Breaking News

संभागीय जनसम्पर्क कार्यालय रीवा मध्यप्रदेश शासन समाचार



समय-सीमा में निर्माण कार्य पूरे करने के लिये समन्वय से कार्य करें – कलेक्टर 

रीवा 28 सितम्बर 2020. कलेक्ट्रेट के बाणसागर सभागार में नगर निगम क्षेत्र में चल रहे निर्माण कार्यों की समीक्षा बैठक आयोजित की गई। बैठक में कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी ने सड़क, फ्लाई ओवर, सीवर निर्माण तथा गैस पाइप लाइन निर्माण की प्रगति की समीक्षा की। कलेक्टर ने कहा कि निर्माण एजेंसियों तथा इनसे जुड़े विभागों में सही समन्वय न होने के कारण निर्माण कार्यों में प्रगति धीमी है। गैस पाइपलाइन के लिये निर्धारित निर्माण कार्य 31 अक्टूबर तक हर हाल में पूरा करायें। सड़क, फ्लाई ओवर तथा सीवर लाइन के निर्माण कार्य की प्रगति की हर सप्ताह जानकारी दें। तय की गई समय-सीमा में ही निर्माण कार्य पूरे करायें। इसके लिये विभिन्न विभाग तथा निर्माण एजेंसियां समन्वय के साथ कार्य करें। सभी निर्माण कार्य उच्च गुणवत्ता के साथ पूरे करायें। 
कलेक्टर ने कहा कि चोरहटा से रतहरा तक माडल रोड का निर्माण तभी पूरा हो पायेगा जब सीवर लाइन तथा गैस पाइप लाइन का निर्माण कार्य पूरा हो जाये। सड़क निर्माण पूरा होने के बाद इसे काटने की अनुमति नहीं दी जायेगी। नगर निगम, लोक निर्माण विभाग, ब्रिज कार्पोरेशन तथा गैस पाइप लाइन का निर्माण करने वाली एजेंसी समन्वय से कार्य करें। इनके अधिकारी तथा इंजीनियर मौके पर जाकर निरीक्षण कर निर्माण की कठिनाइयों को दूर करें। सीवर लाइन का हर सप्ताह कम से कम पांच सौ मीटर तथा गैस पाइप लाइन का हर सप्ताह एक किलोमीटर निर्माण कार्य हर हाल में पूरा करें। तभी तय समय सीमा में निर्माण कार्य पूरा होगा। इसके लिये अतिरिक्त संसाधन लगायें। रेलवे ओवर ब्रिज निर्माण के लिये बिजली के पोल की तत्काल शिÏफ्टग करायें। इसके लिये ब्रिज कार्पोरेशन, रेलवे तथा पूर्वी क्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी मिलकर प्रयास करें। 
कलेक्टर ने कहा कि नगर निगम सड़कों की साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दे। सड़कों तथा निर्माण स्थलों में हो रहे वायु प्रदूषण को नियंत्रित करने के लिये उपाय करें। ओवर ब्रिज के नीचे से अनावश्यक निर्माण सामग्री तत्काल हटायें। आयुक्त नगर निगम नगर की सड़कों से आवारा पशु हटाने के लिये तत्काल कार्यवाही करें। माडल रोड निर्माण के साथ नाली निर्माण तथा फुटपाथ निर्माण का भी कार्य प्राथमिकता से करायें। माडल रोड के डिवाइडर आकर्षक बनाकर पर्याप्त ऊंचाई पर लगायें। कलेक्टर ने कहा कि सीवर लाइन, सड़क एवं नाली निर्माण की गुणवत्ता के संबंध में कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण हर सप्ताह रिपोर्ट दें। कलेक्टर ने बैठक से अनुपस्थित कार्यपालन यंत्री सेतु विकास निगम को कारण बताओ नोटिस देने के निर्देश दिये। बैठक में आयुक्त नगर निगम मृणाल मीणा, प्रभारी अधीक्षण यंत्री शैलेन्द्र शुक्ला, कार्यपालन यंत्री लोक निर्माण नरेन्द्र शर्मा, सहायक यंत्री एसके चतुर्वेदी, कार्यपालन यंत्री एसपी शुक्ला तथा कार्यपालन यंत्री राजेश सिंह एवं निर्माण एजेंसियों के प्रतिनिधि उपस्थित रहे। 
क्रमांक-349-2880-तिवारी-फोटो क्रमांक 01 संलग्न है। 
संयुक्त संचालक कृषि ने पद्भार ग्रहण किया 

