Breaking News

संभागीय जनसम्पर्क कार्यालय रीवा
मध्यप्रदेश शासन
समाचार
-----------
कलेक्टर ने अधिकारियों को मुख्यमंत्री जी के रीवा दौरे की तैयारियों के दिये निर्देश 
मुख्यमंत्री जी के दौरे की तैयारियों की कलेक्टर ने की समीक्षा 

राजीव तिवारी संभागीय हेड
BNL24NEWS


रीवा 24 सितम्बर 2020. प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान का 30 सितम्बर को रीवा जिले का एक दिवसीय प्रवास प्रस्तावित है। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने मुख्यमंत्री जी के दौरे की तैयारियों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि सभी अधिकारी सौंपे गये दायित्व के अनुसार मुख्यमंत्री जी के दौरे के लिये आवश्यक प्रबंध समय-सीमा में पूरे कर लें। इस संबंध में किसी तरह की कठिनाई होने पर तत्काल अवगत करायें। बैठक में कमिश्नर नगर निगम मृणाल मीणा, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शिवकुमार वर्मा, एडीएम श्रीमती इला तिवारी सहित सभी संबंधित अधिकारी उपस्थित रहे। 
बैठक में कलेक्टर ने कहा कि मुख्यमंत्री जी 30 सितम्बर को रीवा आयेंगे। मुख्यमंत्री जी सुपर स्पेशलिटी हास्पिटल का लोकार्पण करेंगे। समारोह में रीवा जिले में विभिन्न विभागों द्वारा पूरे किये गये निर्माण कार्यों का लोकार्पण एवं स्वीकृत कार्यों का शिलान्यास भी किया जायेगा। सभी अधिकारी लोकार्पित तथा शुभारंभ होने वाले निर्माण कार्यों की जानकारी जिला पंचायत में परियोजना अधिकारी संजय सिंह को उपलब्ध करा दें। भूमि पूजन में उन्हीं कार्यों को शामिल करें जिनके कार्य आदेश जारी हो गये हैं। कलेक्टर ने कहा कि आयुक्त नगर निगम कार्यक्रम स्थल में मास्क, सेनेटाइजर, पेयजल तथा साफ-सफाई की व्यवस्था करेंगे। कार्यक्रम स्थल में मास्क के बिना किसी व्यक्ति को प्रवेश नहीं दिया जायेगा। कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण विभाग समारोह स्थल में अन्य विभागों के सहयोग से मंच तथा बैरिकेडिंग की व्यवस्था करायें। 
कलेक्टर ने बैठक में कहा कि पुलिस अधीक्षक मुख्यमंत्री जी के दौरे के लिये यातायात तथा सुरक्षा के उचित प्रबंध करें। अधीक्षण यंत्री पूर्वी क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी समारोह स्थल में बिजली की निर्बाध आपूर्ति की व्यवस्था करें। कलेक्टर ने सुपर स्पेशलिटी हास्पिटल परिसर की साफ-सफाई कराने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने प्रभारी अधिकारी सुपर स्पेशलिटी हास्पिटल तथा मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी को अस्पतालों की व्यवस्थायें दुरूस्त रखने के निर्देश दिये। 
क्रमांक-285-2816-तिवारी-फोटो क्रमांक 01 संलग्न है।  

रीवा संभाग में अब तक 894.1 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज 

