Breaking News

✍️✍️बोधगया के कोशिला गांव में रास्ता को लेकर हुई वाद विवाद गुहार लगाई पत्रकारों के बीच🔷🔷🔷👇




बोधगया के कोशिला गांव में रास्ता को लेकर हुई बात विवाद, गुहार लगाई पत्रकारों के बीच l
दिनेश पंडित
 बोधगया-  गया जिले के बोधगया प्रखंड अंतर्गत अतिया पंचायत के कोशिला ग्राम में रास्ता को लेकर वाद विवाद एवं मारपीट करने का मामला पत्रकारों के बीच प्रकाश में आया है l इस संबंध में पीड़ित अतिया पंचायत के कोशिला ग्राम निवासी - रीता पांडे पति-  उमेश पांडे ने आपबीती दुखड़ा सुनाते हुए पत्रकारों के बीच रोते बिलखते हुए बातों को कही l पीड़ित रीता पांडे पति-  उमेश पांडे की बात सच मानी जाए तो कहना है कि मेरे भैंसूर, देवर एवं जाउट मेरे घर की रास्ता को अवरुद्ध कर दिया है l तथा कटीला पौधा लगा दिया गया हैl जिससे आने जाने में काफी कठिनाई का सामना करना पड़ता है l उन्होंने आगे कहा कि 5 फीट जमीन रास्ता को लेकर पंचायत सचिव, थाना एवं पंचायत आईओ , जिला पदाधिकारी गया, अंचल कार्यालय बोधगया तथा विभिन्न पदाधिकारियों के बीच जाकर गुहार लगा चुकी हूं l परंतु किसी जगह से मुझे इंसाफ नहीं मिल सका l विवश होकर समस्या का निदान करने हेतु  पत्रकारों के बीच गुहार लगाने के लिए पहुंची हूं l रीता पांडे बताती है कि मेरे पति प्राइवेट ड्राइवर का काम करते हैं l वह घर पर नहीं रहते l घर पर सिर्फ मेरी बेटी एवं पुत्र रहा करता है l जिसका लाभ उठाकर भैंसूर, देवर एवं जाउट मेरे साथ मारपीट, गाली-  गलौज करते हुए  हाथापाई  पर उतर आते हैं l तथा जान मारने की धमकी देते हैं l जिसके कारण पूरे परिवार दहशत में जीने को मजबूर हैं l श्रीमती रीता पांडे ने आगे कहा कि उक्त समस्या को लेकर मगध विश्वविद्यालय बोधगया थाने में पहुंचे, और शिकायत आवेदन देकर जान बचाने की गुहार लगाते हुए समस्या का निदान करने की बात कहीं l लेकिन मेरे शिकायत आवेदन पर थानेदार द्वारा कोई करवाई नहीं किया गया l जिससे मैं काफी चिंतित हूं l वहीं दूसरी तरफ रीता पांडे के पति उमेश पांडे ने संवाददाता को दुखड़ा सुनाते हुए कहा कि समस्या का निदान को लेकर पंचायत  के आईओ सुनीता देवी के पास गया था l मुझसे ₹100 की मांग की गई l मैंने रुपए भी दिया lपरंतु समस्या का निदान करने की जगह सुनीता देवी के पति - संजय पासवान द्वारा मुझे फटकार लगाते हुए कार्य न करने की बात कही l वहीं दूसरी तरफ ग्रामीणों की बात सच मानी जाए तो कहना है कि रास्ता को लेकर काफी दिनों से विवाद है लेकिन समस्या का निदान नहीं हो सका है l इसका मुख्य कारण है कि जिसकी लाठी उसकी भैंस वाली कहावत चरितार्थ  दिखती है l अब देखना है कि पत्रकारों  के बीच महिला को गुहार लगाने के वाद इंसाफ मिल पाता है या नहीं यह तो आने वाला वक्त बताएगा l लेकिन जिस प्रकार से महिला के बीच रास्ता को लेकर घटित घटना प्रकाश में आया है वह कहीं से भी उचित ठहराया नहीं जा सकता l रीता पांडे ने जिला प्रशासन, पुलिस प्रशासन एवं स्थानीय प्रशासन से समस्या को शीघ्र निदान करने की मांग की है l

No comments