रीवा 28 सितम्बर 2020. संयुक्त संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास के पद पर आरएस शर्मा ने 28 सितम्बर को पदभार ग्रहण कर लिया है। 
क्रमांक-350-2881-तिवारी 
 मुख्यमंत्री ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग से किया प्रदेश भर के कोरोना योद्धाओं का सम्मान 
डॉक्टरों तथा चिकित्सा कर्मियों ने ही कोरोना से कठिन युद्ध लड़ा है - मुख्यमंत्री
डॉक्टरों का त्याग और मानवता की सेवा अभूतपूर्व मिसाल है - मुख्यमंत्री

रीवा 28 सितम्बर 2020. मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने भोपाल में आयोजित राज्य स्तरीय सम्मान समारोह में डॉक्टरों तथा अन्य चिकित्सा कर्मियों को कोरोना योद्धाओं के रूप में सम्मानित किया। उन्होंने प्रदेश भर के डॉक्टरों, नर्सों, लैब टेक्नीशियन तथा अन्य चिकित्सा कर्मियों को डिजिटल सम्मान पत्र प्रदान किये। मुख्यमंत्री ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से भोपाल, इंदौर, देवास, ग्वालियर, भिंड तथा जबलपुर के डॉक्टरों एवं अन्य कोरोना योद्धाओं से संवाद करके उनका उत्साहवर्धन किया। रीवा जिले के पांच चिकित्सा कर्मियों को भी कार्यक्रम में सम्मानित किया गया। इनमें डॉ. विकास सिंह, स्टाफ नर्स श्रीमती स्वर्णलता पाठक, लैब टेक्नीशियन उमेश प्रजापति, वार्ड वाय रवि वर्मा तथा सफाई कर्मचारी अनूप कुमार शामिल हैं। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना नई बीमारी है। इसके लक्षण तथा उपचार के संबंध में अब तक विश्वास से कुछ भी कह पाना संभव नहीं है। इसके बावजूद प्रदेश भर में डॉक्टरों तथा अन्य चिकित्सा कर्मियों ने कोरोना पीड़ितों की सेवा और उपचार का अतुलनीय कार्य किया है। डॉक्टरों तथा चिकित्सा कर्मियों ने ही कोरोना के विरूद्ध लड़े जा रहे युद्ध में सबसे महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है। डॉक्टरों तथा चिकित्सा कर्मियों के मन में भी कोरोना से संक्रमण का डर हमेशा बना रहा। इसके बावजूद पीपीई किट पहनकर भयंकर गर्मी सहते हुए डॉक्टरों तथा अन्य चिकित्सा कर्मियों ने कोरोना पीड़ितों की दिन रात सेवा की। उनका यह त्याग और मानवता की सेवा अभूतपूर्व मिसाल है। आपने अपने प्राण संकट में डालकर दूसरों के प्राण बचाने के प्रयास किये। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि जब कोरोना का बहुत अधिक भय व्याप्त था जिसके कारण डॉक्टरों और चिकित्सा कर्मियों को कोरोना के साथ-साथ समाज से मिल रही नफरत से भी मुकाबला करना पड़ रहा था, लेकिन चिकित्सकों ने हमेशा सकारात्मक दृष्टिकोण बनाये रखा और उपचार तथा सेवा में किसी तरह की कमी नहीं आने दी। कई डॉक्टर महीनों अपने परिवार के पास नहीं गये। होटल तथा कारों में रातें बिताकर भी रोगियों की दिनरात सेवा करते रहे। ऐसे त्याग को मध्यप्रदेश सरकार ही नहीं प्रदेश की पूरी जनता नमन करती है। डॉक्टरों तथा चिकित्सा कर्मियों के प्रति आभार व्यक्त करने के लिये ही उन्हें आज प्रशस्ति पत्र प्रदान किये जा रहे हैं। आपने जो सेवा की है वह अनमोल है। सम्मान पत्र देकर हम आपका उत्साहवर्धन करने के साथ आभार ज्ञापित कर रहे हैं। 
मुख्यमंत्री ने कहा कि कोरोना संकट लंबे समय तक चल सकता है। इससे निपटने के लिये हमें अधिक कारगर रणनीति अपनानी होगी। मास्क का नियमित उपयोग, फिजिकल दूरी बनाये रखने, नियमित अंतराल से हाथ धोने तथा कोरोना से बचाव के सभी उपाय हर व्यक्ति अपनाये तभी संक्रमण पर नियंत्रण होगा। हमारी छोटी सी लापरवाही मृत्यु का कारण बन सकती है। कार्यक्रम में स्वास्थ्य तथा परिवार कल्याण मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी, चिकित्सा शिक्षा मंत्री श्री विश्वास सारंग ने भी अपने विचार व्यक्त किये। 
कलेक्ट्रेट के एनआईसी केन्द्र से रीवा संभाग के कमिश्नर राजेश कुमार जैन, कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी, संयुक्त संचालक स्वास्थ्य डॉ. अनंत मिश्रा, प्रभारी डीन डॉ. मनोज इंदुलकर, मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ. एमएल गुप्ता, डीपीएम डॉ. सुनील अवस्थी, सभी सम्मानित डॉक्टर एवं कोरोना योद्धा उपस्थित रहे। 
क्रमांक-351-2882-तिवारी-फोटो क्रमांक 02, 03 संलग्न हैं। 


