Breaking News

✍️मैट्रिक पास बेरोजगारों को उर्वरक बेचने का रोजगार के अवसर प्रदान करने के उद्देश्य से माननीय मंत्री डॉ प्रेम कुमार ने प्रमाण पत्र का किया वितरण🔷🔷🔷👇👇👇👇






मैट्रिक पास बेरोजगारों को उर्वरक बेचने का रोजगार के अवसर प्रदान करने के उद्देष्य से मानननीय मंत्री, डा॰ प्रेम कुमार ने प्रमाण-पत्र का किया वितरण*
(दिनांक 26.08.2020)
रिर्पोट
दिनेश कुमार पंडित
पटना
बिहार में डाॅ॰ प्रेम कुमार, माननीय मंत्री, कृषि, पशुपालन एवं मत्स्य संसाधन विभाग, बिहार ने संयुक्त कृषि भवन, बाजार समिति परिसर, चन्दौती, गया के सभाकक्ष में आत्मा, गया द्वारा आयोजित सर्टिफिकेट कोर्स आॅन इंटिग्रेटेड न्यूट्रिऐन्ट मैनेजमेन्ट (CCINM) पाठ्यक्रम को सफलतापूर्वक पूरा करने वाले 59 वर्तमान एवं भावी उर्वरक विक्रेताओं को मैनेज हैदराबाद द्वारा निर्गत प्रमाणपत्र का वितरण अपने कर कमलो से किया। 
कार्यक्रम में प्रमाण-पत्र वितरण के बाद माननीय मंत्री महोदय ने कहा कि वर्तमान में खेती की लागत को घटाना और किसानों की आय को बढ़ाने के लिये सरकार कृतसंकल्पित है। किसानों के द्वारा रसायनिक उर्वरकों का असन्तुलित व्यवहार करने से खेती योग्य मिट्टी की उर्वरा शक्ति कमजोर हो रही है। ऐसे में रसायनिक उर्वरकों के साथ ही जैविक उर्वरकों को किसानों को प्रयोग करने के लिये प्रोत्साहित एवं जागरुक करने की महति आवष्यकता है। इसी को ध्यान में रखकर केन्द्र सरकार ने उर्वरक विक्रेताओं एवं मैट्रिक पास बेरोजगार युवकों को उर्वरक बिक्री का रोजगार के अवसर प्रदान करने के लिये राष्ट्रीय कृषि विस्तार प्रबंधन संस्थान (मैनेज) हैदराबाद के माध्यम से 15 दिवसीय प्रषिक्षण कार्यक्रम हेतु पाठ्यक्रम तैयार कराकर प्रषिक्षण प्रारम्भ कराया है। राज्य स्तर पर बामेती को इस कार्यक्रम को जिला में स्थित आत्मा अथवा कृषि विज्ञान केन्द्र के माध्यम से आयोजित कराया जा रहा है। 
माननीय मंत्री ने कहा कि इस पाठ्यक्रम में पंजीकृत होने के लिये मैट्रिक परीक्षा उतीर्ण होना आवष्यक है। पाठ्यक्रम के लिये केन्द्र सरकार द्वारा 12500 रुपये का शुल्क निर्धारित किया गया है। आवेदन भरते समय मैट्रिक उत्तीर्ण बेरोजगार युवक युवतियों को मात्र मैट्रिक सर्टिफिकेट की छायाप्रति, आधार एवं दो फोटो संलग्न कर विहित प्रपत्र में आवेदन आत्मा कार्यालय में समर्पित करना होता है, वहीं अनुज्ञप्तिधारी उर्वरक विक्रेताओं को प्रषिक्षण हेतु इसके अतिरिक्त अनुज्ञप्ति की छायाप्रति संलग्न करना होता है। माननीय मंत्री महोदय ने सभी सफल प्रषिक्षणार्थियों को भविष्य को लिये शुभकामनायें दिया।
आज आयोजित कार्यक्रम में माननीय मंत्री के कर कमलों से उद्यान कार्यालय गया की दो योजनाओं का उद्घाटन एवं षिलान्यास किया गया। जिसमें पहली योजना 25 लाख की लागत से बाजार समिति प्रांगण में बनने वाली अपनी मंडी (पान मंडी) का षिलान्यास एवं दूसरी योजना 18 लाख 75 हजार रुपये के अग्रिम पंक्ति प्रत्यक्षण का उद्घाटन है। 
मौके पर कार्यक्रम में श्री रतन कुमार भगत, संयुक्त निदेषक, शष्य, मगध प्रमण्डल, श्री सुदामा महतो, जिला कृषि पदाधिकारी, गया, श्री राकेष कुमार, उप निदेषक, उद्यान, मगध प्रमण्डल, डा॰ राजीव सिंह, मुख्य वैज्ञानिक-सह-प्रधान कृषि विज्ञान केन्द्र, मानपुर, गया श्री शषांक कुमार, सहायक निदेषक, उद्यान, गया एवं कार्यक्रम के आयोजनकर्ता श्री रविन्द्र कुमार, परियोजना निदेषक, आत्मा, गया सहित श्री नीरज कुमार वर्मा, उप परियोजना निदेषक, आत्मा, गया तथा प्रगतिषील किसान, किसान उत्पादक संगठन के सदस्य आदि उपस्थित थे।

No comments