Breaking News

सशस्त्र सीमा बल की 29 वीं बटालियन का 16 वां स्थापना दिवस धूमधाम से मनाया गया

BHARAT NEWS LIVE24 सशस्त्र सीमा बल की 29 वीं बटालियन का 16 वां स्थापना दिवस धूमधाम से मनाया गया 

रिपोर्टः प्रकाश गुप्ता बिहार से
गया (बिहार)शहर बोधगया धनावां स्थित 29 वीं वाहिनी सशस्त्र सीमा बल का 16 वां स्थापना दिवस शनिवार को बड़े ही धूमधाम से मनाया गया। इस मौके पर सशस्त्र सीमा बल क्षेत्रीय मुख्यालय के उपमहानिरीक्षक सोमित जोशी, 29 वीं वाहिनी एसएसबी कमांडेंट राजेश कुमार सिंह,सशस्त्र सीमा बल के मुख्य रूप से रांची के 26 वीं वाहिनी कमांडेंट मनोज कुमार,16 वीं वाहिनी जमुई विनय कुमार सिंह, 35 वीं वाहिनी द्वितीय कमान अधिकारी दुमका सतीश कुमार,29 वीं वाहिनी एसएसबी कमांडेंट राजेश कुमार सिंह, डिप्टी कमांडेंट अरविंद कुमार, डिप्टी कमांडेंट राम कुमार, डिप्टी कमांडेंट कैलाश साक़िया, डिप्टी कमांडेंट ज्ञानेंद्र कुमार, डिप्टी कमांडेंट प्रेम पासवान, सहायक कमांडेंट रंजीत कुमार सिंह, सहायक कमांडेंट नागेश्वर दास, सहायक कमांडेंट रामवीर, सहायक कमांडेंट सोहेल आलम, सहायक कमांडेंट अभिषेक कुमार,निरीक्षक अनिल कुमार वर्मा सहित कई अधिकारी मौजूद थे। स्थापना दिवस के शुभ अवसर पर सांस्कृतिक कार्यक्रम का आयोजन किया गया। सशस्त्र सीमा बल के एएसआई पासंग लामा, एसआई मनदीप लामा हेमंत बरोट,कौशल देवका,प्रणब दास,सोनू आदि ने भी अपनी बेहतरीन प्रस्तुति कर आए हुए अतिथियों का मन मोह लिया। कार्यक्रम के पूर्व उप महानिरीक्षक को गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया।
इस मौके पर उपमहानिरीक्षक जोशी ने बताया कि 29 वीं वाहिनी ने भारत- नेपाल सीमा पर भी अच्छा कार्य किया तथा क्षेत्रक मुख्यालय गया के अंदर 5 वाहिनियों में से 29 वीं वाहिनी सबसे अच्छा कार्य कर रही है। उन्होंने आशा व्यक्त किया  कि आगे भी अच्छा कार्य करेगी। 29 वी वाहिनी सशस्त्र सीमा बल के कमांडेंट राजेश कुमार सिंह ने स्थापना दिवस के अवसर पर वाहिनी की परिचालन उपलब्धियों के बारे में विस्तारपूर्वक बताया। साथ ही साथ यह भी बताया कि वाहिनी बिहार के अतिसंवेदनशील क्षेत्र गया जिला के अलावा नवादा जिला अंतर्गत अपनी समस्त जिम्मेदारियों का सफलतापूर्वक निर्वाह कर रही है। आगे भी करती रहेगी। साथ ही राष्ट्र की उन्नति में योगदान करती रहेगी। इस अवसर पर उत्साहवर्धन के लिए खेल का भी आयोजन किया गया। सांस्कृतिक कार्यक्रम के जरिए आगत अतिथियों का भरपूर मनोरंजन किया गया। आज जहां जिले के नक्सल प्रभावित क्षेत्रों में रहने वाले लोग इस चुनाव के माहौल में संशय की स्थिति में रह रहे हैं, उन दुर्गम क्षेत्रों में एसएसबी के अधिकारी व जवान अपनी जान की बाजी लगा कर शांतिपूर्ण तरीके से निष्पक्ष मतदान कराने के लिए दिन रात सघन गश्त करते हुए नक्सलियों के गलत मंसूबों को ध्वस्त करने में जुटे हैं।

No comments