रीवा 24 सितम्बर 2020. रीवा संभाग में एक जून 2020 से अब तक कुल 894.1 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज की गयी है। संभाग में 24 सितम्बर को 19.6 मि.मी. वर्षा दर्ज की गयी। इस संबंध में उपायुक्त भू-अभिलेख केपी पाण्डेय ने बताया कि एक जून से अब तक रीवा जिले में 896.3 मि.मी., सतना जिले में 783 मि.मी., सीधी जिले में 856.5 मि.मी. तथा सिंगरौली जिले में 1040.9 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज की गयी है। गतवर्ष इसी अवधि में संभाग में 913 मि.मी. वर्षा दर्ज की गयी थी जिसमें रीवा जिले में 909.1 मि.मी., सतना में 886.2 मि.मी., सीधी में 845 मि.मी. तथा सिंगरौली जिले में 1011.9 मि.मी. वर्षा दर्ज की गयी थी।                       
क्रमांक-286-2817-तिवारी 
जन कल्याण की उपेक्षा करने वाले अधिकारियों की नौकरी सुरक्षित नहीं रहेगी – कलेक्टर 
कलेक्टर तथा एडीएम ने जवा तहसील में राजस्व कार्यों की समीक्षा की 
रीवा 24 सितम्बर 2020. कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी तथा एडीएम इला तिवारी ने जवा जनपद पंचायत सभागार में आयोजित बैठक में राजस्व कार्यों की समीक्षा की। विभिन्न तहसीलों में राजस्व कार्यों की समीक्षा के क्रम में यह बैठक आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर ने कहा कि एसडीएम, तहसीलदार तथा अन्य राजस्व अमला विभागीय कार्यों पर विशेष ध्यान दे। आम जनता की कठिनाईयों को दूर करने के लिए सकारात्मक दृष्टिकोण से प्रयास करे। शासन की कल्याणकारी योजनाओं तथा कार्यक्रमों का लाभ हर पात्र हितग्राही को मिलना सुनिश्चित करें। अन्य विभागों की सतत मॉनीटरिंग करते हुए जन कल्याण को सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए विभागीय कार्य सम्पादित करें। जन कल्याण की उपेक्षा करने वाले अधिकारियों तथा कर्मचारियों की नौकरी सुरक्षित नहीं रहेगी। 
कलेक्टर ने कहा कि राजस्व अधिकारियों को विभागीय कार्यों के संबंध में स्पष्ट निर्देश कई बार दिये गये हैं। इनका पालन सुनिश्चित करें। राजस्व प्रकरणों सीमांकन, बंटवारा, नामांतरण तथा अन्य प्रकरणों का समय पर सुनवाई करके निराकरण करें। लोक सेवा गारंटी योजना में शामिल सभी सेवाओं को समय पर हितग्राही को उपलब्ध करायें। तहसीलदार प्रत्येक मंगलवार पटवारियों की बैठक आयोजित करके उन्हें निर्धारित कार्य सौंपे तथा प्रकरणों के संबंध में प्रतिवेदन प्राप्त करके राजस्व प्रकरणों का ऑनलाइन निराकरण दर्ज करायें। कलेक्टर ने कहा कि जवा तहसील मेरे लिये बहुत महत्वपूर्ण है। मैं यहां हर माह आकर कार्यों की समीक्षा करूंगा। एसडीएम तथा तहसीलदार तहसील मुख्यालय की व्यवस्थाओं में सुधार एवं जवा कस्बे को व्यवस्थित बनाने के लिए तत्काल कदम उठायें। शासकीय भूमियों से कठोरता से अतिक्रमण हटाकर बाजार को व्यवस्थित करायें। 
बैठक में कलेक्टर ने नामांतरण, बंटवारा, सीमांकन, प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना तथा सीएम हेल्पलाइन के प्रकरणों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि किसान सम्मान योजना तथा मुख्यमंत्री किसान कल्याण निधि से पात्र सभी किसानों को 10 दिवस में अनिवार्य रूप से लाभान्वित करें। सभी पात्र किसानों के आवेदन पत्र समय-सीमा में ऑनलाइन दर्ज करायें। कलेक्टर ने नक्शा तरमीम में 76.6 प्रतिशत उपलब्धि पर पटवारी अदवा सरला जायसवाल तथा किसान सम्मान निधि में 82 प्रतिशत किसानों को लाभान्वित करने के लिये पटवारी खाझा अजय वर्मा की प्रशंसा की। कलेक्टर ने सीमांकन तथा अन्य प्रकरण कार्यवाही के लिये पटवारियों को उपलब्ध न कराने पर तत्कालीन रीडर देवेन्द्र पाण्डेय प्रभारी नजारत शाखा को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने के निर्देश दिये। कलेक्टर ने राजस्व निरीक्षक छोटेलाल कोल, पटवारी समयपाल कोल, पटवारी रमेश शर्मा तथा पटवारी मंधीर कोल के विरूद्ध भी कार्यवाही के निर्देश दिये। 
समीक्षा बैठक में तहसील कार्यालय द्वारा एक प्रकरण में मार्च 2020 में आदेश पारित होने के बाद भी पटवारी के पास प्रकरण देकर इंतलाबी न कराने की बात सामने आई। कलेक्टर ने एडीएम को प्रकरण की जांच कर दोषियों पर कार्यवाही के निर्देश दिये। कलेक्टर ने राजस्व प्रकरणों का निराकरण न करने तथा कार्यालय की अव्यवस्थाओं के लिये तहसीलदार बीएस मरावी एवं नायब तहसीलदार को कड़ी फटकार लगायी। बैठक में एडीएम श्रीमती तिवारी ने कहा कि मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के कम से कम 150 पात्र किसानों के आवेदन पत्र 25 सितम्बर तक हर पटवारी दर्ज करायें। डायवर्सन के पुराने तथा नये प्रकरण अनिवार्य रूप से पोर्टल पर दर्ज करें। सभी पटवारी नियमित रूप से तहसील कार्यालय से सम्पर्क करके अपने क्षेत्र के प्रकरण प्राप्त कर उनमें समय-सीमा में प्रतिवेदन दर्ज करायें। सीमांकन के निराकृत सभी प्रकरणों में तहसीलदार तत्काल आदेश पारित करें। बैठक में संयुक्त कलेक्टर एके झा, एसडीएम त्योंथर संजीव कुमार पाण्डेय, एएसएलआर आरके श्रीवास्तव, अन्य राजस्व अधिकारी तथा सभी पटवारी उपस्थित रहे। 
क्रमांक-287-2818-तिवारी-फोटो क्रमांक 02 संलग्न है। 
रीवा जिले में अब तक 896.3 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज

रीवा 24 सितम्बर 2020. रीवा जिले में पिछले दो दिनों से वर्षा का क्रम जारी है। जिले की अधिकांश तहसीलों में रूक-रूक कर हल्की से भारी वर्षा हो रही है। वर्षाकाल के अंतिम समय की यह वर्षा धान की फसल तथा आगामी फसल की बुआई के लिये लाभदायक है। उड़द, मूंग, सोयाबीन तथा अन्य दलहनी फसलों में इससे नुकसान हो सकता है।
रीवा जिले में एक जून से अब तक 896.3 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज की गई है। जिले में 24 सितम्बर को 36.9 मिमी औसत वर्षा दर्ज की गई है। इस दिन तहसील नईगढ़ी में 80 मिमी, जवा में 64 मि.मी., गुढ़ में 44 मि.मी. तथा मनगवां में 43 मि.मी. वर्षा दर्ज की गई। इस संबंध में अधीक्षक भू-अभिलेख ने बताया कि जिले में एक जून से अब तक तहसील रीवा हुजूर में 978 मि.मी., रायपुर कर्चुलियान में 701 मि.मी., गुढ़ में 938.6 मि.मी., सिरमौर में 1097.8 मि.मी. तथा तहसील त्योंथर में 804 मि.मी. वर्षा दर्ज की गई है। तहसील मऊगंज में 1073.8 मि.मी., हनुमना में 1166.8 मि.मी., सेमरिया में 508 मि.मी., मनगवां में 819 मि.मी., जवा में 896 मि.मी. तथा तहसील नईगढ़ी में 879.4 मि.मी. वर्षा दर्ज की गई है। 
गत वर्ष इसी अवधि में जिले में 909.1 मि.मी. औसत वर्षा दर्ज की गई थी जिसमें तहसील रीवा हुजूर में 1122.2 मि.मी., रायपुर कर्चुलियान में 705 मि.मी., गुढ़ में 990.5 मि.मी., सिरमौर में 1025.6 मि.मी. तथा तहसील त्योंथर में 809 मि.मी. वर्षा दर्ज की गई थी। तहसील मऊगंज में 989.2 मि.मी., हनुमना में 1074.9 मि.मी., सेमरिया में 770.2 मि.मी., मनगवां में 728 मि.मी., जवा में 976 मि.मी. तथा तहसील नईगढ़ी में 809.6 मि.मी. वर्षा दर्ज की गई थी। रीवा जिले की वार्षिक औसत वर्षा 1044.6 मि.मी. है।  
क्रमांक-288-2819-तिवारी
जिले के 16 स्थानों से कंटेनमेंट एरिया समाप्त 

