Breaking News

कमिश्नर शहडोल✍️संभाग श्री नरेश पाल की अध्यक्षता में बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व स्थानीय सलाहकार समिति की बैठक संपन्न हुई

भारत न्यूज़ लाइव 24 हर खबर आप तक संवाददाता (M.P. क्राइम हेड) धीरेंद्र पांडेय सीधी👇👇👇

❇ बांधवगढ़ नेशनल पार्क में नाइट सफारी एवं टाइगर सफारी होगा प्रारंभ

❇ बांधवगढ़ नेशनल पार्क क्षेत्र में सोशल डिस्टेंसिंग का सख्ती से पालन सुनिश्चित किया जाएं- कमिश्नर

❇ बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व स्थानीय सलाहकार समिति की बैठक में लिये गए महत्वपूर्ण निर्णय

कमिश्नर शहडोल संभाग श्री नरेश पाल  की अध्यक्षता में बुधवार को बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व स्थानीय सलाहकार समिति की बैठक सम्पन्न हुई।  बैठक में बांधवगढ़ नेशनल पार्क क्षेत्र में नाइट सफारी, टाइगर सफारी प्रारंभ करने तथा स्थानीय ग्रामीणों को वनोपज और पर्यटन पर आधारित रोजगार मुहैया कराने के प्रस्तावों का अनुमोदन सर्वसम्मति से किया गया।  बैठक में क्षेत्र संचालक बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व श्री विंसेंट रहीम, वन सरंक्षक एवं पदेन वनमण्डलाधिकारी श्री आरएस सिकरवार, उप संचालक बांधवगढ टाइगर रिजर्व श्री सिद्वार्थ गुप्ता एवं अन्य सदस्य उपस्थित रहें।
      
बैठक में क्षेत्र संचालक बाधंवगढ टाइगर रिजर्व श्री विंसेंट रहीम द्वारा बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व स्थानीय सलाहकार समिति की जनवरी माह में हुई बैठक में लिये गए  निर्णयों का प्रतिवेदन प्रस्तुत किया गया। उन्होने बताया कि 1 अक्टूबर 2020 से बाधंवगढ टाइगर रिजर्व नेशनल पार्क पर्यटकों के लिये खोला जाएगा। बैठक में कमिश्नर ने कहा कि बांधवगढ टाइगर रिजर्व में पर्यटकों को कोरोना से बचावं के उपायो का पालन सुनिश्चित किया जाएं तथा शासन द्वारा जारी निर्देशों का सख्ती से पालन सुनिश्चित किया जाए। टाइगर रिजर्व क्षेत्र मे किसी भी पर्यटक को बैगर मास्क एवं सेनेटाईजिंग के बैगर प्रवेश नही दिया जाएं। बैठक में क्षेत्र संचालक बाधंवगढ टाइगर रिजर्व ने बताया कि बांधवगढ टाइगर रिजर्व क्षेत्र में 15 से 30 जून तक पर्यटन वापस प्रारंभ किया गया था जिसमें स्वास्थ्य विभाग के सहयोग सेे पर्यटकों की स्क्रीनिंग की गई।

 उन्होंने बताया कि 1 अक्टूबर से पर्यटन प्रारंभ होने पर बांधवगढ टाईगर रिजर्व क्षेत्र में सोशल डिस्टंेसिंग का सख्ती से पालन किया जाएगा। पर्यटकों को मास्क लगाने के लिये बाध्य किया जाएगा, सोशल डिस्टेसिंग का पालन कराया जाएगा तथा कोरोना से बचाव हेतु भारत सरकार द्वारा दिये गए दिशा निर्देशो का सख्ती से पालन कराया जाएगा। बैठक में क्षेत्र संचालक बांधवगढ टाइगर रिजर्व ने बताया कि बांधवगढ टाइगर रिजर्व क्षेत्र में टाइगर सफारी पनपथा जोन में एमपी थियेटर एवं नाइट सफारी प्रारंभ किये जा रहे हैं, वहीं  जोहिला क्षेत्र में वाटर फाॅल का विकास करने तथा आदिवासी कल्चर पर म्यूजियम तैयार करने के प्रयास किये जा रहे है।

 बैठक में कमिश्नर ने सुझावं दिया कि बांधवगढ टाईगर रिजर्व क्षेत्र में फारेस्ट की थीम पर लाईटिंग एवं म्यूजिक स्पाॅट भी तैयार किया जाएं।  बैठक में कमिश्नर ने सुझावं दिया कि बांधवगढ टाईगर रिजर्व क्षेत्र में वनोपज पर आधारित उत्पादो को प्रोत्साहित किया जाएं तथा कोदो, कुटकी की मार्केंिटंग हेतु स्व सहायता समूहों को दायित्व सौंपा जाएं। बैठक में सरपंच ताला सहित अन्य सदस्यो ने बांधवगढ टाईगर रिजर्व क्षेत्र के गांवों में हाथियों द्वारा फसलों को किये जा रहे नुकसान के संबंध में जानकारी दी गई। 

सदस्यों का कहना था कि, हाथियों के झुण्ड द्वारा फसलों को की जा रही हानि की मुआवजा राशि का भुगतान के अधिकार वन विभाग के अधिकारियेां को दिए जाएं, इससे मुआवजा राशि का भुगतान किसानों को जल्दी होगा। सदस्यो के सुझावं पर कमिश्नर ने कहा कि इस संबधं में शासन को पत्र लिख कर वस्तुस्थिति से अवगत कराया जाएगा। बैठक में बांधवगढ टाइगर रिजर्व क्षेत्र में नाइट टूरिज्म सीमित स्तर पर प्रांरभ करने पर भी चर्चा की गई।

No comments