मतदान केंद्रों पर 7:00 बजे से 3:00 बजे तक मतदान करने हेतु  निर्देशित किया गया था l वहीं अन्य स्थानों पर 5:00 बजे तक मतदान किया गया l सुबह के समय में मतदान केंद्रों पर महिला पुरुष मतदाताओं को कम  की संख्या में उपस्थित देखे गए वही समय जैसे-जैसे घटते जा रही थी वैसे वैसे मतदाताओं की संख्या मतदान केंद्रों पर बढ़ने लगा l नक्सली प्रभावित क्षेत्रों में भी महिलाओं , पुरुषों उत्साहित होकर लोकतंत्र के महापर्व को भयमुक्त वातावरण एवं शांति पूर्वक अपने मताधिकार का प्रयोग करते  रहे l औरंगाबाद के कुटुंबा विधानसभा क्षेत्र के टंडवा बेला खप्पर मंडा उत्क्रमित मध्य विद्यालय पूर्वी भाग पर महिला पुरुष  मतदाताओं को अपने मताधिकार का प्रयोग हर्षोल्लास के साथ करते देखा गया l

No comments