रीवा 24 सितम्बर 2020. कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट इलैयाराजा टी ने जिले के 16 स्थानों से कंटेनमेंट एरिया समाप्त करने के आदेश दिये हैं। जारी अलग-अलग आदेशों के अनुसार तहसील नईगढ़ी के ग्राम अकौरी के वार्ड क्रमांक 2, तहसील हुजूर के ग्राम भटलो के वीरेन्द्र पाण्डेय का घर तथा ग्राम बैजनाथ में मनोज पाण्डेय के घर से राजेन्द्र पाण्डेय के घर तक, नगर परिषद नईगढ़ी के वार्ड क्रमांक 10, तहसील मनगवां के ग्राम बघेला, तहसील हुजूर में ग्राम इटौरा में राहुल मिश्रा के घर तथा ग्राम भिटवा में वार्ड क्रमांक 7 से कंटेनमेंट एरिया समाप्त किये गया है। कलेक्टर ने नगर परिषद त्योंथर के वार्ड क्रमांक 6 में एसडीएम आवास, तहसील गुढ़ के ग्राम चौड़ियार के वार्ड क्रमांक 6 में आरती कुशवाहा का घर, तहसील में हुजूर के ग्राम रौरा में बृजेश रावत का घर तथा नगर परिषद नईगढ़ी के वार्ड क्रमांक 9 से कंटेनमेंट एरिया समाप्त करने के आदेश दिये हैं। कलेक्टर ने तहसील हुजूर के ग्राम अमवा में दीपक पुरी के घर, अनुभाग त्योंथर के ग्राम इटांव के वार्ड क्रमांक 13 एवं 14 तथा इसी अनुभाग के ग्राम बरौली ठकुरान के वार्ड क्रमांक 6 में सीताशरण शुक्ला के घर, तहसील हुजूर के ग्राम रहट में जगदीश सिंह के घर से पुष्पेन्द्र सिंह के घर तक तथा तहसील गुढ़ के ग्राम करौदी में सीता पटेल के घर से कंटेनमेंट क्षेत्र समाप्त करने के आदेश दिये हैं। 
कलेक्टर ने अंतिम पुष्ट मामला मिलने के बाद लगातार दो सप्ताह तक लैब द्वारा कोविड-19 का कोई पुष्ट मामला नहीं मिलने पर 24 सितम्बर की मध्य रात्रि से कंटेनमेंट एरिया समाप्त करने के आदेश जारी किये हैं। यह आदेश संबंधित क्षेत्र के इंसिडेंट कमाण्डर एवं एसडीएम तथा खण्ड चिकित्सा अधिकारी से प्राप्त प्रतिवेदन के आधार पर जारी किये गये हैं। 
क्रमांक-289-2820-तिवारी    
कलेक्टर ने कोरोना संक्रमित रोगी मिलने पर 37 स्थानों में बनाये कंटेनमेंट क्षेत्र

