Breaking News

सुपौल में युवक की हत्या कर शव को पानी मे फेका गुस्साए लोगों ने हाईवे जाम किया👇


👉सुपौल में युवक की हत्या कर शव को पानी में फेंका, गुस्साए लोगों ने हाइवे जाम किया।

सुपौल बिहार

भारत न्यूज लाइव 24

रिपोर्टर अमीर आजाद

सुपौल/बिहार में लगातार हत्या, बलात्कार एवं भू- माफियाओं के बुलन्द हो रहे हौसले से अपराधिक मामला बढ़ता नजर आ रहा है। हालात के आईने में देखा जा रहा है, कि बिहार में अपराधियों के आगे कानून, पुलिस प्रशासन मूक-दर्शक बनकर रह गया है। सरकार में रह कर सरकार की नुमाइंदगी करने वाले जब खुद सुरक्षित नहीं है, तो आम जनता कैसे सुरक्षित रहेगी। इससे पहले भी कई अपराधिक मामले बिहार वासियों को झेलने पड़े हैं। हालातों पर ध्यान दें तो अपराधियों के बढते दु:साहस सुशासन की कथनी और करनी में बडा फर्क कराते नजर आता है। सरकार की अफसरशाही तंत्र कि फितरत एक मायने में आम जनता के लबों पर ताला जकडने का काम किया है। ऐसे में पुलिस-प्रशासन को मालूम रहने के बावजूद भी सटीक कार्रवाई के लिए उस पर कोई ठोस कदम उठाने में क्यों मुश्किलों का सामना करने की मजबूरी बनते जा रही है। शायद जनता के अमन-चैन के भागीदार इन सरकारी मशीनरीयों पर सफेदपोश चादरों का नकाब ओढा दी गई है। जो बिहार के बिगडे तंत्रों से जुडी सरकारों में ऐसा कभी नहीं महसूस किया गया। अफसरशाही के चढे परवान के दावानल में आमजन झुलसने लगे हैं। यदि सूबे में कोई वरिय अधिकारी कुछ करना भी चाहे तो कागजी खानापूर्ती का चिराग जला प्रदेश को रौशन करनेवाली इस सरकार के नीतिगत तौर-तरीकों के आगे वैसे अधिकारियों का प्रयास अकेला चना भाड नहीं फोड सकता वाली कहावत को चरीतार्थ करने का संकेत देता है। जनता का कहना है इसीलिए भी सूबे बिहार में अपराधिक स्थिति बिगड़ती नजर आ रही है। गौरतलब है कि सुपौल जिला
के पिपरा बाजार के लिए सोमवार की शाम निकले एक युवक की हत्या कर उसके शव को पानी भरे गड्ढे में फेंक दिया गया। शव को छुपाने की नियत से उसके उपर उसकी बाइक भी रख दी।

मंगलवार को कुछ लोगों ने युवक का शव देखा तब इसका खुलासा हुआ। मृतक विमलेश झा (40) पिपरा थाना क्षेत्र के वार्ड 8 बेलही का रहने वाला था। घटना के विरोध में परिजनों और ग्रामीणों ने शव को महावीर चौक पर रखकर एनएच 107 और 106 को जाम कर दिया। कड़ी मशक्कत के बाद दोपहर लगभग डेढ़ बजे जाम समाप्त हुआ।

No comments