Breaking News

सपाक्स समाज(गैर राजनीतिक संगठन) ने मृत्युंजय मिश्रा के जिला निष्कासनं के विरोध मे जिला कलेक्टर के नांम सौपा झापनं


**सपाक्स समाज(गैर राजनीतिक संगठन) ने मृत्युंजय मिश्रा के जिला निष्कासनं के विरोध मे जिला कलेक्टर के नांम सौपा झापनं* 

सम्भागीय हेड :- राजीव तिवारी की रिपोर्ट✍🏿

 सीधी, :- सपाक्स समाज के जिला कार्यकारिणी अध्यक्ष  शैलेंद्र पटेल के नेतृत्व में सपाक्स समांज के जिला संयोजक वृजेन्द सिंह के साथ अन्य सपाक्स समाज कार्यकर्ताओं सहित मृत्युंजय मिश्रा को आदतनं अपराधी बता कर जिला से बाहर कर दिया गया। जबकि सत्य यह है कि मृत्युंजय मिश्रा कोई अपराधी नंही है।  यह समंस्त  जिला जानंता कि आरक्षण आंदोलन का शीर्ष नेतृत्वकर्ता  थे। जिसमें सभी संगठनों ने साथ दिया था ।लेकिन मुख्यमंत्री शिवराज सिंह जी द्वारा अभद्रता भारा बयानं दिया गया था कि कोई माई का लाल आरक्षण खत्मं नंही कर सकता।  इस बयानं की आलोचना प्रदेश ही नहीं बल्कि पूरे देश में हुई । और इसी माई के लाल वाले बयानं का विरोध मृत्युंजय मिश्रा और अन्य आंदोलनकारीयों के द्वारा खुले मंच मे खुला विरोधी किया गया ।जहां मांन्नीय शिवराज सिंह जी भी मौजूद थे। और वही पुलिस ने इन्हे और इनके साथियों को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया। और और जिला मजिस्ट्रेट के यहा केश चल रहा था जो कि अभी केश की सम्पूर्ण प्रकिया भी पूरी नंही हो पाई थी। और जब कमलनाथ सरकार के बाद शिवराज सिंह ने फिर से मुख्यमंत्री पद संभाला तो मृत्युंजय मिश्रा को आदतन अपराधी बताते हुए जिला मजिस्ट्रेट ने सरकार के दबाव में जिले से निष्कासित कर दिया । 
 जो कि पूर्णता गलत है क्योंकि संविधान हमें सरकार अनुचित कार्यों का विरोध करने का हक देता है ।  प्रशासन चाहे तो आम जनता से सर्वे करवा ले इस तरह से बिना किसी अपराध के किसी को आदतन अपराधी  का नाम  देना तथा जिले से निष्कासित करना पूर्णता गलत है । इसलिए शासन प्रशासन फिर से एक बार इस मामले में विचार करे और मृत्युन्जय मिश्रा के जिला बदल को खारिज किया जाय। अगर ऐसा नंही होता तो मृत्युंजय मिश्रा के साथ हुऐ अन्याय के खिलाफ पूरे प्रदेश में सपाक्स समांज आंदोलन करनें को मंजबूर हो जायेगी। इस दौरान विन्ध्य क्रांती मंच के सुजीत पाण्डे,अनीत तिवारी रुद्र सेना जिलाध्यक्ष सत्यम द्विवेदी तथा अन्य कार्यकर्ता मजूद रहें।

No comments