रीवा 24 सितम्बर 2020. जिले के 37 विभिन्न स्थानों में कोरोना संक्रमित रोगी पाये जाने पर कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट इलैयाराजा टी ने कंटेनमेंट क्षेत्र बनाने के आदेश दिये हैं। जारी अलग-अलग आदेशों के अनुसार नगर निगम क्षेत्र रीवा के वार्ड क्रमांक 5 खेरी में बृजेन्द्र सिंह का घर, वार्ड क्रमांक 4 में रामनिवास तिवारी का घर, वार्ड क्रमांक 17 दीप काम्पलेक्स में गोपीनाथ गुप्ता का घर, वार्ड क्रमांक 20 रानीगंज में रिषभ जैन का घर तथा वार्ड क्रमांक 7 बोदाबाग में मकान नम्बर 7/810 को कंटेनमेंट एरिया बनाया गया है। रीवा नगर निगम क्षेत्र में ही वार्ड क्रमांक 18 पुलिस लाइन में रजनीश पटेल का घर, वार्ड क्रमांक 8 बोदाबाग में कृष्णकांत अग्निहोत्री का घर तथा इसी वार्ड में रावेन्द्र पाल का घर, वार्ड क्रमांक 10 में भारतेन्द्र मिश्रा का घर, वार्ड क्रमांक 24 में शुभम सिंह का मकान, वार्ड क्रमांक 43 कृष्णा नगर में जगदीश नामदेव का घर, वार्ड क्रमांक 27 में कविता सेन का घर, वार्ड क्रमांक 7 सिविल लाइन में राजेन्द्र कुमार वर्मा घर, वार्ड क्रमांक 43 में तीन स्थानों विद्यावती साहू, रोहित चतुर्वेदी तथा श्रेया ताम्रकार के घर एवं वार्ड क्रमांक 15 में अमन बहादुर तिवारी के घर को कंटेनमेंट एरिया बनाया गया है। 
 इसी प्रकार नगर निगम रीवा में ही वार्ड क्रमांक 28 में अर्जुन उपाध्याय का घर, वार्ड क्रमांक 10 में सरिता सिंह का घर, वार्ड क्रमांक 14 में महेन्द्र मिश्रा का घर, वार्ड क्रमांक 12 में देवेश मिश्रा का घर, वार्ड क्रमांक 10 अनंतपुर में रवि मिश्रा का घर, वार्ड क्रमांक 10 में ही लालमणि पाण्डेय का घर तथा वार्ड क्रमांक 10 कैलाशपुरी में ही सुरेश मिश्रा का घर, वार्ड क्रमांक 18 में ब्रम्हकुमारी आश्रम तथा वार्ड क्रमांक 4 शिल्पी कामता रेजीडेंसी में एके दास का घर एवं वार्ड क्रमांक 5 ढेकहा में ओपी शुक्ला के घर को कंटनेमेंट एरिया बनाया गया है। 
कलेक्टर ने कोरोना संक्रमित पाये जाने पर तहसील सेमरिया के ग्राम तिघरा के वार्ड क्रमांक 4 में उर्मिला द्विवेदी के मकान से रामनुज सेन के घर तक, नगर परिषद मऊगंज के वार्ड क्रमांक 8 में विद्याकांत द्विवेदी का घर, नगर परिषद गुढ़ के वार्ड क्रमांक 10 में गिरधारी विश्वकर्मा का घर तथा वार्ड क्रमांक 11 में मुकेश विश्वकर्मा का घर, तहसील रायपुर कर्चुलियान के ग्राम मनिकवार के वार्ड क्रमांक एक तथा नगर परिषद चाकघाट के वार्ड क्रमांक 8 में थाना चाकघाट के निरीक्षक आवास को कंटनेमेंट क्षेत्र बनाने के आदेश दिये हैं। कलेक्टर ने तहसील जवा के ग्राम बरौली ठकुरान के वार्ड क्रमांक 15 में बालकिशन भारती के मकान से रामपाल कोल के घर तक, नगर परिषद त्योंथर के वार्ड क्रमांक 6 में सीईओ जनपद पंचायत के आवास तथा नगर परिषद सेमरिया के वार्ड क्रमांक 8 में रामपाल सोनी के घर को कंटेनमेंट क्षेत्र बनाने के आदेश दिये हैं। कंटेनमेंट एरिया में आवागमन पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा।
जारी आदेश के अनुसार घोषित किये गये कंटेनमेंट एरिया में निवास करने वाले सभी निवासियों को होम क्वारेंटाइन में रहना होगा। इन क्षेत्रों में स्वास्थ्य विभाग, राजस्व विभाग, पुलिस विभाग तथा आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति करने के लिए अधिकृत व्यक्तियों के अतिरिक्त सभी का प्रवेश वर्जित होगा। कंटेनमेंट एरिया में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, स्वास्थ्य कार्यकर्ता तथा अन्य स्थानीय कर्मचारियों के दल तैनात किये गये हैं। इनके द्वारा कंटेनमेंट क्षेत्रों के प्रत्येक घर में जाकर निर्धारित प्रपत्र में व्यक्तियों की जानकारी तैयार की जायेगी। जारी आदेश के अनुसार संबंधित क्षेत्र में कंटेनमेंट एरिया के लिए संबंधित एसडीएम कोे इंसिडेंट कमाण्डर बनाया गया है। इन्हें सहयोग देने के लिए राजस्व, पुलिस, नगरीय निकाय, स्वास्थ्य विभाग, जनपद पंचायत तथा लोक निर्माण विभाग के अधिकारी तैनात किये गये हैं। कलेक्टर ने कंटेनमेंट क्षेत्रों में निर्देशों तथा प्रतिबंधों का कठोरता से पालन कराने के निर्देश दिए हैं। 
क्रमांक-290-2821-तिवारी 

मीडिया कार्यशाला में दी गई पोषण जागरूकता की जानकारी 
पोषण जागरूकता में मीडिया की भूमिका महत्वपूर्ण - श्रीमती पाण्डेय 

