Breaking News

✍️✍️✍️✍️स्वस्थ धरा खेत हरा के लिए आवश्यक है किसानों के खेतों की मिट्टी की जांच डॉ, प्रेम कुमार
🔷🔷🔷👇👇👇




‘स्वस्थ धरा खेत हरा’ के लिये आवष्यक है किसानों के खेतों की मिट्टी की जाॅच- डा॰ प्रेम कुमार* 
(पटना 31.08.2020)
रिपोर्टः 
दिनेश कुमार पंडित
पटना से
बिहार के डाॅ॰ प्रेम कुमार, माननीय मंत्री, कृषि, पशुपालन एवं मत्स्य संसाधन विभाग, बिहार ने राज्य के सभी जिलों के मृदा स्वास्थ्य कार्ड धारी किसानों से वर्चुअली कनेक्ट होकर सीधा संवाद किया। माननीय मंत्री ने किसानों से मृदा स्वास्थ्य योजना अन्तर्गत बनाये जा रहे मृदा स्वास्थ्य कार्ड से खेती में होने वाले फायदों के बारे में किसानों से जानकारी लिया। किसानों ने माननीय मंत्री को बताया कि मृदा स्वास्थ्य कार्ड बनने जाने से उन्हें किसी फसल विषेष में दिये जाने वाले उर्वरकों की मात्रा की जानकारी मिल जाती है। जिससे संतुलित उर्वरकों का व्यवहार करने से उनके खेती करने की लागत घटती है, उपज की गुणवत्ता में भी सुधार होता है और मिट्टी का स्वास्थ्य भी बना रहता है, साथ पर्यावरण भी सुरक्षित रहता है।
माननीय मंत्री महोदय ने कहा कि मिट्टी की उपज देने की क्षमता को बनाये रखने के लिये उसमें 17 प्रकार के पोषक तत्वों का संतुलित अवस्था में होना अति आवष्यक होता है। मिट्टी जाॅच के अभाव में किसानों द्वारा यूरिया जैसे उर्वरकों का अधिक प्रयोग किया जाता है एवं अन्य जैव उर्वरक तथा जैविक खाद जैसे हरी खाद, वर्मी कम्पोस्ट, गोबर की खाद आदि का प्रयोग बहुत कम या नहीं करने से धीरे-धीरे मिट्टी का स्वास्थ्य एवं पर्यावरण दोनो पर बुरा प्रभाव पड़ रहा था। इसको देखते हुये माननीय प्रधानमंत्री, श्री नरेन्द्र मोदी जी ने 2015 में मृदा स्वास्थ्य योजना का शुभारम्भ किया। योजना के पहले चरण 2015 से 2017 के बीच में गया जिला मे 1,76,092 मृदा स्वास्थ कार्ड, दूसरे चरण में 2017 से 2019 तक 132563 मृदा स्वास्थ्य कार्ड बनाकर किसानों को वितरित कराये गये। इस वर्ष योजना का स्वरुप परिवर्तित करके प्रत्येक प्रखण्ड में 17 गाॅवों का चयन कर हर गाॅव में 01 हेक्टेयर का मृदा स्वास्थ्य कार्ड आधारित प्रत्यक्षण कार्यक्रम आयोजित कराया जा रहा है। इस वर्ष 5836 मृदा स्वास्थ्य कार्ड बनवा कर किसानों को वितरित किये गये हैं। माननीय मंत्री महोदय ने कहा कि आने वाले समय में किसानों को उर्वरक उनके मिट्टी के मृदा स्वास्थ कार्ड को देखकर ही पी॰ओ॰एस॰ मषीन से दिया जायेगा।
गया जिला से आमस एवं नगर प्रखण्ड के 20-20 किसानों ने कार्यक्रम में भागीदारी किया। सहायक निदेषक, रसायन, मिट्टी जाॅच श्री ललन कुमार सुमन ने बताया कि नगर प्रखण्ड के घुटिया पंचायत के किसान श्री जितेन्द्र कुमार बमबम एवं आमस प्रखण्ड के किसान श्री सतेन्द्र प्रसाद ने माननीय मंत्री से सीधा संवाद करके मृदा स्वास्थ्य कार्ड के लाभ की जानकारी दिया। नगर प्रखण्ड से प्रखण्ड कृषि पदाधिकारी, श्री विजय रजक, कृषि समन्वयक श्री राकेष कुमार एवं आमस प्रखण्ड के प्रखण्ड कृषि पदाधिकारी श्री सुषील कुमार एवं कृषि समन्वयक श्री राजीव ने आॅन लाईन भाग लिया।

No comments