Breaking News

पत्रकार एवं उसके भाई पर रंजिशन झूठा मामला दर्ज कराया

*पत्रकार एवं उसके भाई पर रंजिशन झूठा मामला दर्ज कराया
*


*पुलिस प्रशासन से उचित  जांच करने की अपील*





करेरा अनुविभाग क्षेत्र के अंतर्गत आने वाले थाना अमोला में पत्रकार अंकित कोली एवं उसके भाई पर बकरियों को जहर खिलाने का झूठा मामला दर्ज किया गया। जबकि ऐसी स्थिति में लॉक डाउन के चलते पत्रकार और उसका भाई घर पर ही थे। उस समय कुछ पत्रकार साथी भी खबर कवरेज करने के उद्देश्य से उनके घर पर भी आए हुए थे। जब शाम के समय हम अपने खेत पर  गाय को पानी पिलाने के लिए गये। तो पडोसियों द्वारा पता चला कि तुम्हारे खेत में पुलिस आई हुई थी । इसकी जानकारी अंकित पत्रकार को मिली तो उन्होंने पुलिस थाना प्रभारी अमित चतुर्वेदी से संपर्क किया तो पता चला कि उनके खिलाफ एफ आई आर दर्ज की जा रही है। और अगले ही दिन ऑनलाइन एफ आई आर की जानकारी देखकर पत्रकार अचंभे मैं पड़ गए कि इस तरह का हमारे खिलाफ झूठा षड्यंत्र रचा जा रहा है। जबकि वास्तविक स्थिति में पता चला कि
कम से कम बकरियां 40 50 खेतों में बिना चरवाहे के चल कर आई थी। हो सकता है
कहीं अन्य जगह पर जहर खाकर या कोई जहरीला पदार्थ खाकर आईं हुई हों।  बकरियों द्वारा कहीं अज्ञात स्थान पर भी जहरीला पदार्थ खाया जा सकता है। और चार बकरियों में से एक बकरी पत्रकार के खेत में मृत पाई गई । जबकि दो बकरी और एक बकरा कुल तीन नग स्वयं मेहरबान जाटव के खेत में मृत पड़े मिले। पत्रकारो पर इस प्रकार के रंजिशन झूठे मामले दर्ज होगें तो स्वतंत्रता से पत्रकारिता करना मुश्किल होगा। इस मामले मे पुलिस प्रशासन द्वारा उचित जांच की चाहिये।


*इनका कहना है कि*


 *मैंने कुछ नहीं देखा मेरा नाम तो झूठा लिखवा दिया है। मैं तो अपने घर के अंदर ही बेड़े में था।*


*गवाह जगदीश पाल*




No comments