Breaking News

सरकार का ऐतिहासिक क़दम,किसान के कल्याण के लिए सरकार समर्पित— इन्द्र शरण चौहान सीधी



भारत न्यूज लाइव 24 हर खबर आप तक (M.P. क्राइम हेड) धीरेंद्र पांडेय सीधी




कांग्रेस शुरू से ही देश के किसानों को कानून के नाम पर अनेक बंधनों से जकड़ रखा है। आज तक तो किसानों के हित में कोई फैसला ना तो लिया और ना ही लेने दे रही है ।आज की मोदी सरकार ले रही है तो किसानों को गुमराह करते हुए घड़ियालू आंसू बहा रही है। अलाउद्दीन खिलजी द्वारा रचित और अंग्रेजों द्वारा पोषित मंडी कानून किसानों के लिए अभिशाप था। क्योंकि इसके द्वारा किसान अपनी उपज मंडी में देने के लिए बाध्य था। भारतीय जनता पार्टी की मोदी सरकार किसानों की आय दुगनी करने के लिए वचनबद्ध है।
उक्त आशय के विचार पत्रकार वार्ता में भारतीय जनता पार्टी के जिला अध्यक्ष इंद्र शरण सिंह चौहान ने व्यक्त किए। श्री चौहान ने कहा कि देश में एमएसपी व्यवस्था समाप्त नहीं होगी, बल्कि कृषि सुधार के नए विधेयकों से किसान और सशक्त और समृद्ध साली होगा ।कांग्रेस ने किसानों को सशक्त बनाने के बजाय अभी तक अपना गुलाम बना करके रखा था। 55 साल में कांग्रेस में किसानों का कभी कर्ज माफ नहीं किया। जहां किया भी तो उस में भारी घोटाला करते हुए अपनी तिजोरी भरी, जबकि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किसान सम्मान निधि के तहत किसानों को 92000 करोड रुपए से अधिक की राशि उनके खाते में डाल कर दृढ़ इच्छाशक्ति का उदाहरण प्रस्तुत किया ।
कृषि सुधार विधेयक से बढ़ेगा मुनाफ, अन्नदाता होंगे सशक्त
कृषि उपज मंडी सीधी में लंबे समय तक निर्वाचित प्रतिनिधि के रूप में जनता की सेवा करने वाले भाजपा जिला अध्यक्ष श्री चौहान ने कहा कि मैं मंडी व्यवस्था से परिचित हूं। कृषि उपज व्यापार और वाणिज्य विधेयक के माध्यम से किसानों को अपनी उपज बेचने के लिए नए नए अवसर मिलेंगे। जिसके कारण उनका मुनाफा बढ़ेगा। इससे कृषि क्षेत्र को जहां आधुनिक टेक्नोलॉजी का लाभ मिलेगा वहीं, अन्नदाता सशक्त होंगे।न्यूनतम समर्थन मूल्य और सरकारी खरीद की व्यवस्था बनी रहेगी।यह विधेयक किसानों को अपनी फसल के भंडारण और बिक्री की आजादी देगा ।बिचौलियों के चंगुल से उन्हें मुक्त रखेगा।
किसान उपज व्यापार एवं वाणिज्य विधेयक की खास बात
भाजपा जिला अध्यक्ष श्री चौहान ने विधायक की खास बातों को बताते हुए कहा कि किसान कानूनी बंधनों से अब आजाद हो गए हैं। बिल लोकसभा और राज्यसभा से पारित होकर राष्ट्रपति के हस्ताक्षर के बाद किसानों को समर्पित होगा। किसानों के पास मंडी में जाकर लाइसेंसी व्यापारियों को ही अपनी उपज बेचने की व्यवस्था नहीं होगी। जब किसान अपनी मर्जी का मालिक होगा ,किसानों को उपज बेचने का विकल्प उन्हें सशक्त बनाएगा ।किसान किसी भी राज्य की सीमा में रहकर किसी भी राज्य में अपनी फसल की बिक्री कर सकेगा ।केंद्र सरकार किसानों के लिए कृत संकल्पित है।
किसान की आय अब दुगनी होगी, इसमें कोई संशय की बात नहीं

