Breaking News

हृदय एवं अमृत योजना के माध्यम से गया शहर के विकास के कार्य तेजी से हो रहे हैं पूर्ण, गुणवत्तापूर्ण कार्य कराये कार्यान्वयन ऐजेन्सी - डा॰ प्रेम कुमार

*हृदय एवं अमृत योजना के माध्यम से गया शहर के विकास के कार्य तेजी से हो रहे हैं पूर्ण, गुणवत्तापूर्ण कार्य कराये कार्यान्वयन ऐजेन्सी - डा॰ प्रेम कुमार
(दिनांक 23.07.2020)
रिपोर्टः
दिनेश कुमार पंडित

बिहार के गया का स्थान विष्व धरोहर शहरों में है। भगवान विष्णु की यह मोक्ष नगरी पूरे विष्व के लोगों के लिये आस्था का केन्द्र है। प्रत्येक वर्ष यहाॅ लाखों श्रधालु अपने पूर्वजों के श्राद्ध एवं तर्पण के लिये आते हैं। पितृपक्ष मेला में लाखों श्रधालु एक साथ पितरों को तर्पण अर्पित करते हैं ऐसे में गया शहर के आधारभूत विकास को लेकर केन्द्र एवं राज्य सरकार ने बहुत से कार्यक्रम चला रखें हैं। डाॅ॰ प्रेम कुमार, माननीय मंत्री, कृषि, पशुपालन एवं मत्स्य संसाधन विभाग, बिहार -सह- गया नगर विधायक शहर के विकास कार्यो को अन्तर्राष्ट्रीय मानकों के अनुरुप पूर्ण कराने के लिये हमेषा से तत्पर रहें हैं। माननीय मंत्री ने कोरोना वैष्विक महामारी के कारण लाॅक डाउन से इन विकास कार्यो की प्रगति पर क्या प्रभाव पड़ा है और कब तक सभी कार्य पूर्ण हो जायेंगे इन्ही विषयों की जानकारी के लिये नगर आयुक्त श्री सावन कुमार से विडियो कान्फ्रेन्सिंग के माध्यम से सभी विकास कार्यो की प्रगति की जानकारी प्राप्त किया। 
जानकारी लेने के बाद माननीय मंत्री महोदय ने कहा कि विष्णुपद मंदिर एवं घाट का विकास, अक्षयवट परिसर का विकास, ब्रह्मसत एवं वैतरणी सरोवर का विकास, सीताकुण्ड मंदिर परिसर एवं घाट का सौन्दर्यीकरण, पितामहेष्वर सरोवर का सौन्दर्यीकरण, रामकुण्ड, गोदावरी, रामसागर एवं सिंगरा स्थान का विकास एवं सौन्दर्यीकरण कार्य हृदय योजना अन्तर्गत 37 करोड़ 23 लाख की लागत से कराया जा रहा है। धरोहर शहर गया के विकास के लिये केन्द्र सरकार ने राषि उपलब्ध करायी है। इन सभी योजनाओं में लगभग 90 प्रतिषत कार्य पूर्ण हो गया है। इसके अतिरिक्त गया को ग्रीन गया बनाने के लिये गया पटना रोड पर 2 करोड़ 28 लाख की लागत से पार्क का निर्माण कार्य तेजी से हो रहा है जिसमें बाउण्ड्री वाल, टाॅयलेट एवं कैफेटेरिया का निर्माण पूरा हो गया है, घास एवं पौधे लगाने का कार्य शीघ्र पूरा कराये जाने का निर्देष दिया है। गाॅधी मैदान के सौन्दर्यीकरण एवं विकास का कार्य 2 करोड़ 41 लाख की लागत से कराया जा रहा है। मुख्यमंत्री शहरी नाली गली पक्कीकरण निष्चय योजना अन्तर्गत 78 करोड़ 59 लाख की लागत से शहर के सभी 53 वार्डो मे नालियों एवं गली का निर्माण कार्य तेजी से हो रहा है, इस राषि से 740 योजनाओं को लिया गया है जिसमें से 590 योजना पूर्ण हो गयी हैं। 
माननीय मंत्री ने नगर आयुक्त को निर्देष दिया कि गया एक अन्तर्राष्ट्रीय ख्याति का स्थल है जहाॅ देष विदेष से लाखों तीर्थ यात्री हर साल आते हैं, अतः केन्द्र एवं राज्य सरकार के द्वारा उपलब्ध करायी गई राषि से होने वाले विकास कार्यो की गुणवत्ता को अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर कराया जाना सुनिष्चित किया जाय जिससे गया आने वाले यात्री अपने से गया की सुनहरी एवं सुखद यादों को साथ लेकर जायें। उन्होने कहा कि वे इन विकास कार्यो को स्वयं धरातल पर जाकर देखते हैं, आज वे सिंगरा स्थान पर बन रहे सामुदायिक भवन एवं डैªनेज आउटलेट का स्थल निरीक्षण करके कार्य स्थल पर मौजूद अभियन्ता से गुणवत्तापूर्ण कार्य कराये जाने की जानकारी लिये हैं, सभी पदाधिकारियों को भी बीच-बीच में स्थल भ्रमण कर गुणवत्ता की जाॅच करनी चाहिये।

No comments