जिले के 3 स्थानों में बनाये गये कंटेनमेंट क्षेत्र
रीवा 28 सितम्बर 2020. जिले के 3 स्थानों में कोरोना संक्रमित रोगी पाये जाने पर कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट इलैयाराजा टी ने कंटेनमेंट क्षेत्र बनाने के आदेश दिये हैं। जारी अलग-अलग आदेशों के अनुसार नगर परिषद मऊगंज के वार्ड क्रमांक 5 में मनोज कुमार शर्मा का घर, नगर परिषद हनुमना के वार्ड क्रमांक 9 में सरोज तिवारी का घर तथा नगर परिषद हनुमना में ही वार्ड क्रमांक 8 में योगेश शर्मा के घर को कंटेनमेंट क्षेत्र बनाने के आदेश दिये हैं। कंटेनमेंट एरिया में आवागमन पूरी तरह से प्रतिबंधित रहेगा।
जारी आदेश के अनुसार घोषित किये गये कंटेनमेंट एरिया में निवास करने वाले सभी निवासियों को होम क्वारेंटाइन में रहना होगा। इन क्षेत्रों में स्वास्थ्य विभाग, राजस्व विभाग, पुलिस विभाग तथा आवश्यक वस्तुओं की आपूर्ति करने के लिए अधिकृत व्यक्तियों के अतिरिक्त सभी का प्रवेश वर्जित होगा। कंटेनमेंट एरिया में आंगनवाड़ी कार्यकर्ता, स्वास्थ्य कार्यकर्ता तथा अन्य स्थानीय कर्मचारियों के दल तैनात किये गये हैं। इनके द्वारा कंटेनमेंट क्षेत्रों के प्रत्येक घर में जाकर निर्धारित प्रपत्र में व्यक्तियों की जानकारी तैयार की जायेगी। जारी आदेश के अनुसार संबंधित क्षेत्र में कंटेनमेंट एरिया के लिए संबंधित एसडीएम कोे इंसिडेंट कमाण्डर बनाया गया है। इन्हें सहयोग देने के लिए राजस्व, पुलिस, नगरीय निकाय, स्वास्थ्य विभाग, जनपद पंचायत तथा लोक निर्माण विभाग के अधिकारी तैनात किये गये हैं। कलेक्टर ने कंटेनमेंट क्षेत्रों में निर्देशों तथा प्रतिबंधों का कठोरता से पालन कराने के निर्देश दिए हैं। 
क्रमांक-352-2883-तिवारी 
जिले के 6 स्थानों से कंटेनमेंट एरिया समाप्त 

रीवा 28 सितम्बर 2020. कलेक्टर एवं जिला मजिस्ट्रेट इलैयाराजा टी ने जिले के 6 स्थानों से कंटेनमेंट एरिया समाप्त करने के आदेश दिये हैं। जारी अलग-अलग आदेशों के अनुसार नगर परिषद त्योंथर के वार्ड क्रमांक 3 में मोहम्मद इस्माइल के घर से राजेश श्रीवास्तव के घर तक, नगर परिषद मऊगंज के वार्ड क्रमांक 8, नगर परिषद त्योंथर के वार्ड क्रमांक 3 में पन्नालाल गुप्ता के घर से सिन्टू चौरसिया के घर तक, तहसील नईगढ़ी के ग्राम डिहिया, अनुभाग त्योंथर के ग्राम भनिगवां वार्ड क्रमांक 18 में कामता कोल के घर से छेदीलाल के घर तक तथा नगर परिषद मऊगंज के वार्ड क्रमांक 3 एवं ग्राम पलिया त्रिवेणी सिंह से कंटेनमेंट एरिया समाप्त किया गया है। 
कलेक्टर ने अंतिम पुष्ट मामला मिलने के बाद लगातार दो सप्ताह तक लैब द्वारा कोविड-19 का कोई पुष्ट मामला नहीं मिलने पर 28 सितम्बर की मध्य रात्रि से कंटेनमेंट एरिया समाप्त करने के आदेश जारी किये हैं। यह आदेश संबंधित क्षेत्र के इंसिडेंट कमाण्डर एवं एसडीएम तथा खण्ड चिकित्सा अधिकारी से प्राप्त प्रतिवेदन के आधार पर जारी किये गये हैं। 
क्रमांक-353-2884-तिवारी 

