Breaking News

सांस्कृतिक क्रांति के योद्धा थे लोक गायक बालेश्वर प्रसाद

BHARAT NEWS LIVE24  सांस्कृतिक क्रांति के योद्धा थे लोक गायक बालेश्वर प्रसाद


 शोक सभा में प्रो कृष्णा यादव ने कहा -आत्मा काल्पनिक

रिपोर्ट :विनोद विरोधी

 गया। मानववाद लोक गायक यश:कायी बालेश्वर प्रसाद के मरणोपरांत आज उनके पैतृक गांव बिच्छा में अर्जक संघ के तत्वाधान में शोकसभा का आयोजन किया गया । शोकसभा मुखिया पति रामाधीन यादव की अध्यक्षता में की गई ।सांस्कृतिक समिति के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष उपेंद्र पथिक ने कहा कि लोक गायक बालेश्वर प्रसाद सांस्कृतिक क्रांति के अप्रतिम योद्धा थे ।उन्होंने अपने जीवन काल में बिहार समेत अन्य राज्यों में पाखंड और अंधविश्वास के खिलाफ अलख जगाते रहे और सांस्कृतिक बदलाव के लिए आजीवन संघर्षरत रहे । इस अवसर पर मुख्य अतिथि के तौर पर गया कॉलेज गया के भूगोल विभाग के पूर्व  विभागाध्यक्ष प्रो राम कृष्णा प्रसाद यादव ने स्वर्ग -नरक ,आत्मा ,पुनर्जन्म पर कुठाराघात करते हुए कहा कि यह सारी तथ्य काल्पनिक है और झूठ फरेब पर आधारित व्यवस्था पर टिकी है ।इसे मिटा कर ही मानववाद की स्थापना की जा सकती है ।इस मौके पर पूर्व विधायक प्रो कृष्ण नंदन यादव, रामेश्वर यादव ,अर्जक संघ के प्रदेश महामंत्री राजेंद्र प्रसाद सिह अधिवक्ता ,डॉ राजकुमार बौद्ध ,के के बौद्ध ,प्रहलाद राय, रामकृष्ण प्रसाद शिक्षक ,अर्जक संघ के जिला मंत्री विनोद विरोधी, भुनेश्वर मेहता ,शीतल प्रसाद यादव ,श्रीधर बाबू ,देवनाथ ठाकुर, इंद्रण पासवान ,धर्मेंद्र कुशवाहा आदि ने भी अपने विचार प्रकट किए और बालेश्वर बाबू के प्रति अपनी श्रद्धांजलि अर्पित की। शोक सभा में यश:कायी बालेश्वर प्रसाद के पुत्र महर्षि कुमार ,आजाद कुमार एवं विकास बिंदु ने भी कहा कि अपने पिता के मार्गदर्शन के कारण अभाव में रहकर भी आज सरकारी सेवा में योगदान दे रहा हूं जिसे कभी नहीं भुलाया जा सकता। इस अवसर पर जादूगर स्वर्गीय सियाराम महतो ने जादू दिखा कर तंत्र मंत्र का भंडाफोड़ किया सभा का समापन नंदकिशोर प्रसाद ने किया। उल्लेखनीय है कि बालेश्वर प्रसाद के निधन उपरांत उनके परिवार वालों ने सिर मुंडन नहीं कराया और न ही किसी हिंदू परंपरा का निर्वहन किया।

No comments