Breaking News

BHARAT NEWS LIVE24 हाथरस कांड में पत्रकारों को रोकना? मतलब लोकतंत्र की आवाज को दबाना है? :आलोक कुमार।

BHARAT NEWS LIVE24हाथरस कांड में पत्रकारों को रोकना?  मतलब लोकतंत्र की आवाज को दबाना है? - आलोक कुमार।   

                                ब्यूरो चीफ: अजय कुमार पाण्डेय औरंगाबाद: ( बिहार ) भ्रष्टाचार संघर्ष प्रतिरोध मोर्चा बिहार -  झारखंड सांगठनिक राज्य कमेटी सचिव आलोक कुमार ने प्रेस विज्ञप्ति जारी करते हुए कहा है कि उत्तर प्रदेश राज्य अंतर्गत हाथरस में एक दलित लड़की के साथ गैंगरेप के बाद मृत्यु हो गई! लेकिन राज्य सरकार और यू0पी0 पुलिस की निरंकुशता एवं दरिंदगी के बाद हाथरस गांव में पत्रकारों को पुलिस प्रशासन द्वारा हाथरस गांव में जाने से रोके जाने के बाद हमारी कमेटी ने गंभीर चिंता व्यक्त की है! भ्रष्टाचार प्रतिरोध संघर्ष मोर्चा कमेटी सचिव एवं प्रगतिशील बुद्धिजीवियों ने चिंता व्यक्त करते हुए कहा है कि पत्रकारों को रोककर यू0पी0 सरकार एवं पुलिस प्रशासन लोकतंत्र की आवाज को दबाना चाह रही है! इसके अलावे कमेटी सचिव एवं प्रगतिशील बुद्धिजीवियों ने कहा है कि एक महिला पत्रकार ने हाथरस में पीड़ित परिवार से किसी प्रकार मिलकर उनके दर्द को पूरे देश में दिखाने का जो काम किया है! धन्यवाद के पात्र हैं! भ्रष्टाचार प्रतिरोध संघर्ष मोर्चा सचिव ने जारी प्रेस विज्ञप्ति में कहा है कि देश के सभी पत्रकारों को अपनी कलम की धार एवं आवाज को बुलंद करने तथा पारदर्शिता के साथ देश के कोने -  कोने में सच्चाई को उजागर करने के लिए उम्मीद रखता है! कमेटी सचिव ने कहा है कि हाथरस एवं बलरामपुर, दिल्ली जैसे घटना बिहार के सुदूर ग्रामीण क्षेत्रों में भी आए दिन घट रही है और उन घटनाओं को पुलिस तथा वोट बाज एवं घटिया ग्रामीण राजनीतिक करने वाले लोग पीड़िता को न्याय, इंसाफ दिलाने के बजाय मामला को रफा-दफा करने एवं दोषियों को बचाने के लिए अनेकों प्रकार के रचना रचकर ताना-बाना बुन रहे हैं! जो बेहद ही शर्मनाक है!

No comments