कलेक्टर मनगवां तथा रायपुर कर्चुलियान में करेंगे राजस्व कार्यों की समीक्षा 
रीवा 28 सितम्बर 2020. राजस्व प्रशासन में कसावट लाने की दृष्टि से कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी तहसील स्तर पर राजस्व कार्यों की समीक्षा कर रहे हैं। इस क्रम में कलेक्टर 30 सितम्बर को प्रात: 11 बजे से तहसील कार्यालय मनगवां में आयोजित बैठक में राजस्व कार्यों की समीक्षा करेंगे। कलेक्टर इसी दिन दोपहर बाद तीन बजे तहसील कार्यालय रायपुर कर्चुलियान में भी राजस्व कार्यों की समीक्षा करेंगे। बैठक में नामांतरण, बटवारा, सीमांकन, राजस्व प्रकरणों के निराकरण, डायवर्सन के प्रकरण, सीएम हेल्पलाइन, मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना तथा प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि की प्रगति की समीक्षा की जायेगी। 
क्रमांक-354-2885-तिवारी 
मुख्यमंत्री ने रीवा के पांच कोरोना योद्धाओं को सम्मानित किया 

रीवा 28 सितम्बर 2020. मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान ने वीडियो कान्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित कार्यक्रम में रीवा जिले के पांच कोरोना योद्धाओं को डिजिटल सम्मान पत्र देकर सम्मानित किया। कोरोना संक्रमण से बचाव तथा कोरोना पीड़ितों के उपचार में उत्कृष्ट कार्य करने के लिये इन्हें सम्मानित किया गया है। सम्मान प्राप्त करने वालों में जिला चिकित्सालय के चिकित्सा अधिकारी डॉक्टर विकास सिंह तथा टेली मेडिसिन सेंटर जिला चिकित्सालय की स्टाफ नर्स श्रीमती स्वर्णलता पाठक शामिल हैं। इसी तरह जिला चिकित्सालय के लैब टेक्नीशियन उमेश प्रजापति, सिविल अस्पताल मऊगंज में सेवारत वार्डवायॅ रवि वर्मा एवं कोविड केयर सेंटर चिरहुला रीवा में तैनात सफाई कर्मचारी अनूप कुमार को भी सम्मानित किया गया। कलेक्ट्रेट के एनआईसी केन्द्र से इस कार्यक्रम में रीवा संभाग के कमिश्नर राजेश कुमार जैन, कलेक्टर डॉ. इलैयाराजा टी, संयुक्त संचालक स्वास्थ्य डॉ. अनंत मिश्रा, सीएमएचओ डॉ. एमएल गुप्ता एवं अन्य चिकित्सा अधिकारी उपस्थित रहे। 
क्रमांक-355-2886-तिवारी 
कमिश्नर ने जिला कार्यक्रम अधिकारी सतना को कारण बताओ नोटिस दिया

रीवा 28 सितम्बर 2020. कमिश्नर रीवा संभाग राजेश कुमार जैन ने सतना के जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास सौरभ सिंह को कारण बताओ नोटिस जारी किया है। प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना अंतरगत वित्त वर्ष 2020-21 में सतना जिले में वार्षिक लक्ष्य 23840 निर्धारित है जिसके तहत माह सितम्बर तक नियत 11943 के विरूद्ध केवल 7770 की पूर्ति की गयी जो 65.06 प्रतिशत है। शासन की अति महत्वाकांक्षी योजना के क्रियान्वयन में शिथिलता बरतने के आरोप में कमिश्नर ने जिला कार्यक्रम अधिकारी को दो वार्षिक वेतन वृद्धियों के रोके जाने के संबंध में नोटिस जारी कर दस दिवस में कारण स्पष्ट करने के निर्देश दिये हैं। 
क्रमांक-356-2887-शुक्ल
प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में अपेक्षित प्रगति न रहने पर कमिश्नर ने नोटिस जारी किया