रीवा 24 सितम्बर 2020. पूरे जिले में सितम्बर माह को पोषण माह के रूप में मनाया जा रहा है। इसके तहत कलेक्ट्रेट सभागार में एक दिवसीय मीडिया कार्यशाला आयोजित की गई। कार्यशाला में जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास श्रीमती प्रतिभा पाण्डेय ने कहा कि पोषण जागरूकता में मीडिया की भूमिका महत्वपूर्ण है। घर में उपलब्ध पोषक पदार्थों के सही तरीके से उपयोग, स्वास्थ्य रक्षा तथा स्वच्छता पर ध्यान देने के लिए लोगों को प्रेरित करना आवश्यक है। मीडिया के सहयोग से ही हर व्यक्ति तक पोषण जागरूकता का संदेश पहुंचेगा। पोषण से जुड़ी समस्याएं केवल संसाधनों अथवा सुविधाओं की कमी से नहीं है। हमारी दिनचर्या, खानपान की आदत तथा स्वास्थ्य जागरूकता में कमी भी इसका बहुत बड़ा कारण है। लोगों को जागरूक करके इस कमी को दूर किया जा सकता है। 
कार्यशाला में श्रीमती पाण्डेय ने बताया कि रीवा जिले के स्वास्थ्य सूचकांकों तथा शिशुओं एवं महिलाओं के पोषण स्तर में सुधार के लिये वर्ष भर की कार्ययोजना बनाई गई है। अन्य विभागों तथा आम जनता के सहयोग से महिला एवं बाल विकास विभाग तथा स्वास्थ्य विभाग इस कार्ययोजना को मूर्त रूप देने का प्रयास कर रहा है। उन्होंने पोषण माह के कार्यक्रमों की जानकारी देते हुए बताया कि गर्भवती महिलाओं की समय पर स्वास्थ्य जांच न होना, शिशुओं का सम्पूर्ण टीकाकरण न होना, डायरिया, एनीमिया तथा स्वच्छता में कमी कुपोषण के प्रमुख कारण हैं। आंगनवाड़ी कार्यकर्ताओं तथा स्वास्थ्य कार्यकर्ताओं द्वारा शिशुओं एवं महिलाओं का नियमित टीकाकरण किया जाता है। डायरिया एवं एनीमिया को मिटाने के लिये भी कई प्रयास किये जा रहे हैं। 
कार्यशाला में जिला कार्यक्रम अधिकारी ने कुपोषण के प्रमुख कारणों तथा इन्हें दूर करने के उपायों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि पोषण माह में लोगों को जागरूक करने के लिए कई प्रतियोगिताएं आयोजित की जा रही हैं। पोषण तथा खाद्य पोस्टर प्रतियोगिता एवं निबंध प्रतियोगिता के लिये 25 सितम्बर तक आवेदन किया जा सकता है। केवल युवा पुरूषों के लिये आयोजित क्विज प्रतियोगिता के लिये 30 सितम्बर तक तथा वर्चुअल क्विज प्रतियोगिता के लिये 26 सितम्बर तक आवेदन किया जा सकता है। इसका आवेदन ध्र्ध्र्ध्र्.ठ्ठथ्र्द्धद्वद्यद्रठ्ठठ्ठद.दृद्धढ़ पर किया जा सकता है। कार्यशाला में मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एमएल गुप्ता ने शिशुओं के टीकाकरण तथा 28 सितम्बर से शुरू हो रहे पेट के कीड़े नष्ट करने के लिये घर-घर जाकर दवा खिलाने के अभियान की जानकारी दी। कार्यशाला में सहायक संचालक आशीष द्विवेदी तथा पिं्रट एवं इलेक्ट्रॉनिक मीडिया के प्रतिनिधि शामिल रहे। 
क्रमांक-291-2822-तिवारी-फोटो क्रमांक 03 संलग्न है।  

नगर निगम क्षेत्र में चल रहे निर्माण कार्यों की कलेक्टर आज करेंगे समीक्षा 

रीवा 24 सितम्बर 2020. रीवा नगर निगम क्षेत्र में चल रहे विभिन्न निर्माण कार्यों की कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी समीक्षा करेंगे। बैठक आज 25 सितम्बर को दोपहर एक बजे से कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित की जा रही है। बैठक में ओवर ब्रिज निर्माण, सीवर लाइन तथा गैस पाइपलाइन निर्माण, सड़क एवं नाली निर्माण सहित अन्य निर्माण कार्यों की समीक्षा की जायेगी। निर्माण कार्यों से जुड़े विभागों तथा निर्माण एजेंसियों तथा नगर निगम के अधिकारियों को उपस्थित रहने के निर्देश दिये गये हैं। 
क्रमांक-292-2823-शुक्ल    


सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के लोकार्पण की तैयारियाँ अंतिम चरण में 
मुख्यमंत्री करेंगे लोकार्पण 
पूर्व मंत्री एवं रीवा विधायक श्री राजेन्द्र शुक्ल ने वरिष्ठ 
प्रशासनिक अधिकारियों के साथ किया कार्यक्रम स्थल का निरीक्षण 

