Breaking News

सार्वजनिक संपत्ति बचाने को लेकर आमरण अनशन पर बैठे पंडित रामेश्वर मिश्र

सार्वजनिक संपत्ति बचाने को  लेकर आमरण अनशन पर बैठे पंडित रामेश्वर मिश्र
l
 विश्वनाथ आनंद
टिकारी( गया )- गया जिले के  टेकारी अनुमंडल  कार्यालय के समीप सार्वजनिक समस्याओं एवं सरकारी संस्थाओं के उपेक्षा रवैया के कारण के क्षुब्ध होकर पंडित रामेश्वर मिश्र ने आमरण अनशन पर  बैठे हैं l अनशन पर बैठने के उपरांत जारी प्रेस विज्ञप्ति में
 रामेश्वर मिश्रा का कहना है कि मैं विगत 8 वर्षों से  सार्वजनिक समस्याओं  के समाधान के लिए सरकारी दफ्तर का चक्कर लगाते लगाते थक गया हूं l विवश होकर अनशन पर बैठने का निर्णय लिया l उन्हें आगे कहा कि तालाब औऱ पिंड को अतिक्रमण से मुक्त कराने हेतु लंबी लड़ाई लड़ रहा हूं  lमैंने अंचलाधिकारी से लेकर प्रधानमंत्री कार्यालय तक गुहार लगाई l लेकिन कहीं से ही मुझे न्याय नहीं मिला l टेकारी के लाव गांव में  बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार का आगमन हुआ था l समस्या को लेकर मिलना चाहा l लेकिन मुलाकात नहीं करने दिया गया l  अंतत दुखी होकर मैंने आत्मदाह करने का प्रयास किया ,तो मुझे समस्या का समाधान करने का आश्वासन देते हुए प्रशासन के द्वारा रोक  लगा दिया गया l उन्होंने आगे कहा  राष्ट्रपति से पत्र लिखकर इच्छा मृत्यु की मांग की, परंतु  जवाब नहीं मिल सका l उन्होंने आगे कहा कि एक तरफ बिहार सरकार  जल जीवन हरियाली की बात करती है l दूसरी तरफ ड्रोन कैमरा से आहार पैन नहर का फोटो खींचकर उसे अतिक्रमण मुक्त करने की बात कह रही है l उन्होंने आगे कहा कि सरकार के उपेक्षा रवैया के कारण के एक बड़े तालाब  का अतिक्रमण कर लिया गया है l जो दुखद है l

No comments