रीवा 28 सितम्बर 2020. प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजना में निर्धारित लक्ष्य के विरूद्ध कम प्रगति रहने पर कमिश्नर रीवा संभाग राजेश कुमार जैन ने सिंगरौली के जिला कार्यक्रम अधिकारी प्रवेश मिश्रा की दो वेतन वृद्धियां असंचयी प्रभाव से रोके जाने के संबंध में नोटिस जारी किया है। उल्लेखनीय है कि प्रधानमंत्री मातृ वंदना योजनान्तर्गत सिंगरौली जिले का वर्ष 2020-21 का वार्षिक लक्ष्य 12389 निर्धारित है। माह सितम्बर 2020 तक नियत लक्ष्य 6155 के विरूद्ध 4226 की पूर्ति की गयी जो 68.66 प्रतिशत है। कमिश्नर ने प्रगति काम होने को शासकीय कर्तव्यों के प्रति लापरवाही मानते हुए जिला कार्यक्रम अधिकारी को नोटिस जारी कर 10 दिवस में जबाव प्रस्तुत करने के निर्देश दिये हैं। 
क्रमांक-357-2888-शुक्ल 
विश्व वृद्धजन दिवस मनाया जायेगा एक अक्टूबर को 

          रीवा 28 सितम्बर 2020. जिले भर में एक अक्टूबर को विश्व वृद्धजन दिवस मनाया जायेगा। मुख्य कार्यक्रम कलेक्ट्रेट सभागार में दोपहर बाद तीन बजे से आयोजित किया जा रहा है। इसमें शतायु वृद्धजनों को सम्मानित किया जायेगा। वृद्धजनों के स्वास्थ्य की जांच भी की जायेगी। प्रभारी संयुक्त संचालक अनिल दुबे ने वृद्धजनों से कार्यक्रम में भागीदारी का अनुरोध किया है। 
क्रमांक-358-2889-तिवारी 
डीएलसीसी की बैठक आज

          रीवा 28 सितम्बर 2020. कलेक्टर इलैयाराजा टी की अध्यक्षता में जिला स्तरीय सलाहकार समिति (डीएलसीसी) की बैठक 29 सितम्बर को आयोजित होगी। उपरोक्त बैठक कलेक्ट्रेट के मोहन सभागार में अपरान्ह 3 बजे आयोजित होगी। बैठक में जून 20 समाप्त तिमाही की प्रगति की समीक्षा की जायेगी। 
           अग्रणी जिला प्रबंधक रश्मेन्द्र सक्सेना ने बताया कि बैठक में जमा एवं अग्रिम अनुपात, किसान क्रेडिट कार्ड, कालातीत खातों की समीक्षा, प्रधानमंत्री जनधन योजना, प्रधानमंत्री जीवन ज्योति योजना, प्रधानमंत्री सुरक्षा बीमा योजना, स्वसहायता समूह, उच्च शिक्षा ऋण, प्रधानमंत्री मुद्रा योजना, सीएम हेल्पलाइन, तथा नाबार्ड द्वारा संचालित योजनाओं एटीएम, बैंक मित्र के प्रगति की समीक्षा की जायेगी। उन्होंने बताया कि उपरोक्त बैठक में समस्त बैंकर्स एवं संबंधित जिला अधिकारी उपस्थित रहेंगे। 
क्रमांक-359-2890-शुक्ल
जिला न्यायालय में स्वास्थ्य परीक्षण संपन्न
रीवा 28 सितम्बर 2020. राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार तथा जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री अरूण कुमार सिंह के मार्गदर्शन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा विश्व एवं देश में कोविड-19 के बढ़ते प्रकरणों को देखते हुए इसके संक्रमण के बचाव एवं जागरूकता के संबंध में शासन की गाइडलाइन व सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करते हुए जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा जिला एवं सत्र न्यायाधीश की गरिमामयी उपस्थिति में एडीआर भवन में न्यायालीन अधिकारी अधिवक्ता व कर्मचारी का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया।
जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री अभय कुमार मिश्रा ने जानकारी देते हुए बताया कि जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री अरूण कुमार सिंह के निर्देशानुसार जिला चिकित्सालय के चिकित्सक डॉ. उदित कुमार व डॉ. राजकुमार के द्वारा चिकित्सकीय उपकरण के द्वारा बुखार व ऑक्सीजन लेवल की जांच की गई। इस अवसर पर जिला एवं सत्र न्यायाधीश द्वारा अपने उदबोधन में कहा गया कि कोरोना काल में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन एवं मास्क अवश्य पहने और बुखार व सर्दी खांसी होने पर चिकित्सक से संपर्क करें और सार्वजनिक स्थानों पर न जाये। आपकी सावधानी ही कोरोना से बचाव है। आप सुरक्षित है तो देश सुरक्षित है। 
इस अवसर पर सचिव जिला विधिक सेवा प्राधिकरण श्री विपिन कुमार लवानिया, अपर जिला एवं सत्र न्यायाधीश श्री सुधीर सिंह राठौड़, श्री मुकेश यादव, श्री आसिफ अब्बदुल्ला, रजिस्ट्रार श्री महेन्द्र कुमार उइके, श्री अनुपम तिवारी व अन्य न्यायाधीशगण, अधिवक्तागण व कर्मचारीगण उपस्थित थे। 
क्रमांक-360-2891-मिश्रा-फोटो क्रमांक 04 संलग्न है। 
दिव्यांग छात्रवृत्ति के लिए 31 अक्टूबर तक ऑनलाइन करें आवेदन - कलेक्टर

