Breaking News

✍️प्रधान सचिव स्वास्थ्य विभाग के प्रत्यय अमृत द्वारा कोविड 19 संक्रमण भ्रमण गया


👉प्रधान सचिव स्वास्थ्य विभाग की प्रत्यय अमृत द्वारा कोविड19 संक्रमणभ्रमण
गया, 19 अगस्त 2020,
बिहार में
प्रधान सचिव, स्वास्थ्य विभाग, श्री प्रत्यय अमृत द्वारा आज कोविड-19 संक्रमण के मद्देनजर गया जिला का भ्रमण कर जिले के विभिन्न कोविड अस्पतालों एवं डेडीकेटेड कोविड हेल्थ केयर सेंटर की स्थिति का जायजा लेते हुए संबंधित पदाधिकारी एवं चिकित्सकों को आवश्यक निर्देश दिया गया।
प्रधान सचिव स्वास्थ्य विभाग द्वारा अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल के सभागार में आयुक्त, मगध प्रमंडल गया श्री असंगबा चुबा आओ, जिला पदाधिकारी गया श्री अभिषेक सिंह, वरीय पुलिस अधीक्षक श्री राजीव मिश्रा, अधीक्षक एवं प्राचार्य अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल, सिविल सर्जन गया एवं अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल के चिकित्सकों के साथ बैठक करते हुए जिले में कोविड संक्रमण से संबंधित इलाज कंटेनमेंट जोन, सैंपल टेस्टिंग, मेडिकल कॉलेज में आवश्यक उपकरणों, चिकित्सकों, दवाओं एवं सुविधाओं की उपलब्धता इत्यादि कार्यों के संबंध में विचार विमर्श किया गया। बैठक में जिलाधिकारी द्वारा प्रधान सचिव स्वास्थ्य विभाग को जिले में कोविड-19 से संबंधित किए जा रहे प्रभावी उपायों, मरीजों का इलाज, खानपान, सैंपल टेस्टिंग, अस्पतालों में दी जा रही सुविधाओं को विस्तार से बताया।
जिलाधिकारी ने प्रधान सचिव सहित सचिव स्वास्थ्य विभाग श्री लोकेश कुमार सिंह, निदेशक सूचना एवं जनसंपर्क विभाग श्री प्रदीप कुमार झा इत्यादि वरिष्ठ पदाधिकारियों का स्वागत करते हुए बताया कि जिले में अब तक 83702 सैंपल टेस्ट किए गए हैं, जिसमें आरटीपीसीआर के माध्यम से 15203, ट्रू-नेट के माध्यम से 5971 तथा रैपिड एंटीजन के माध्यम से 62528 सैंपल जांच किए गए हैं। जिले में अब तक 3637 पॉजिटिव केस प्राप्त हुए हैं, जिसमें 2998 मरीज स्वस्थ होने पर उन्हें डिस्चार्ज कर दिया गया है। 17 से 18 अगस्त तक जिले में मात्र 85 पॉजिटिव केस थे। उन्होंने बताया कि नगर निगम शहरी क्षेत्र में अधिक पॉजिटिव केस पाए गए हैं तथा 223 केस मोहनपुर प्रखंड में पाए गए हैं।
उन्होंने बताया कि जिले में 35 लोग की मृत्यु कोविड संक्रमण के कारण हुई है। जिलाधिकारी ने बताया कि जिले में 35 एक्टिव कंटेनमेंट जोन है तथा 41 इनएक्टिव कंटेंनमेंट जोन है। कुल मिलाकर गया जिले में 76 कंटेनमेंट जोन है।
उन्होंने बताया कि जिले में कोविड-19 कोषांग की प्रतिदिन प्रभावी बैठक की जा रही है। बैठक में कार्य में आने वाली समस्याओं, दिए गए निर्देश का अनुपालन, सैंपल टेस्टिंग की समीक्षा नियमित रुप से की जा रही है।
बैठक में प्राचार्य अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल द्वारा अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल से संबंधित कार्यों, समस्याओं, चिकित्सकों द्वारा की जा रही कोविड के मरीजों का इलाज इत्यादि के संबंध में विस्तार से बताया। उन्होंने बताया कि अस्पताल में कोविड-19 से संबंधित एल-1, एल-2 एवं एल-3 वार्ड हैं, जो 368 बेड का है तथा 312 ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध है। प्रधान सचिव स्वास्थ्य विभाग द्वारा अस्पताल में भर्ती मरीजों की संख्या कम होने के संबंध में पृच्छा की गई। प्राचार्य द्वारा बताया गया कि लॉकडाउन तथा लोगों में जागरूकता की कमी के कारण कम मरीज अस्पताल में भर्ती हो रहे हैं। प्रधान सचिव द्वारा निर्देश दिया गया कि लोगों में अस्पताल के माध्यम से जांच कराने तथा स्वास्थ्य अधिक बिगड़ने पर अस्पताल में भर्ती होकर इलाज कराने हेतु जागरूकता उत्पन्न करने पर जोर दे। उन्होंने कहा कि सरकारी अस्पताल के प्रति लोगों में जागरूकता अभियान चलाना अनिवार्य है, लोग इलाज हेतु बाहर जा रहे हैं जबकि सरकारी मेडिकल कॉलेज एवं अस्पतालों में उत्कृष्ट इलाज हेतु अच्छे चिकित्सक एवं सुविधा उपलब्ध है। उन्होंने विशेष रूप से युवाओं को सरकारी अस्पताल की सेवा लेने हेतु उन्हें प्रेरित करने पर विशेष बल दिया गया।
प्रधान सचिव द्वारा मरीजों के परिजनों के लिए बनाए गए प्रतीक्षालय का निरीक्षण करते हुए वहां ठहरने वाले लोगों से इलाज, खानपान, सफाई व्यवस्था के बारे में पूछताछ किया गया। लोगों ने बताया कि चिकित्सक एवं पारा मेडिकल स्टाफ द्वारा अच्छा इलाज किया जा रहा है तथा समय-समय पर मरीजों के स्वास्थ्य के बारे में उनके परिजनों को बुलेटिन जारी कर बताया जा रहा है।
प्रधान सचिव द्वारा फ्लू काउंटर का निरीक्षण किया गया तथा एल-2 आइसोलेशन वार्ड में जाकर मरीजों के इलाज, खानपान एवं उनकी समस्याओं को जाना गया।
इसके पश्चात प्रधान सचिव द्वारा गांधी मैदान स्थित 50 बेड का डेडीकेटेड कोविड हेल्थ केयर सेंटर का निरीक्षण किया। जिलाधिकारी द्वारा बताया गया कि सभी बेड के साथ ऑक्सीजन सिलेंडर उपलब्ध कराए गए हैं। उन्होंने शौचालय, चिकित्सक कक्ष का भी निरीक्षण किया। प्रधान सचिव स्वास्थ्य विभाग के साथ आयुक्त मगध प्रमंडल, जिला पदाधिकारी, वरीय पुलिस अधीक्षक, सहायक समाहर्ता, प्राचार्य एवं अधीक्षक अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल, ज़िला जन सम्पर्क पदाधिकारी सहित चिकित्सकगण उपस्थित थे।

No comments