Breaking News

बैंकों पर सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन, खुलेआम उड़ाई जा रहीं धज्जियां

बैंकों पर सोशल डिस्टेंसिंग का अनुपालन, खुलेआम उड़ाई जा रहीं धज्जियां


बैंक पर बैठी पुलिस नाम के लिए कर रही हैं। ड्यूटी सोशल डिस्टेंसिग का नहीं किया जाता हैं।पालन


बलरामपुर/सादुल्ला नगर - बलरामपुर जिले के उतरौला तहसील के अंतर्गत सादुल्ला नगर बाजार में बैंक के बाहर पुलिस के मौजूदगी में सोशल डिस्टेंसिंग की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही हैं। बताते चलें कि जनपद में महामारी कोरोना वायरस कोविड -19 को लेकर जिला प्रशासन अलर्ट है। और जनता के बीच लोगों में सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करने के लिए लगातार सलाह दे रहे हैं। वहीं सादुल्ला नगर बाजार इंडियन बैंक, प्रथमा सर्व यू०पी० ग्रामीण बैंक,अचलपुर चौधरी इंडियन बैंक के बाहर भीड़ लगनी आम बात हो गई है। पुलिस अधीक्षक देव रंजन वर्मा के निर्देशन तथा अपर पुलिस अधीक्षक अरविन्द मिश्र के पर्यवेक्षण में पूरे जनपद में सोशल डिस्टेंसिग का पालन कराया जा रहा है। वहीँ सादुल्ला नगर  क्षेत्र में कुछ और देखने को मिला। स्थानीय थाना सादुल्ला नगर पुलिस द्वारा बैंकों पर बहुत बड़ी लापरवाही की जाती। बैंक पर बैठी पुलिस द्वारा सोशल डिस्टेंसिग पालन कराने का  मजाक बनाया जा रहा है। अलग - अलग ग्राम सभा से आए हुए व्यक्तियों के बीच में पुलिस बैठकर सोशल डिस्टेंसिग धज्जियाँ उड़ने का मजा ले रहीं हैं।
लॉकडाउन में भी जमा निकासी के लिए जिस तरह से बड़ी संख्या में लोग बैंकों में पहुंच रहे हैं। उसके चलते बैंकों के बाहर सोशल डिस्टेसिंग नहीं बन पा रही है। इसके साथ ही जो लोग बैंक पहुंचकर अपना नम्बर आने का इंतजार कर रहे हैं। वे भी एक साथ एक ही स्थान पर बैठकर,लाईन लगाकर शारीरिक दूरी की धज्जियां उड़ा रहे हैं। जानकारों द्वारा समझाने का भी इन पर कोई खास असर नहीं हो रहा है। यहां क्षेत्र के अनेक ग्राम सभा  से आये लोग बैंक के बाहर बगैर शारीरिक दूरी के आस पास बैठे, लाईन में देखे गए। ऐसा लगा कि इन सभी को किसी संक्रमण का यहां कोई भय नहीं है। और न ही इनको कोई यहां इस कृत्य से रोकने वाला है।
लॉकडाउन के बावजूद भी पिछले दिनों से बैंकों में जमा निकासी के लिए भारी भीड़ उमड़ रही है।  यही कारण है कि कस्बे सहित ग्रामीण इलाकों में मौजूद बैंक शाखाओ में सुबह 10 बजे बैंक खुलने से पहले ही यहां बड़ी संख्या में लोग पहुंच जाते हैं।
हालांकि बैंकों के अन्दर तो एक साथ अधिक लोगों को नही जाने दिया जा रहा है लेकिन लोग बाहर परिसर में एक दूजे से चिपके हुए अक्सर देखे जाते है। बैंकों के बाहर यहां कोई नियम न लागू होने से उनमें सोशल डिस्टेसिंग का कोई मायने नहीं हैं। लोग एक दूसरे के बिलकुल पास खड़े होकर सोशल डिस्टेसिंग की धज्जियां उड़ा रहे हैं, और जिम्मेदार सब कुछ जानकर भी यहां अनजान बने नजर आ रहे हैं।

No comments