Breaking News

समय-सीमा बैठक सम्पन्न सीधी कलेक्टर रविंद्र कुमार चौधरी👇👇




भारत न्यूज़ लाइव 24 हर खबर आप तक संवाददाता  धीरेंद्र पांडेय (M.P. क्राइम हेड) सीधी

-------
पीएम किसान तथा मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना के क्रियान्वयन में लापरवाही पर होगी कड़ी कार्यवाही - कलेक्टर श्री चौधरी
-------

   समय सीमा पत्रों की समीक्षा करते हुए कलेक्टर रवींद्र कुमार चौधरी ने निर्देशित किया है कि जिले के समस्त पात्र कृषकों को अभियान चलाकर पीएम किसान तथा मुख्यमंत्री किसान कल्याण योजना से लाभान्वित किया जाना सुनिश्चित करें। कलेक्टर श्री चौधरी ने कहा कि जिले के कुछ स्थानों से योजना से लाभान्वित करने के नाम पर अनियमितता की शिकायतें प्राप्त हो रही हैं। उन सभी शिकायतों की जांच की जाएगी तथा अनियमितता पाए जाने पर दोषी कर्मचारियों के विरुद्ध कड़ी अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी। उन्होंने समस्त उपखंड अधिकारियों को निर्देशित किया है कि उक्त योजनाओं के क्रियान्वयन में कड़ी निगरानी रखें तथा सभी पात्र कृषकों को योजना का लाभ दिलाया जाना सुनिश्चित करें। कलेक्टर श्री चौधरी द्वारा कृषकों से भी अपील की गई है कि यदि कोई कर्मचारी उक्त योजना का लाभ देने के नाम पर अनावश्यक परेशान करता है, तो तत्काल उसकी सूचना सम्बंधित तहसीलदार एवं उपखंड अधिकारी को देंवे। इस प्रकार की अनियमितता पाए जाने पर दोषी कर्मचारियों के विरुद्ध कड़ी अनुशासनात्मक कार्यवाही की जाएगी।

  कलेक्टर श्री चौधरी ने समस्त उपखंड अधिकारियों को निर्देशित किया है कि विभिन्न विभागों को आवंटित शासकीय भूमियों की उपयोगिता की जांच कर यह सुनिश्चित कर लें कि आवंटित भूमि का उपयोग निर्धारित कार्यों के लिए किया जा रहा है तथा उक्त भूमि में किसी प्रकार का अतिक्रमण नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने पात्रता पर्ची हेतु पात्र सभी व्यक्तियों की आधार सीडिंग का कार्य शत-प्रतिशत पूर्ण करने तथा खरीफ उपार्जन हेतु सभी कृषकों के पंजीयन की कार्यवाही निर्धारित समय -सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिए हैं। कलेक्टर श्री चौधरी द्वारा आजीविका मिशन को छात्र-छात्राओं के गणवेश निर्माण का कार्य गुणवत्ता को ध्यान में रखते हुए निर्धारित समय-सीमा में पूर्ण करने के निर्देश दिए गए हैं।

  कलेक्टर श्री चौधरी द्वारा सीएम हेल्पलाइन में दर्ज शिकायतों के निराकरण की विभागवार विस्तृत समीक्षा की गयी। उन्होंने कहा कि हितग्राही मूलक शिकायतों का प्राथमिकता के आधार पर निराकरण किया जाये। राहत आदि संबंधी प्रकरणों को अनावश्यक लंबित नहीं रखा जाये। ऐसे प्रकरणों में अधिकारी स्वयं मौके पर जांच कर हितग्राही को संतुष्ट करते हुए शिकायत को विलोपित करायें। कलेक्टर श्री चौधरी ने कहा कि सभी अधिकारियों को संवेदनशीलता से कार्य करने की आवश्यकता है। अधिकारी सकारात्मक दृष्टिकोण के साथ कार्य करें। क्षेत्र का अधिक से अधिक भ्रमण करें तथा हितग्राहियों से नियमित संवाद बनाकर रखें। ऐसा करने से न केवल लोगों के बीच शासन एवं प्रशासन की अच्छी छवि बनेगी बल्कि लोंगों को राहत मिलेगी।

  बैठक में अपर कलेक्टर हर्षल पंचोली, मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत आर के शुक्ल सहित समस्त उपखंड अधिकारी एवं संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित रहे।

No comments