Breaking News

गयामें कोषांगों के कार्यों की हुई समीक्षा

*गयामें कोषांगों के कार्यों की हुई समीक्षा
*
गया, 02 मई, 2020,
रिपोर्टः
दिनेश कुमार पंडित
बिहार के जिला गयामें  जिलाधिकारी, गया श्री अभिषेक सिंह व वरीय पुलिस अधीक्षक श्री राजीव मिश्रा की संयुक्त अध्यक्षता में कोविड 19 वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव व सुरक्षा के लिए किए गए लॉक डाउन के दौरान गठित कोषांगों के कार्यों की समीक्षा की गयी। क्वॉरेंटाइन कोषांग के वरीय नोडल पदाधिकारी सह जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी श्री नरेश झा ने बताया कि अबतक कोरोना के कुल 208 संदिग्ध मामले आए हैं, 183 मामले अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल के एवं 25 मामले अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, महकार के हैं। आज 01 नया मामला एएनएमएमसीएच में एवं 01 नया मामला एपीएचसी महकार में आए हैं। कुल 176 लोगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है, जिनमें 20 अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, महकार एवं 156 अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल से किये गए हैं। अब तक गया में कुल 06 मामले पॉजिटिव पाए गए हैं, जिनमें से 5 में रिकवरी किया गया है।
कैमूर के 09, औरंगाबाद के 02, गया के 01,नवादा का 01, जहानाबाद के 01एवं रोहतास के 05 कुल 19 पॉजिटिव एवं 13 अन्य संदिग्ध कुल 32 संदिग्ध अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कालेज में इलाजरत हैं।
सामग्री कोषांग के वरीय प्रभारी सह निदेशक, डी०आर०डी०ए० श्री संतोष कुमार ने बताया कि जरूरतमंद, निर्धन व बेसहारा लोगों के सहायतार्थ बीटीएमसी बोधगया ने 250 खाद्यान्न पैकेट उपलब्ध कराया है। पूर्व से शेष 1651 पैकेट, कुल 1901 खाद्यान्न पैकेट उपलब्ध हैं। जिसका वितरण कल करवाया जायेगा। अब तक 23,132 खाद्यान्न के पैकेट का वितरण कराया गया है।
आज ग्रामीण कार्य विभाग के सहायक अभियंता, शहरी क्षेत्र द्वारा 183 खाद्यान्न पैकेट एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, शिक्षा द्वारा 210 पैकेट, जिला कल्याण पदाधिकारी द्वारा 200 पैकेट, कुल 593 खाद्यान्न पैकेट का वितरण कराया गया।
क्वॉरेंटाइन सेंटर के वरीय प्रभारी उप विकास आयुक्त श्री किशोरी चौधरी ने बताया कि आज 256 नए संदिग्ध को क्वारंटाइन में रखा गया है, कवरेन्टीन में 1621 संदिग्ध तथा होम कोरेंटिन में 12740 संदिग्ध हैं तथा अंतरजिला वाले 253 लोगों को क्वारंटाइन सेंटर से डिस्चार्ज किया गया है।
ज़िलाधिकारी ने कहा कि जितने भी क्वारंटाइन सेन्टर हैं, वहाँ किसी भी बाहरी व्यक्ति का प्रवेश वर्जित है। क्वारंटाइन सेन्टर में जो प्रतिनियुक्त पदाधिकारी, कर्मी एवं डॉक्टर हैं, सभी अपना पहचान पत्र अपने पास रखेंगे। जहाँ नया क्वारंटाइन सेन्टर बनाया गया है, उन सभी जगहों पर साबुन, सैनिटाइजर, मास्क, ग्लव्स की मुकम्मल व्यवस्था होनी चाहिए। बताया गया कि जो ट्रैन प्रभावित राज्यों से बिहार में प्रवेश करेगा, जिसमें गया एवं अन्य ज़िले के लोग भी आ रहे हैं, उनके विभिन्न जिलों में जाने के लिए गया रेलवे स्टेशन पर बस की व्यवस्था की गई है। 
ज़िलाधिकारी ने कहा कि गया ज़िला में जो बस अपने अपने प्रखंड में जायेगी, सभी का रूट चार्ट होना अनिवार्य है। बस के साथ एक सकॉट के साथ संबंधित प्रखंड के क्वारंटाइन सेन्टर में भर्ती करना है। बिहार के बाहर से आने वाले व्यक्ति को लेने के लिए उनके अविभावक द्वारा प्राइवेट वाहन से ले जाया जाएगा। वैसे लोगों का पूरा ब्यौरा एवं उनके हाथों पे होम क्वारंटाइन का मुहर लगाया जाना है। उनके ब्यौरा को संबंधित प्रखंड से साथ साझा करना आवश्यक है। साथ ही समय समय पर उनकी सेहत की जानकारी लेते रहना है। कोटा, राजस्थान से आने वाले छात्र/छात्राओं को भी होम क्वारंटाइन में रखना है। उनके परिवार को उनसे दूर रहने की सलाह दी जाए एवं सभी छात्र/छात्राओं के हाथों में भी होम क्वारंटाइन का मुहर लगाया जाएगा। यदि छात्र/छात्राओं में कोरोना के कोई भी लक्षण दिखता है तो वे तुरंत ज़िला नियंत्रण कक्ष को संपर्क करेंगे। 
रेलवे जंक्शन पर कूली को तैयार किया जाए, सभी को पूर्ण सुरक्षा जैसे मास्क, ग्लव्स इत्यादि के साथ होना अनिवार्य है।
जो लोग किसी अन्य राज्य के हैं, जो गया ज़िला में फसें हुए हैं, उनका आधार कार्ड, वोटर कार्ड एवं अन्य फ़ोटो पहचान पत्र जिसमे उनका पूरा पता अंकित हो। अंकित पता के आधार पर उनका वाहन पास ज़िला परिवहन पदाधिकारी द्वारा दिया जाएगा। 
ज़िलाधिकारी ने बताया कि गिट्टी, हार्डवेयर, रिपेयरिंग दुकान, गैराज, जिसका खुद का स्थायी दुकान हो, उन्हें दुकान खोलने की अनुमति नगर आयुक्त, नगर निगम, गया द्वारा दिया जायेगा। अस्थायी दुकानदार को अनुमति नहीं दी जाएगी।
कार्यपालक अभियंता, लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग, गया को ज़िलाधिकारी ने निदेश दिया कि जहाँ भी क्वारंटाइन सेंटर बना है, उन सभी जगहों पर पानी एवं शौचालय की व्यवस्था करनी है। जहाँ नया बनाने की आवश्यकता है वहां नया बनाया जाए एवं जो मरम्मति योग्य है, उनकी मरम्मति की जाए।
बैठक में नगर आयुक्त श्री सावन कुमार, सहायक समाहर्ता श्री के एम अशोक, उप विकास आयुक्त श्री किशोरी चौधरी, अपर समाहर्त्ता श्री मनोज कुमार, जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी श्री नरेश झा, ए एनएमएमसीएच के प्राचार्य व सिविल सर्जन गया एवं सभी कोषांगों के नोडल पदाधिकारी मौजूद थे।

No comments