रीवा 24 सितम्बर 2020. प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान अपने रीवा प्रवास के दौरान सुपर स्पेशलिटी अस्पताल का लोकार्पण करेंगे। यह लोकार्पण कार्यक्रम 30 सितम्बर को प्रस्तावित है। लोकार्पण की तैयारियाँ अंतिम चरण में है। पूर्व मंत्री एवं रीवा विधायक श्री राजेन्द्र शुक्ल ने आज वरिष्ठ प्रशासनिक अधिकारियों के साथ कार्यक्रम स्थल का भ्रमण कर तैयारियों का जायजा लिया तथा आवश्यक दिशा निर्देश दिये। इस दौरान कमिश्नर रीवा संभाग राजेश कुमार जैन, कलेक्टर इलैयाराजा टी, आयुक्त नगर निगम मृणाल मीणा एवं विभागीय अधिकारी उपस्थित रहे। 
पूर्व मंत्री श्री शुक्ल ने सुपर स्पेशलिटी अस्पताल परिसर में आयोजित होने वाले लोकार्पण कार्यक्रम में मंच व्यवस्था, बैठक व्यवस्था एवं अन्य तैयारियों के विषय में विस्तार से जानकारी ली तथा आवश्यक मार्गदर्शन दिया। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री जी लोकार्पण के उपरांत सुपर स्पेशलिटी अस्पताल का भ्रमण करेंगे तदुपरांत परिसर में आयोजित कार्यक्रम में लोगों को संबोधित करेंगे। कोविड-19 के संक्रमण के कारण संपूर्ण कार्यक्रम में शासन द्वारा जारी दिशा निर्देशों का पालन सुनिश्चित करते हुए सभी विभागीय अधिकारियों को समय से सौंपे गये दायित्वों का निर्वहन करने के निर्देश दिये गये। श्री शुक्ल ने सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के पीछे से संजय गांधी अस्पताल व गांधी स्मारक चिकित्सालय को जोड़ने वाले आंतरिक मार्ग का निरीक्षण किया तथा परिसर में साफ-सफाई दुरूस्त करने तथा निर्माणधीन नाला को शीघ्र पूर्ण कर इसके ऊपर कवर लगाकर बंद करने के निर्देश दिये। 
भ्रमण के उपरांत पूर्व मंत्री श्री शुक्ल ने सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में बैठक लेकर लोकार्पण की अन्य तैयारियों तथा सुपर स्पेशलिटी अस्पताल में पदों की भर्ती प्रक्रिया की समीक्षा की। इस दौरान बताया गया कि विज्ञापित डॉक्टर्स के पदों हेतु 9 डॉक्टर्स के आवेदन प्राप्त हुए हैं जिनको भर्ती प्रक्रिया की औपचारिकता के उपरांत नियुक्ति दी जायेगी। इसी प्रकार पैरामेडिकल स्टाफ, टेक्नीशियन एवं नर्स के सभी पदों पर भी अक्टूबर माह के प्रथम सप्ताह तक भर्ती कर ली जायेगी। इस अवसर पर कमिश्नर रीवा संभाग राजेश कुमार जैन ने कहा कि रेडियो लाजिस्ट के पद के भी विज्ञापन जारी करायें ताकि इनकी भर्ती की जा सके। 
बैठक में रीवा विधायक श्री शुक्ल ने बताया कि सुपर स्पेशलिटी अस्पताल के पीछे 75 करोड़ रूपये की लागत से डॉक्टर्स व अन्य स्टाफ के लिये सर्वसुविधायुक्त आवास बनाये जाने की प्रक्रिया जारी है इसका शीघ्र ही टेण्डर होगा तदुपरांत कार्य प्रारंभ करा दिया जायेगा। उन्होंने कहा कि इन क्वार्टस के निर्माण से अस्पताल की अधोसंरचना की पूर्ति हो जायेगी तथा अस्पताल के स्टाफ को परिसर से लगे सर्वसुविधायुक्त  आवास मिलेंगे। 
कायाकल्प अभियान के तहत गांधी स्मारक चिकित्सालय में चल रहे पुर्नरूद्धार कार्य का पूर्व मंत्री ने निरीक्षण किया। उन्होंने मेटरनिटी वार्ड सहित पूरी मेटरनिटी विंग व पोस्टमेटरन वार्ड में कराये जा रहे कार्य को देखा। श्री शुक्ल ने निर्माण एजेंसी को निर्देश दिये कि पूरी गुणवता के साथ कार्य करायें। मेटरनिटी विंग के छत के पानी के सीपेज को रोकें तदुपरांत दीवार में नवीन प्लास्टर कर रंगरोगन करते हुए नया लुक दें। उन्होंने कहा कि सभी वार्ड दुरूस्त करायें जाय तथा जो जरूरी कार्य टेण्डर में छूट गये हैं उन्हें शामिल करते हुए पूर्ण गुणवत्ता के साथ कार्य करायें। आयुक्त रीवा संभाग श्री जैन ने कहा कि पीडब्ल्यूडी विभाग द्वारा कार्यों की मानीटरिंग की जायेगी तथा डॉक्टर्स से समन्वय स्थापित कर आवश्यक कार्य कराये जायेंगे। इस दौरान अपर कलेक्टर इला तिवारी, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक शिवकुमार वर्मा, डीन डॉ. मनोज इंदुलकर, अधीक्षक सुपर स्पेशलिटी अस्पताल डॉ. सुधाकर द्विवेदी, अधीक्षण यंत्री नगर निगम शैलेन्द्र शुक्ल, कार्यपालन यंत्री पीडब्ल्यूडी नरेन्द्र शर्मा सहित चिकित्सक, विभागीय अधिकारी तथा निर्माण एजेंसी के प्रतिनिधि उपस्थित रहे। 
क्रमांक-293-2824-शुक्ल-फोटो क्रमांक 04, 05, 06 संलग्न हैं।

कलेक्टर आज करेंगे समूह जल योजना की समीक्षा  

रीवा 24 सितम्बर 2020. कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी आज 25 सितम्बर को दोपहर 12 बजे से कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित बैठक में जल निगम द्वारा बनायी जा रही समूह जल योजनाओं की समीक्षा करेंगे। बैठक में कदैला समूह जल योजना की समीक्षा की जायेगी। सभी संबंधित अधिकारियों को बैठक में उपस्थित रहने के निर्देश दिये गये हैं। 
क्रमांक-294-2825-शुक्ल  

मुख्यमंत्री ने ग्रामीण पथ विक्रेताओं को ऋण योजना को प्रमाण पत्र वितरित किये 
जिले के 425 पथ विक्रेताओं को ऋण वितरित 

