Breaking News

सीधी न्यूज़ ✍️अशोक के लिए बनी वरदान ग्रामीण  स्ट्रीट बेंडर योजना


भारत न्यूज लाइव 24 हर खबर आप तक  संवाददाता धीरेंद्र पांडेय (M.P. क्राइम हेड) सीधी👇👇👇


अशोक के लिये बनी वरदान ग्रामीण स्ट्रीट वेण्डर योजना
-------
अब अपने गांव में ही करेंगे रोजगार
-------

    जिले के विकासखंड चुरहट के ग्राम टीकट खुर्द के अशोक कुमार जायसवाल  ने बताया कि जीवन यापन के लिये वे जबलपुर में सब्जी की दुकान लगाते थे लेकिन कोरोना संक्रमण के कारण बीते कुछ महीनों से लॉकडाउन के चलते अशोक और उनके परिवार की रोजी रोटी का सहारा और रोजगार ठप पड़ गया था। अशोक के सामने एक चिंता थी कि वह कैसे अपने बच्चों का भरण पोषण करे। कई दिनों से घर में बैठे होने के कारण जो सीमित आमदनी होती थी वह भी रूक गई थी। जब अनलॉक की प्रक्रिया प्रारम्भ हुई तो दोबारा अपने गांव में ही सब्जी लगने के लिए सोचा लेकिन फिर से रोजगार के लिए उनके पास पूंजी भी  नहीं थी। ऐसे में प्रधानमंत्री स्ट्रीट वेंडर आत्मनिर्भर स्वनिधि योजना अशोक और उसके पूरे परिवार के लिये वरदान साबित हुई। अशोक को आजीविका मिशन के द्वारा ग्रामीण स्ट्रीट वेण्डर योजना की जानकारी दी गई जिसका आवेदन ऑनलाईन किया जायेगा। इसकी जानकारी देकर अशोक का आवेदन कराया गया। तत्पश्चात् मध्यांचल ग्रामीण बैंक में ऋण प्रकरण स्वीकृति कर 10 हजार रूपये ब्याज मुक्त ऋण प्राप्त हुआ। अशोक ने बताया कि आवेदन करने के 10 से 15 दिनों के अन्दर ही उनके खाते में ऋण की राशि आ गई थी। बिना किसी सिक्योरिटी के उन्हें यह लोन सरकार द्वारा उपलब्ध कराया गया। इन रुपयों की मदद से अशोक दोबारा गांव में ही सब्जी की दुकान  पहले के जैसा संचालित करने में सक्षम हो सके।

  इस आर्थिक सहायता के बलबूते अशोक का रोजगार फिर से पहले जैसा चलने लगा। अब अशोक को गांव में ही सब्जी बेचने से प्रतिदिन 200 से 300 रुपये का लाभ प्राप्त हो रहा है। अशोक ने कहा कि लॉकडाउन के दौरान आमदनी का सहारा बन्द हो जाने की वजह से वे और उनका परिवार काफी परेशान चल रहे थे। यदि उन्हें 10 हजार रुपये की आर्थिक सहायता सरकार की ओर से उक्त योजना के अन्तर्गत नहीं मिली होती तो वे बिना इस सहायता के आगे नहीं बढ़ पाते। इस योजना से उन्हें अपना व्यवसाय दोबारा खड़ा करने में बहुत सहायता मिली है। स्ट्रीट वेंडर्स के लिये निश्चित रूप से यह योजना अत्यन्त लाभदायक है, जिस वजह से समाज के गरीब तबके के लोगों में लॉकडाउन के पश्चात एक नई स्फूर्ति जागी है, जिससे उन्हें दोबारा अपना व्यवसाय प्रारम्भ करने के लिये एक नई शुरूआत के तौर पर देखा जा सकता है।

No comments