रीवा 28 सितम्बर 2020. कलेक्टर इलैयाराजा टी ने निर्देश दिये हैं कि केन्द्रीय दिव्यांग छात्रवृत्ति वर्ष 2020-21 के लिए 31 अक्टूबर तक आवेदन करें। उन्होंने बताया कि राष्ट्रीय पोर्टल पर दिव्यांग छात्रों के लिए केन्द्रीय दिव्यांग छात्रवृत्ति वर्ष 2020-21 के ऑनलाइन आवेदन करने हेतु पोर्टल दिनांक 16 अगस्त से नये आवेदनों के लिए तथा विगत वर्ष के आवेदनों के नवीनीकरण हेतु 21 अगस्त से प्रारंभ हो चुका है। पोर्टल पर ऑनलाइन आवेदन करने की अंतिम तिथि 31 अक्टूबर निर्धारित की गयी है। उन्होंने कहा कि पात्र दिव्यांग जन आवेदन पत्र ऑनलाइन कराया जाना सुनिश्चित करें। दिव्यांग छात्रवृत्ति के लिए जिला शिक्षा अधिकारी को नोडल अधिकारी बनाया गया है। 
क्रमांक-361-2892-मिश्रा  

लोक अदालत में 32 प्रकरणों में 15.87 लाख रूपये के अवार्ड पारित
रीवा 28 सितम्बर 2020. विगत दिवस आयोजित ऑनलाइन स्थाई एवं निरंतर लोक अदालत में 32 प्रकरणों का 15 लाख 87 हजार 230 रूपये का अवार्ड पारित किया गया। राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार जिला एवं सत्र न्यायाधीश अरूण कुमार सिंह के मार्गदर्शन में जिला विधिक सेवा प्राधिकरण द्वारा कोरोना संबंधी गाइडलाइन का पालन करते हुये ऑनलाइन स्थाई एवं निरंतर लोक अदालत आयोजित की गयी। 
लोक अदालत में मोटर क्लेम के 15 में से 11 प्रकरणों का निराकरण कर 22 व्यक्तियों को 9 लाख 85000 के अवार्ड पारित किया। चेक बाउंस के 10 प्रकरणों में से 3 प्रकरणों का निराकरण कर 5 लाख 10 हजार रूपये के अवार्ड पारित किये गये तथा विद्युत संबंधी 14 प्रकरणों का निराकरण कर 92 हजार 230 रूपये के अवार्ड पारित किये गये। 
जिला विधिक सहायता अधिकारी श्री अभय कुमार मिश्रा ने बताया कि उक्त ऑनलाइन स्थाई एवं निरंतर लोक अदालत का आयोजन प्रत्येक माह के अंतिम शनिवार को किया जाता है। रीवा न्यायालय के साथ-साथ तहसील न्यायालय सिरमौर, त्योंथर, मऊगंज एवं हनुमना में भी ऑनलाइन स्थाई एवं निरंतर लोक अदालत हेतु खंण्डपीठों का गठन किया जाता है। रीवा न्यायालय में दो खण्डपीठें एवं तहसील न्यायालयों में कुल 7 खण्डपीठें इस तरह से संपूर्ण जिला न्यायालय में कुल 9 खण्डपीठें ऑनलाइन स्थाई एवं निरंतर लोक अदालत के लिए गठित की गयी थी। रीवा न्यायालय में खण्डपीठ क्रमांक एक में अपर जिला सत्र न्यायाधीश श्री सुधीर सिंह राठौड़ एवं खण्डपीठ क्रमांक दो में न्यायिक मजिस्ट्रेट प्रथम श्रेणी श्री शंशाक सिंह ने ऑनलाइन स्थायी एवं निरंतर लोक अदालत का कार्य संपादित किया। 
क्रमांक-362-2893-मिश्रा 
विज्ञान प्रौद्योगिकी एवं नवाचार की नीति-पंचायत स्तर तक होगा महिला सशक्तिकरण 
रीवा 28 सितम्बर 2020. कोविड-19 से हुए बदलाव को केन्द्र में रखकर बनाई जा रही नई विज्ञान नीति में महिला सशक्तिकरण को पंचायतों स्तर तक बढ़ावा मिलेगा। भारत में स्वतंत्रता के बाद चार विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी नीतियों का निर्माण हो चुका है। पांचवी और नई विज्ञान नीति के निर्माण की प्रक्रिया आरंभ हो चुकी है। इस नीति में महिलाओं के सशक्तिकरण को पंचायतों तक पहुंचाने पर विशेष जोर दिया जा रहा है। यह विचार विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, भारत सरकार के एडवाइजर एवं समूह प्रमुख डॉ. अखिलेश गुप्ता ने विज्ञान, प्रौद्योगिकी एवं नवाचार नीति 2020 और राज्यों से अपेक्षाएं विषय पर दूसरे दौर में राज्य स्तरीय ऑनलाइन विचार विमर्श में विस्तार से जानकारी देते हुए व्यक्त किये। 
उन्होंने बताया कि पांचवी और नवीन विज्ञान नीति कोविड-19 महामारी के बाद समाज में हुए व्यापक बदलाव को केन्द्र में रखकर तैयार की जा रही है। डॉ. गुप्ता ने कहा कि अभी तक चारों विज्ञान नीतियों को बनाने में वैज्ञानिकों का योगदान रहा था, लेकिन नई विज्ञान नीति में सभी राज्यों की विज्ञान परिषदों और नई राष्ट्रीय शिक्षा नीति को भी शामिल किया गया है कि समाज को विज्ञान और वैज्ञानिकों से बड़ी अपेक्षाएं है। नवीन विज्ञान नीति 2020 का सृजन कोविड-19 की चुनौतियों के बीच हो रहा है, जिसमें समग्रता पर पूरा ध्यान दिया जा रहा है। 
विज्ञान भारती, ने अपने उद्बोधन में नवीन विज्ञान नीति में स्वदेशी प्रौद्योगिकी और नवाचारों को महत्व देने का एक अच्छा कदम बताया। बोर्ड विज्ञान नीति का मूल उद्देश्य स्वदेशी भावना का सशक्तिकरण और प्रधानमंत्री के आत्मनिर्भर भारत को आव्हान को साकार करना है।  समाज में अवैज्ञानिक सोच को रोकने के लिए साइटिफिक टेम्पर को बढ़ावा देने की आवश्यकता है। वर्तमान दौर में विज्ञान के विकेन्द्रीकरण पर भी ध्यान केन्द्रित करना चाहिये। 
क्रमांक-363-2894-मिश्रा 