रीवा 24 सितम्बर 2020. गरीब कल्याण सप्ताह के अन्तर्गत आज प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने ग्रामीण पथ विक्रेताओं को ऋण योजना के प्रमाण पत्र वितरित किये। भोपाल से आयोजित वर्चुअल कार्यक्रम को जिला मुख्यालय सहित सभी जनपद पंचायत स्तर में भी देखा गया। मुख्यमंत्री ने ग्रामीण पथ विक्रेताओं से संवाद भी स्थापित किया। भोपाल में आयोजित मुख्य कार्यक्रम में पंचायत एवं ग्रामीण विकास राज्य मंत्री रामखेलावन पटेल उपस्थित रहे। रीवा स्थित एनआईसी में जिले के पथ विक्रेताओं को ऋण प्रमाण पत्र प्रदान किये गये। 
कार्यक्रम में अपने उद्बोधन में मुख्यमंत्री श्री चौहान ने कहा कि स्ट्रीट वेण्डर को प्रदाय किये गये ऋण का ब्याज सरकार भरेगी तथा इन्हें पहचान पत्र दिये जायेंगे। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने शहरी पथ विक्रेताओं के लिये पीएम निधि योजना शुरू की। इसलिए प्रदेश सरकार ने शहरी पथ विक्रेताओं के साथ ग्रामीण पथ विक्रेताओं के लिये भी योजना बनाई जिसमें ग्रामीण स्ट्रीट वेण्डर दस हजार रूपये का ऋण लाभ लेंगे। उनका करोबार सुधरेगा तथा वह भी सम्मान की जिंदगी जी सकेंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि पथ विक्रेताओं के साथ मिलकर स्ट्रीट को साफ सुथरा रखने के लिये कॉपरेटिव स्ट्रीट मैनेजमेंट को बढ़ावा दिया जायेगा। उन्होंने भरोसा दिलया कि हर जरूरतमंद को दस हजार रूपये की मदद मिलेगी तथा सरकार ब्याज भरेगी। श्री चौहान ने कहा कि शहरी व ग्रामीण क्षेत्र में सभी पथ विक्रेताओं को अपना धंधा करने का अधिकार है, आजीविका का अधिकार सबका अधिकार है इसलिए इनकी जिंदगी को कठिन नहीं बनने दिया जायेगा तथा इनके व्यवसाय में बाधा डालने वालों के विरूद्ध कार्यवाही भी होगी। 
रीवा स्थित एमआईसी में जिला पंचायत उपाध्यक्ष श्रीमती विभा पटेल तथा जिला पंचायत के सीईओ स्वप्निल वानखेड़े ने ग्रामीण पथ विक्रेताओं को ऋण प्रमाण पत्र वितरित किये। जिला प्रबंधक एनआरएलएम अजय सिंह ने बताया कि रीवा जिले में 425 लाभार्थियों को ऋण वितरित किया गया है। 6437 प्राप्त आवेदनों में से बैंक द्वारा 552 प्रकरण स्वीकृत किये गये हैं। इस दौरान एलडीएम रश्मेन्द्र सक्सेना सहित जितेन्द्र सिंह, अमित मिश्रा, इदरीश खान तथा विभागीय अधिकारी व ग्रामीण पथ विक्रेताओं रहे।
क्रमांक-295-2826-शुक्ल-फोटो क्रमांक 07, 08, 09 संलग्न हैं। 


डीएलसीसी की बैठक 29 सितम्बर को आयोजित होगी

          रीवा 24 सितम्बर 2020. कलेक्टर इलैयाराजा टी की अध्यक्षता में जिला स्तरीय सलाहकार समिति (डीएलसीसी) की बैठक 29 सितम्बर को आयोजित होगी। उपरोक्त बैठक कलेक्ट्रेट के मोहन सभागार में अपरान्ह 3 बजे आयोजित होगी। बैठक में जून 20 समाप्त तिमाही की प्रगति की समीक्षा की जायेगी। अग्रणी जिला प्रबंधक रश्मेन्द्र सक्सेना ने बताया कि बैठक में समस्त बैंकर्स एवं जिला अधिकारी उपस्थित रहेंगे। 
क्रमांक-296-2827-मिश्रा
विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा कोरोना जागरूकता अभियान आयोजित 

रीवा 24 सितम्बर 2020. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार एवं जिला एवं सत्र न्यायाधीश अरूण कुमार सिंह के मार्गदर्शन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा देश में कोविड-19 के प्रकरणों में देखते हुए इसके संक्रमण से बचाव एवं जागरूकता के लिए शासन की गाइडलाइन व सोशल डिस्टेंसिंग का का पालन करते हुए जिला विधिक सेवा प्राधिकरण के सचिव विपिन कुमार लवानिया द्वारा न्यायालय परिसर में कोरोना जागरूकता अभियान आयोजित किया गया। इस दौरान जरूरतमंदों को मास्क भी वितरित किये गये। कार्यक्रम में अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश सुधीर सिंह राठौड़ महेन्द्र कुमार उईके सहित न्यायाधीश उपस्थित थे। 
जिला विधिक सहायता अधिकारी अभय कुमार मिश्रा ने बताया कि न्यायालय परिसर में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण एवं गैर सरकारी संगठनों के संयोजन में जिला न्यायालय परिसर में जागरूकता अभियान चलाकर मास्क लगाने एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने की समझाइश दी गयी। विपिन कुमार लवानिया ने कहा कि कोरोना से डरने की आवश्यकता नहीं है। बल्कि सावधानी बरतने की आवश्यकता है। हम सबको शासन की गाइडलाइन का पालन करते हुए कोरोना से जंग लड़नी है। अपर जिला न्यायाधीश सुधीर कुमार राठौड़ ने कहा कि समस्त अधिवक्ताओं को अपने पक्षकारों से मास्क पहनकर एवं सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए ही मुलाकात करनी चाहिए। सेनेटाइजर या हैण्डवास से हाथ धोते रहे। श्री राठौड़ ने अनेक जरूरतमंदों को मास्क वितरित किये। स्वयंसेवी संगठन साईन अंजली समिति लायंस क्लब की अध्यक्ष श्रीमती अनुराधा श्रीवास्तव, जन अभियान परिषद के अमिताभ श्रीवास्तव, कल्पना चावला समिति के व्हीपी सिंह, बाल कल्याण समिति के विक्रांत द्विवेदी का कोरोना जागरूकता अभियान में महत्वपूर्ण योगदान रहा ।
क्रमांक-297-2828-मिश्रा

बस संचालकों का एक अप्रैल से 31 अगस्त तक का मासिक वाहन कर पूर्णत: माफ 
सितम्बर माह का 50 प्रतिशत कर 30 सितम्बर तक कर सकेंगे जमा 