प्रदेश प्रतिनिधि के नाते जिला अध्यक्ष श्री चौहान ने कहा कि कृषक सशक्तिकरण व संरक्षण अधिनियम से कृषि के क्षेत्र में रिसर्च एवं डेवलपमेंट को प्रोत्साहन मिलेगा।आवश्यक वस्तु अधिनियम विधेयक से कृषि क्षेत्र में संपूर्ण आपूर्ति श्रंखला को मजबूत बनाया जाएगा। किसान मजबूत होगा और निवेश को बढ़ावा मिलेगा ।इससे उत्पाद सीमा आवाजाही वितरण व आपूर्ति की आजादी भी मिलेगी। बिक्री से अर्थव्यवस्था और सुदृढ़ होगी।

किसानों झूठ से सावधान भाजपा जिला अध्यक्ष श्री चौहान ने कहा कि किसान भाइयों विपक्षऔर कांग्रेस के झूठों से सावधान रहने की जरूरत है। यह केवल अफवाह फैला सकते हैं, भला नहीं कर सकते ।इस बिल का न्यूनतम समर्थन मूल्य से कोई लेना देना नहीं है ।मंडी व्यवस्था पहले की तरह जारी रहेगी। कृषि बिल किसानों की आजादी के लिए है। वन नेशन ,वन मार्केट से किसान अपनी फसल स्वतंत्रता पूर्वक बेच सकता है।बिल में किसानों की जमीन की बिक्री ,लीज, गिरवी पूरी तरह से निषिद्ध है। करार फसलों का होगा, ना कि जमीन का ।कई राज्यों में किसान सफलतापूर्वक बड़े कोऑपरेटिव के साथ, गन्ने, कपास ,चाय ,काफी आदि उत्पाद अपने हिसाब से बेच रहे हैं।
किसानों के लिए प्रतिबद्ध मोदी सरकार  जिला अध्यक्ष श्री चौहान ने कहा कि भाजपा की सरकार केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की और राज्य में शिवराज सिंह की सरकार किसानों के विकास के लिए प्रतिबद्ध और समर्पित है। यूपीए के समय कृषि का बजट ₹12000 करोड रुपए था जिसे मोदी प्रधानमंत्री बनते ही इसे 134000 करोड रुपए कर दिया, जो अपने आप में रिकॉर्ड है  किसान सम्मान निधि में 92000 करोड किसानों के खाते में सीधे भेजे गए। आत्मनिर्भर पैकेज से कृषि के क्षेत्र के लिए एक लाख करोड़ रुपए दिए गए। मध्यप्रदेश में कांग्रेस राज में जहां किसानों को 18% ब्याज पर कर्ज मिलता था वही शिवराज सरकार ने 0% ब्याज पर कर्ज दिया। किसानों का मुनाफा दुगुना

भाजपा जिला अध्यक्ष श्री चौहान ने कहा कि नए अध्यादेश आने से किसानों का मुनाफा दुगुना होगा। जैसे गेहूं का मुनाफा 106 फीसदी,चना मसूर 78 फीसदी,सरसों 93 फीसदी से अधिक मुनाफा हो गया है अर्थात आय अधिनियम के आते ही दुगुन हो गईं इस अवसर  उपाध्यक्ष सुधीर शुक्ला,नगर पालिका के पूर्व उपाध्यक्ष जितेन्द्र सिंह चौहान,जिला मीडिया प्रभारी सुरेंद्र मणि दुबे,युवा मोर्चा के जिला अध्यक्ष प्रमोद द्विवेदी,मंडल अध्यक्ष देव कुमार सिंह चौहान,बाबूलाल कुशवाहा,राकेश मौर्य,मनोज तिवारी, अजीत सिंह चंदेल,अजीत पांडे सहित अनेक कार्यकर्ता उपस्थित रहे है

No comments