आज तक अनिवार्य रूप से वेतन करें जनरेट
रीवा 28 सितम्बर 2020. कोषालय अधिकारी आरडी चौधरी ने कहा है कि समस्त आहरण एवं संवितरण अधिकारी नियमित एवं अनियमित कर्मचारियों की तथा अध्यापक संवर्ग एवं शिक्षा कर्मी की सितम्बर माह का वेतन आज 28 सितम्बर तक अनिवार्य रूप से जनरेट कर कोषालय में सबमिट कर दें जिससे समस्त कर्मचारियों का वेतन एक अक्टूबर तक भुगतान किया जा सके। वरिष्ठ कोषालय अधिकारी ने कहा है कि विशेष परिस्थितियों के अलावा किसी की वेतन रोकी न जाय अन्यथा वेतन भुगतान विलंब से होने पर आहरण संवितरण अधिकारी स्वयं जिम्मेदार होंगे।  
क्रमांक-364-2895-शुक्ल
टेÏस्टग टारगेट पूरा करने के लिये फीवर क्लीनिक की संख्या का निर्धारण जिला स्तर पर 

रीवा 28 सितम्बर 2020. प्रदेश में कोरोना टेÏस्टग की गति को बढ़ाने और टारगेट पूरा करने के लिये आवश्यकतानुसार फीवर क्लीनिक की संख्या का निर्धारण जिला स्तर पर किया जायेगा। शहरी क्षेत्र में फीवर क्लीनिक प्रात: 8 बजे से रात्रि 8 बजे तक और ग्रामीण क्षेत्रों में फीवर क्लीनिक प्रात: 9 बजे से शाम 4 बजे तक संचालित किये जायेंगे। सभी फीवर क्लीनिक सप्ताह में सातों दिन चलेंगे।
आयुक्त स्वास्थ्य सेवा ने निर्देशों में कहा है कि प्रत्येक फीवर क्लीनिक की जानकारी सार्थक पोर्टल पर अपग्रेड की जाये। साथ ही जिले में स्थापित डिस्ट्रिक कोविड कमाण्ड सेंटर पर भी जानकारी उपलब्ध कराना सुनिश्चित किया जाये। सेम्पिलिंग के टारगेट को पूरा करने तथा स्थानीय आवश्यकतानुसार सेम्पलिंग की जरूरत पड़ने पर जिले में मोबाइल सेम्पल कलेक्शन टेÏस्टग यूनिट भी स्थापित करें। प्रत्येक मोबाइल यूनिट किसी एक फीवर क्लीनिक से सम्बद्ध हो। ऐसे मोबाइल यूनिट से ग्रामीण क्षेत्रों के हाट-बाजारों में तथा शहरी क्षेत्रों की जिन कालोनी में कोविड का प्रभाव अधिक हो, वहां कैम्प लगाकर सेम्पलिंग का कार्य किया जाये। मोबाइल यूनिट्स में यथासंभव आरएटी को प्राथमिकता दिये जाने और आवश्यकता होने पर आरटीपीसीआर के सेंपल लिये जाने के निर्देश दिये गये है। प्रतिदिन किये जाने वाले आरएटी टेस्ट की संख्या तथा पॉजिटिव प्रकरणों की जानकारी एकत्र कर जिला मुख्यालय में स्थापित नियंत्रण कक्ष को दिये जाने के निर्देश दिये गये।
फीवर क्लीनिक पर सेंपलिंग की व्यवस्था डिमांड ड्रायविन करने के निर्देश दिये गये, जिसमें इच्छुक व्यक्ति द्वारा चाहे जाने पर उसको टेÏस्टग की सुविधा उपलब्ध कराई जाये। फीवर क्लीनिक पर मलेरिया, डेंगू की जांच किट भी रखने के निर्देश दिये गये है। जिसका उपयोग आवश्यकतानुसार किया जा सके। 