रीवा 24 सितम्बर 2020. बस संचालकों का एक अप्रैल से 31 अगस्त 2020 तक का मासिक वाहन कर पूर्णत: माफ कर दिया गया है। माह सितम्बर के मासिक वाहन कर में भी 50 प्रतिशत की छूट दी गई है और उक्त 50 प्रतिशत कर जमा करने की तिथि 30 सितम्बर 2020 तक बढ़ाई गई है। इस संबंध में कराधान अधिकारी, क्षेत्रीय परिवहन कार्यालय, भोपाल द्वारा आदेश जारी किए गए है। 
उल्लेखनीय है कि बस संचालकों की मांग पर मुख्यमंत्री जी द्वारा घोषणा की गई थी कि एक अप्रैल से 31 अगस्त के मध्य बस संचालकों का कर पूर्णत: माफ किया जायेगा और सितम्बर माह का कर भी 50 प्रतिशत लिया जायेगा। 
क्रमांक-298-2829-मिश्रा 
विपदाग्रस्त महिलाओं एवं बालिकाओं को रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण देने हेतु आवेदन आमंत्रित

     रीवा 24 सितम्बर 2020. मुख्यमंत्री महिला सशक्तिकरण योजनान्तर्गत कठिन परिस्थितियों में निवास कर रही महिलाओं के पुनर्वास एवं आर्थिक निर्भरता को बढ़ावा देने के लिये विभिन्न विद्याओं में रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण दिलाया जाता है। महिला एवं बाल विकास विभाग की जिला कार्यक्रम अधिकारी श्रीमती प्रतिभा पाण्डेय ने बताया कि ऐसी विपत्तिग्रस्त महिलायें जिनके परिवार में कोई न हो, बलात्कार से पीड़ित महिला या बालिक, र्दुव्यापार से बचाई गयी महिलायें जो गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करती है, एसिड विक्टिम, दहेज प्रताड़ित, अग्निपीड़ित महिलायें, कुंआरी मातायें या सामाजिक कुप्रथा का शिकार महिलायें, जेल से रिहा महिलायें, परित्यक्ता, तलाकशुदा महिलाये जो गरीबी रेखा के नीचे जीवन यापन करती हो, आश्रय गृह, अनुरक्षण गृह में निवासरत विपत्तिग्रस्त बालिका, जो रोजगारोन्मुखी प्रशिक्षण लेना चाहती है आवेदन कर सकती हैं। 
         जिला कार्यक्रम अधिकारी ने बताया कि महिला मानसिक रूप से विक्षिप्त न हो, सामान्य वर्ग की महिला की उम्र 45 वर्ष से अधिक न हो। परित्यक्ता, तलाकशुदा, विधवा, एससीएसटी, पिछड़ावर्ग की महिला होने की स्थिति में 50 वर्ष हो। प्रशिक्षण पाठ्यक्रम के अनुसार न्यूनतम शैक्षणिक योग्यता हो। चयनित विपत्तिग्रस्त महिलाओं को निर्धारित विभिन्न विषयों पर मान्यता प्राप्त संस्थाओं से प्रशिक्षण दिलाया जायेगा। प्रशिक्षण के लिये इच्छुक महिलाये आवेदन पत्र प्राप्त करने एवं विस्तृत जानकारी के लिये कलेक्ट्रेट स्थित महिला एवं बाल विकास विभाग में संपर्क करें। 
क्रमांक-299-2830-मिश्रा
खुशियों की दास्तां 
------------------------
खेती के लिये ब्याज मुक्त ऋण मिलने से खिले किसानों के चेहरे 

रीवा 24 सितम्बर 2020. मध्यप्रदेश सरकार किसानों की आय को दुगना करने के लिये लगातार प्रयास कर रही है। किसानों के कल्याण के लिये अनेक योजनायें लागू की गई हैं। गरीब कल्याण सप्ताह में जिले के 13 हजार से अधिक किसानों को 20 करोड़ रूपये से अधिक की शून्य प्रतिशत ब्याज की ऋण राशि वितरित की गई है। कलेक्ट्रेट सभागार में आयोजित समारोह में किसानों को समारोह पूर्वक किसान क्रेडिट कार्ड की ऋण राशि का वितरण किया गया। खेती के लिये ब्याजमुक्त ऋण मिलने से किसानों के चेहरे खिल उठे। 
प्रधानमंत्री किसान क्रेडिट कार्ड योजना से जिले के गुढ़ तहसील के ग्राम हरदुआ के किसान सुखेन्द्र तिवारी को एक लाख 30 हजार 863 रूपये का ब्याज मुक्त ऋण प्राप्त हुआ है। उन्हें यह ऋण सेवा सहकारी समिति गुढ़ से प्राप्त हुआ है। लाभान्वित किसान श्री तिवारी ने बताया कि पर्याप्त राशि मिल जाने के कारण आगामी फसल के लिये उन्हें समय पर खाद, बीज तथा आवश्यक कृषि उपकरण उलब्ध हो जायेंगे। इससे वे समय पर अपने खेतों की बोनी कर सकेंगे। सहकारी समिति से मिले केसीसी ऋण में कोई ब्याज भी नहीं देना होगा। आगामी फसल आने पर मूलधन चुकाने के बाद पुन: केसीसी की राशि मिल जायेगी। अब खेती को आधुनिक बनाने का प्रयास करेंगे। 
लाभान्वित किसान मुमताज खान निवासी गुढ़ को सेवा सहकारी समिति गुढ़ से 36 हजार 873 रूपये का ऋण मिला है। उन्होंने ब्याज मुक्त ऋण देने के लिए मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान तथा मध्यप्रदेश सरकार के प्रति आभार व्यक्त किया है। इसी तरह जिले भर में लाभान्वित किसानों ने किसान क्रेडिट कार्ड से प्राप्त ऋण राशि से अपनी खेती, पशुपालन एवं मछली पालन को बेहतर करने का संकल्प लिया है। 
क्रमांक-300-2831-तिवारी-फोटो क्रमांक 10, 11 संलग्न हैं।

No comments