Breaking News

गया में कोषांगों के कार्यों की हुई समीक्षा

*गया में कोषांगों के कार्यों की हुई समीक्षा
*
गया, 19 जून 2020,
रिपोर्टः
दिनेश कुमार पंडित

बिहार के जिला गया में 
 जिलाधिकारी, गया श्री अभिषेक सिंह की अध्यक्षता में कोविड-19 कोरोना से बचाव के लिए किए गए लॉकडाउन के दौरान गठित कोषांगों के कार्यों की समीक्षा की गयी। क्वॉरेंटाइन कोषांग द्वारा बताया गया कि 649 मामले आए हैं, 477 मामले अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल के, 35 मामले अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, महकार एवं 137 मामले पृथक केंद्र, बोधगया के हैं। अबतक कुल 579 लोगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है, जिनमें 35 अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, महकार एवं 445 अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल से एवं 99 पृथक केंद्र बोधगया के हैं।
गया के कुल 165 में से 118 मामले में रिकवरी किया जा चुका है। अब तक कुल 197 पॉजिटिव मामले आये हैं, जिनमें कैमूर के 11 में सभी 11, औरंगाबाद के सभी 02, गया के 165 में 118, जहानाबाद के 12 में 12, नवादा के सभी 01 एवं रोहतास के 06 में 06, कुल 150 पॉजिटिव मामले में रिकवरी किया जा चुका है और उनकी जाँच रिपोर्ट नेगेटिव प्राप्त चुकी है। अब केवल गया के 47 पॉजिटिव हैं, जिनमें 09 एनएमएमसीएच में तथा 38 पृथक केंद्र बोधगया में तथा 34 संदेहास्पद व्यक्ति इलाजरत हैं।
जिलाधिकारी ने बैठक में कहा कि अब जो भी मजदूर आएंगे वे सभी अपने घर पर ही कोरेंटिन रहेंगे। अब कोविड टेस्टिंग पर विशेष प्राथमिकता देनी होगी। इसके साथ ही आइसोलेशन एवं ट्रीटमेंट पर भी प्राथमिकता देनी होगी। उन्होंने कहा कि कोरोना से बचाव के लिए आईईसी एक्टिविटी गहण रुप से चलाना होगा। मास्क पहनने का प्रचलन बढ़ाना होगा तथा वैसे लोग जो अस्थमा से पीड़ित हैं या जिनको डायबिटीज है या डायलिसिस पर हैं या अन्य गंभीर बीमारी से ग्रस्त हैं, उन्हें सचेत करना होगा। उन्होंने कहा कि अब कोरोना जांच में पॉजिटिव मिलने वाले मामलों में शत-प्रतिशत आइसोलेशन किया जाएगा और उनका नेगेटिव रिपोर्ट आने के बाद ही आइसोलेशन वार्ड से मुक्त किया जाएगा। उन्होंने विशेष कार्य पदाधिकारी को सभी अनुमंडल पदाधिकारी को निर्देशित करने को कहा कि कंटेंटमेंट जोन में एसओपी का पालन करना सुनिश्चित करें। 
उन्होंने सिविल सर्जन को कहा कि कैदियों को कोर्ट में पेशी से पहले उनकी कोविड की जांच करा ली जाए। 
जिलाधिकारी ने सिविल सर्जन को कहा कि जितने भी पॉजिटिव मामले मिल रहे हैं, उनके संपर्क में आने वाले की ट्रेसिंग 48 घंटे के अंदर कर लें, ताकि इसका फैलाव ना हो सके।
डब्ल्यूएचओ के प्रतिनिधि ने विगत 5 सप्ताह में मिले कोरोना मरीजों का विश्लेषण कर बताया कि अब कोरोना के मरीज तुलनात्मक रूप से कम आ रहे हैं। उन्होंने कहा कि अब तक मिले 160 पॉजिटिव मामले में 127 पुरुष एवं 35 महिलाएं हैं तथा 12 मामले शहरी क्षेत्र के एवं 148 ग्रामीण क्षेत्र के हैं। इनमें 70 वर्ष से ऊपर के सिर्फ एक मामले हैं। *82 मामले इनफ्लुएंजा लाइक इलनेस (ILI) के, 54 मामले सीवियर एक्यूट रेस्पिरेट्री इनफेक्शन(SARI) के हैं।* इनमें से तीन को छोड़कर सभी मामले कोविड टेस्टिंग के बाद मिले हैं।
जिलाधिकारी ने सिविल सर्जन को कार्यक्रम बनाकर अनुमंडल वार भीड़ भाड़ वाले स्थल ठेला वाले, नाई, किराना दुकानदार, दूधवाला, सीएसपी, बैंक, सब्जी वाला, फल वाला, टेंपो चालक, बस चालक इत्यादि की कोरोना जांच करने का निर्देश दिए। उन्होंने सिविल सर्जन को कहा कि सभी प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में अब ओपीडी चलाना प्रारंभ करें। 
मास्क ना पहनने वाले को दंडित करने हेतु नगर निगम क्षेत्र में सघन अभियान चलाने का निर्देश नगर आयुक्त को दिया गया। उन्होंने नगर आयुक्त को कहा कि शहरी क्षेत्र के जितने थाने हैं उनके सभी थानाध्यक्ष, सब इंस्पेक्टर, एएसआई तथा अपने राजस्व कर्मचारी, सिटी मैनेजर, सी आई, सी ओ, हेल्थ विभाग के एमओआईसी, हेल्थ मैनेजर को जुर्माना करने की शक्ति प्रदत्त करें। 
बैठक में नगर आयुक्त श्री सावन कुमार, सहायक समाहर्ता श्री सौरभ सुमन यादव, उप विकास आयुक्त श्री किशोरी चौधरी, अपर समाहर्ता श्री मनोज कुमार, निदेशक डीआरडीए श्री संतोष कुमार, उप निदेशक जनसंपर्क श्री नागेंद्र कुमार गुप्ता, सिविल सर्जन श्री बी के सिंह सहित तमाम पदाधिकारी उपस्थित थे।

No comments