क्रमांक-365-2896-मिश्रा 
अदम्य साहस व बहादुरी दिखाने वाले बच्चों को मिलेंगे राष्ट्रीय पुरस्कार 
30 सितम्बर तक आवेदन आमंत्रित
रीवा 28 सितम्बर 2020. सामाजिक बुराई एवं आपराधिक घटनाओं से निपटने में अदम्य साहस एवं बहादुरी का परिचय देने वाले बच्चों को भारतीय बाल कल्याण परिषद नई दिल्ली द्वारा राष्ट्रीय पुरस्कार दिए जायेंगे। इसके लिये आवेदन आमंत्रित किए गए हैं। 
जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास विभाग ने बताया कि अदम्य साहस का परिचय देते हुए प्रमाणिक कार्य करने वाले 6 से 18 वर्ष आयु वर्ग के बच्चों को यह पुरस्कार दिए जाने है। पुरस्कार प्राप्त करने के लिये निर्धारित प्रारूप में आवेदन भरने होंगे। विस्तृत जानकारी वेबसाइट www.iccw.co.in  पर उपलब्ध है। आवेदन पत्र निर्धारित प्रारूप में कलेक्ट्रेट के द्वितीय तल स्थित जिला कार्यक्रम अधिकारी महिला एवं बाल विकास के कार्यालय में 30 सितम्बर तक प्रस्तुत किए जा सकते हैं। इस कार्यालय से भी इस संबंध में विस्तृत जानकारी प्राप्त की जा सकती है। 
क्रमांक-366-2897-मिश्रा 
खनिजों का परिवहन करने वाले वाहनों का पंजीयन जरूरी 

रीवा 28 सितम्बर 2020. वाहन मालिकों द्वारा अधिकांश टेक्टर, ट्रॉली, डंफर और ट्रक से खनिजों का परिवहन किया जाता है। इन वाहनों का ई-खनिज पोर्टल पर पंजीयन नहीं होने से ई-टीपी जनरेट नहीं होती है। ई-टीपी जनरेट नहीं होने से शासन को प्राप्त होने वाले राजस्व का भी नुकसान हो रहा है। खनिजों का परिवहन किए जाने वाले वाहनों में ई-टीपी नहीं होने से वाहनों के अधिकारियों व कर्मचारियों द्वारा अवैध उत्खनन व परिवहन के प्रकरण दर्ज किए जाकर अत्याधिक जुर्माने के रूप में राशि वसूल की जाती है। खनिज साधन विभाग द्वारा विभागीय वेबसाइट ekhanij.mp.gov.in   पर खनिजों के परिवहन किए जाने वाले वाहनों के रजिस्ट्रेशन की व्यवस्था की गई है। वाहनों के वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन करने के पश्चात वैध ठेकेदार से ईटीपी प्राप्त करने के पश्चात खनिजों का परिवहन किया जा सकता है। विभागीय वेबसाइट पर बिना रजिस्ट्रेशन के खनिजों का परिवहन करना अवैध परिवहन की श्रेणी में आता है। इसलिए समस्त वाहन मालिक वेबसाइट पर जाकर परिवहन करने वाले वाहनों का पंजीयन करायें।
क्रमांक-367-2898-मिश्रा

BNL24NEWS
राजीव तिवारी संभागीय हेड

No comments