Breaking News

रीवा में नवनिर्मित सुपरस्पेशलिटी हॉस्पिटल का लोकार्पण कर उपस्थित जनसमूह के साथ विचार साझा किया। 






सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में सभी महत्वपूर्ण चिकित्सा सुविधाएँ हैं। रीवा चिकित्सा का एक महत्वपूर्ण केंद्र बनकर उभरेगा।
बाण सागर परियोजना से विंध्य की लगभग 3 लाख एकड़ ज़मीन में सिंचाई संभव होगी। अब आने वाले कुछ वर्षों में अकेला विंध्य ही पूरे पंजाब को कृषि उत्पादन में पीछे छोड़ देगा। नवनिर्मित सुपर स्पेशियलिटी अस्पताल में सभी महत्वपूर्ण चिकित्सा सुविधाएँ उपलब्ध कराई जायेंगी। रीवा चिकित्सा का एक केंद्र बनकर उभरेगा। 

हमने प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी जी के जन्म सप्ताह को गरीब कल्याण सेवा सप्ताह के रूप में मनाया। हमने 37 लाख गरीब लोगों को राशन उपलब्ध कराया। स्ट्रीट वेंडर्स के सशक्तिकरण के लिए बिना ब्याज के रु. 10,000 का ऋण दिया। हमने किसानों को भी अनेक लाभ दिये। प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि के अंतर्गत किसानों को रु. 6,000 दिए जाते हैं। हमने तय किया कि राज्य सरकार भी रु. 4,000 किसानों को देगी। इस तरह कुल मिलाकर प्रदेश किसानों को साल भर में रु. 10,000 की मदद मिल जाएगी। 

रीवावासियों, आने वाले 3 साल में किसी को हैंडपंप से पानी नहीं निकालना पड़ेगा। मैं पाइपलाइन डलवा कर सभी को नल से जल उपलब्ध कराऊंगा। रीवा के विकास में हम कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। यह इंदौर और भोपाल के समकक्ष ही नहीं, बल्कि विकास में इन शहरों से आगे होगा। हम सम्पूर्ण मध्यप्रदेश के विकास और जनता के कल्याण के लिए वचनबद्ध हैं।

1 comment:

  1. अरे मामाजी बेहतर कार्यों के लिए किसी के साथ तुलना नहीं की जानी चाहिए बल्कि उदाहरण के तौर पर एक नया मिशाल पेश करने जरूरत है ,यहां पर आपने इंदौर तथा भोपाल का नाम रीवा से तुच्छ बताने में संज्ञान में लाया जो की नकारात्मकता को परिलक्षित करता हुआ प्रतीत होता है जबकि आपको इस प्रदेश के बतौर मुखिया के रूप में पूरे प्रदेश को उच्च आकांक्षाओं और सर्वसंपन्नता की दृष्टि से पोषित करना चाहिए,जो न केवल किसी क्षेत्र विशेष को इंगित करता हो।क्योंकि इस तरह के संबोधन से स्पष्ट रूप से यह परिलक्षित होता है कि आप अपनी राजनीतिक सत्ता की रोटी सेंकने का रहे है,इसमें वसुधैव कुटुंबकम् की भावना दृष्टिगोचर नहीं होता है।
    अतः आशा है कि आप मेरे इन कटाक्षों के माध्यम से प्रेरित होकर के आप अपने वक्तव्यों को उचित दिशा देंगे तथा आलोचनाओं के घेरे से मुक्त रखेंगे।

    Dhanyawad

    ReplyDelete