Breaking News

*चाचा भतीजे का एक और भ्रष्टाचार चाचा उपयंत्री तो भतीजा बना पंचायत का ठेकेदार*



*भ्रष्टाचार कि भेट चढ़ती ग्राम पंचायत मझिगवा सी ई ओ जनपद हनुमना देख रहे तमाशा आखिर कब तक होगा भ्रष्टाचार का अंत कब होगी कार्य वाही*

*उपयंत्री के भ्रष्टाचार देख हनुमना जनपद के अधिकारी पहुचे कोमा मे*


संभागीय हेड :- राजीव तिवारी 


हनुमना से बड़ी खबर*

सुनो भ्रष्टाचारियो तुम्हारे भ्रष्टाचार की कहानी हम लिखे गे न डरे है न डरे गे न झुके है न झुके गे 
हम एक ऐसे उपयंत्री कि कहानी लिख रहे है जो कि आज लॉखो मे खेल रहा
मध्य प्रदेश सरकार ग्रामीण विकास के चाहे जितने दावे करे पर वास्तव मे उन दावों की जमीनी हकीकत कुछ और है। सरकार ग्रामीण विकास के लिये लाखो करोडो रुपये का बजट पंचायतो को दे रही है जो भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ रहे हैं
मामला रीवा जिले के हनुमना जनपद अंतर्गत आने वाली ग्राम पंचायत मझिगवा का है जहां उपयंत्री सरपंच सचिव की मिलीभगत से पंचायत में लाखों का घोटाला कर,ग्रामीण विकास हेतु आई राशि का बंदर बांट कर लिया गया।
 उक्त पंचायत मझिगवा में पुलिया का निर्माण कार्य करवाया जा रहा जो कि महज कोरम पूर्ति कि जा रही क्यू कि जब चाचा उपयंत्री तो भतीजा ठेकेदार है जहा पुल कि नीव खोदने के बाद पुल का निर्माण होना था लेकिन हुया कुछ दूसरा नीव नही खोदी गई और पुल का निर्माण कार्य शुरू करवा दिया गया वो वजह ये थी कि उस मझिगवा ग्राम पंचायत का उपयंत्री कोई और नही बल्कि वही चाचा उपयंत्री है
जिसका भतीजा कागज पर वेंडर है और पंचायतो का ठेकेदार भी है एक ही दिन में लॉखो रुपयों का EPO हुये है इस भ्रष्टाचार मे सी ई ओ एस डी ओ सहित आलाअधिकारी सामिल है वर्ना इन अधिकारियो कि कृपा ना होती तो अब तक उपयंत्री चाचा और कागजो पर वेंडर बना भतीजा सलाखो के पीछे होते भ्रष्टाचार का यही हाल ग्राम पंचायत मे हुये पुल निर्माण कार्य से लेकर अन्य कार्यों का भी है।जितने भी कार्य हुये वे मात्र औपचारिकता के लिये किये गये और लाखो रुपये की राशि भ्रष्टाचार की भेंट चढ़ गई ।
              ग्रामीणों ने सरपंच के ऊपर आरोप लगाते हुए कहा कि सरपंच के द्वारा पीसीसी सड़क निर्माण कार्य सिर्फ दिखावे के लिए किया गया है जिस कारण से सड़क कुछ ही दिनों में पूरी तरह से नष्ट हो जाये गी।
अब देखना है ग्राम विकास के लिये आई लाखो रुपये की राशि हजम करने वाले हनुमना जनपद के मझिगवा ग्राम पंचायत एवं हाटा सी एफ टी के सबसे बड़े भ्रष्टाचारी पर नवागत तेज तर्राट आई ए एस, सी ई ओ स्वपनिल वानखेड़े शिकंजा कस पाते हैं या निचले स्तर के अधिकारियों की सांठगांठ से भ्रष्टाचारी सरपंच सचिव बच निकलते हैं।

No comments