Breaking News

पेंटिंग आर्ट्स कलाकार अजय विश्वकर्मा ने भगवान विश्वकर्मा की चित्र बनाकर किया पूजा अर्चना



विश्वनाथ आनंद
  गया( मगध)- पेंटिंग आर्ट्स कलाकार अजय विश्वकर्मा ने भगवान विश्वकर्मा की चित्र बनाकर विश्वकर्मा पूजा के शुभ अवसर पर पूजा किया l  इस संबंध में जानकारी देते  हुए आर्ट्स कलाकार अजय विश्वकर्मा ने संवाददाता को बताया कि कोरोना वैश्विक महामारी का खामियाजा पूरे देश एवं राज्य की जनता भुगत चुकी है l और जिसका सबसे बुरा हाल पेंटिंग आर्ट्स कलाकारों की है l दो जून की रोटी के लिए आर्ट्स कलाकार  जीवन और मौत से जूझ रहा है l परंतु न केंद्र सरकार सहायता पहुंचा पाई और ना ही राज्य सरकार l आज स्थिति यह है कि आर्ट्स कलाकारों के बीच दाने दाने एवं पेट की आग बुझाने के लिए दर-दर की ठोकरें खाने को मजबूर है l श्री विश्वकर्मा ने आगे बताया कि आर्थिक स्थिति का खामियाजा के कारण स्वयं विश्वकर्मा भगवान की चित्र बनाकर पूजा अर्चना किया l ऐसे तो अजय विश्वकर्मा ने जहानाबाद जिले के अस्पताल मोड़ के समीप आर्ट्स पेंटिंग कला के माध्यम से पेट की आग  बुझा रहे हैं l तथा कई बेरोजगार युवकों को पेंटिंग आर्ट्स कला की प्रशिक्षण देकर जागरूकता प्रदान करते हुए बेरोजगारों को अपने पैरों पर खड़ा होने के लिए प्रशिक्षित कर रहे हैं l श्री विश्वकर्मा बचपन से ही समाज की सेवा करना और गरीब युवकों के प्रति प्रेम और स्नेह देने का काम करते रहे हैं l आज इसी का परिणाम है कि श्री विश्वकर्मा के दुकानों पर सामाजिक बुद्धिजीवी एवं राजनीति  से जुड़े लोगों की आना जाना एवं बैठना होता है l श्री विश्वकर्मा बताते हैं कि एक तो राज्य सरकार पेंटिंग आर्ट्स कलाकारों को आगे बढ़ाने में सहयोग प्रदान नहीं कर रही है वहीं दूसरी तरफ जिला प्रशासन ने भी आर्ट्स कलाकारों को उपेक्षित रखा है l जबकि जिले एवं प्रखंड मुख्यालय में पेंटिंग कलाकारों की संख्या भी अच्छी खासी है l यदि प्रशासन पेंटिंग कलाकारों के प्रति एवं हुनर को आगे बढ़ाने में मदद करती है  lतो आने वाला वह समय दूर नहीं की पेंटिंग कलाकारों के बीच दो जून की रोटी के लिए दर-दर की ठोकरे खाने को मजबूर होगी l श्री अजय विश्वकर्मा संवाददाता को भेंट वार्ता के दौरान बताया कि आर्ट्स कलाकारों के बीच हुनर है परंतु आर्थिक स्थिति का खामियाजा के कारण  कलाकार अपनी कला का प्रदर्शन बेतौर तरीके से  प्रदर्शित नहीं कर पा रहा है l ऐसी स्थिति में जिला प्रशासन से लेकर राज्य सरकार को चाहिए कि ऐसे आर्ट्स कलाकारों को सूची बनावे जिन्होंने अपनी कला के माध्यम से बेरोजगार युवकों को जोड़कर कला को प्रदर्शित कर रहा है l  और उसकी आर्थिक  स्थिति को सुधार करने के लिए राज्य सरकार  को पहल करने की जरूरत है l उन्होंने आगे कहा कि बड़े-बड़े पूंजीपतियों के सामने आर्ट्स कलाकारों की हालत दयनीय हो गया है l पोस्टर बैनर भी एक के दो के लोग ही  पहुंचते हैं l श्री विश्वकर्मा ने बिहार सरकार के कला मंत्री एवं जिला प्रशासन से  आर्ट्स कलाकारों को आर्थिक कमजोर स्थिति को देखते हुए सहयोग प्रदान करने एवं जिले में सर्वे कराकर कलाकारों को सूचीबद्ध तरीके से आर्थिक सहायता एवं सहयोग प्रदान करने की मांग किया है l ताकि बेरोजगारआर्ट्स पेंटिंग कलाकारों की स्थिति में सुधार आ सकें l और अपनी कला  के माध्यम से जिले एवं राज्यों का नाम  रौशन कर सकें l

No comments