Breaking News

लाशे उगल रहा सिरमौर का क्योटी जल प्रपात*




*बदहाल व्यवस्था के चलते अपराधियो, प्रेमी जोडे के लिए   सुरक्षित  स्थान* 

*व्यवस्था जल्द नही सुधरी तो  मजबूरन  धरने पर बैठना पडेगा - सौदामिनी गुप्ता*



  रीवा जिले के तहसील सिरमौर से 12 किलोमीटर दूर स्थित क्योटी  बहुत ही विहंगम दृश्य वाला स्थान है! यहां राजा का किला अपनी  किदवंतियों  के लिए जाना जाता  है ! वही  दो कुंड एक सूखा और दूसरा पानी का! पानी जब कुंड में झरझर   की आवाज  के साथ  नीचे गिरता है तो देखने वालों के मन को भी भ्रमित कर देता है कि कहीं दुग्ध धारा तो नहीं बह रही! वही इसके जलस्तर का बहाव इतना तेज होता है ! बहाव की  आवाज मे मानो  एक संगीत बज रहा होता  है   इसी कुंड से लगा भैरव बाबा का मंदिर शिव मंदिर राम मंदिर जो श्रद्धा का प्रतीक माना जाता है

*अपराधियो ,प्रेमी जोडे के लिए   सुरक्षित  स्थान* 

  जी हां कोई भी पर्यटन स्थल  हो   अगर वहां  किसी प्रकार की कोई  ब्यवस्था  ना हुई तो देखने वालों के मन से डर खत्म हो जाता है !और  मनमानी करने लगते हैं! तेज पानी  के  धार में सेल्फी  लेना , नहाना  जो  खुद  मौत  को  दावत  देने जैसा होता  है ! इसको  रोकने  के  लिए कुछ उचित कदम प्रशासन को उठाना चाहिए   ! रीवा जिले के आसपास के गांव के प्रेमी जोडे भी इस जल प्रपात को देखने आते है ! एकांतवास  की तलास  मे दूर   निकल जाते है ! जहां वह लुट , छेडखानी का शिकार हो जाते है ! कई ऐसी घटनाए हो चुकी है ! वही मुर्गा  पार्टी के लिए   लोगो की पहली पंसद है क्योटी का जल प्रपात ! इस   प्रपात मे अपनी जिदंगी की जंग हार   चुके लोग भी इसी   के गोद का सहारा लेते है ! वही अपराधी भी अपने दुश्मन को ठिकाने लगाने का सबसे उत्तम स्थान मानते है! इस लिए   यह जल प्रपात अब लाशे उगल रहा है ! प्रशाशन को तत्काल पुलिस चौकी की स्थापना करनी चहिये ! व्यवस्थाये दुरुस्त करनी चहिये ! जिससे किसी का  लाल, पति ,बेटा, भाई ,बहन ,बेटी इस  जल प्रपात की गोद मे न समा पाए    ! 


*क्योटी जलप्रपात के पर्यटक सिरमौर  लालगांव के लिए बन रहे मुसीबत*

 जिले का सबसे आकर्षक क्योटी जल प्रपात अब आसपास के लोगों के लिये मुसीबत का कारण बनने लगा है। पुलिस प्रशासन की निष्क्रियता के चलते लॉक डाउन के दौरान भी हजारों की संख्या में पर्यटक आते थे, लेकिन अब जबकि रविवार का भी लॉकडाउन पूरी तरह समाप्त कर दिया गया है तो स्थानीय लोग और भी दहशत में आ गये हैं। पर्यटकों में बहुत सारे अपराधी प्रवृत्ति के लोग भी आते हैं जो यहां आकर विवाद और फंसाद करते हैं। क्योटी जल प्रपात  में  पर्यटकों के आपसी विवाद के कारण लोगों को अनावश्यक परेशानियों से दो-चार होना पड़ता है। जब इस तरह के विवाद होते हैं तो पुलिस भी आम लोगों की तरह सिर्फ तमाशबीन बनकर रह जाती हैं!  वाटरफॉल की दूरी मात्र 9 किलोमीटर है जहां क्योटी वाटर फॉल का मनोरम दृश्य देखने के लिए प्रत्येक शनिवार और रविवार को लगभग दो हजार से तीन हजार तक चार पहिया वाहनों में उत्तर प्रदेश से पर्यटक पहुंचते हैं जिससे इस मार्ग पर वाहनों की भारी आवाजाही रहती है! वही रीवा ,सतना जिले के आसपास के लोग भी पहुचते है !  साथ ही जिला प्रशासन की उदासीनता एवं निष्क्रियता के चलते पर्यटको के साथ  क्योटी वाटरफॉल में झगड़ा ,मारपीट, लूट, राहजनी, छेडखानी हो जाती है ! जिससे स्थानीय आम जनों को काफी मुसीबतें झेलनी पड़ रही है!  देर रात तक असामाजिक तत्वों का जमावड़ा लगा रहता है ! मध्य प्रदेश ,उत्तर प्रदेश का बॉर्डर लगा होने के कारण भीड़ रहती है स्थानिय विधायक  इस  ओर ध्यान ही नही दे रहे ! सिर्फ  वोट  चाहिए बाकी विकास के नाम से सब  बंटाधार है !  सिरमौर विधासभा की समाज सेवी एवं पत्रकार सौदामिनी गुप्ता ने  मांग की है की रोड ,बिजली ,पानी की समुचित व्यवस्था के साथ पुलिस चौकी  खोली जाये ! जिससे लाशे उगलने वाले  इस  जल प्रपात से  मौत थम सके ! सबसे  पहले  कुंड  के  चारो  तरफ  रेलिंग  लगना  चाहिए  जिससे  लोग  दूर  से  क्योटी  वाटर  फाल  का  आनंद  उठा  सके  फिर  एक  पुलिस  चौकी  होना  चाहिए  जिससे   वहा  ब्यवस्थित  लोग आ जा  सके! क्योटी जल प्रपात की व्यवस्था जल्द सुधरवाने  का कार्य करे प्रसाशन नही तो मजबूरन  धरने पर बैठना पडेगा !



राजीव तिवारी BNL24 NEWSसंभागीय हेड

No comments