Breaking News

ज़िलाधिकारी ने किया बेलागंज एवं कोंच प्रखंड के क्वारंटाइन सेन्टर का निरीक्षण

*ज़िलाधिकारी ने किया बेलागंज एवं कोंच प्रखंड के क्वारंटाइन सेन्टर का निरीक्षण
*
गया, 10 मई, 2020, कोविड 19, वैश्विक कोरोना महामारी से बचाव व सुरक्षा के लिए किए गए राष्ट्रव्यापी लॉकडाउन के दौरान बिहारवासी जो भारत के अन्य राज्यों में जाकर काम रोज़गार करते हैं। लॉक डाउन होने के बाद उन सभी लोगों को संबंधित कंपनी/एजेंसी द्वारा खाना देना बंद कर दिया गया साथ ही उन्हें अपने घर वापस जाने को बोल दिया गया। 
आज ज़िलाधिकारी, गया श्री अभिषेक सिंह द्वारा प्रखंड बेलागंज के आदर्श मध्य विद्यालय, सिलौंजा क्वारंटाइन सेन्टर का निरीक्षण किया गया। प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, बेलागंज द्वारा बताया गया कि इस क्वारंटाइन सेन्टर में कुल 44 व्यक्ति क्वारंटाइन हैं, जिसमें 01 महिला भी शामिल है। ज़िलाधिकारी ने सर्वप्रथम क्वारंटाइन सेन्टर में क्वारंटाइन लोगों के खाना की गुणवत्ता एवं मेनू की जानकारी प्राप्त करने के लिए रसोई घर में गए, जहाँ रसोइया द्वारा बताया गया कि सभी लोगों के लिए दोनों वक़्त दूध, खाने में चावल, रोटी, दाल एवं सब्ज़ी दिया जा रहा है। ज़िलाधिकारी ने वहाँ क्वारंटाइन लोगों के कमरों में गये और सभी लोगों से एक एक कर उनके बारे में जानकारी प्राप्त की के वे कहाँ काम करते हैं, किस तरह का काम करते हैं, कितना पैसा मिलता हैं, कितना पैसा बचाते हैं इत्यादि। ज़िलाधिकारी ने उनसे कहा कि यदि उन्हें उनकी कार्य कुशलता के अनुसार गया या बिहार में कार्य मिले तो क्या वो करना चाहेंगे, सभी लोगों ने ज़िलाधिकारी के बातों पे हामी भरी। 
ज़िलाधिकारी ने प्रखंड विकास पदाधिकारी, बेलागंज को एक सूची बनाने को कहा जिसमें सभी के नाम, पता, मोबाइल न0, योग्यता, कार्य कुशलता इत्यादि रहे। 
क्वारंटाइन सेंटर के दूसरे कमरे में 5 मुस्लिम समुदाय के लोग भी रह रहे हैं। ज़िलाधिकारी ने उनसे रमज़ान के महीने में रोज़ा के बारे में पूछा। उन्होंने बताया कि सुबह *सेहरी* में खाने का इंतज़ाम नहीं हो पाता है, जिस कारण वे रोज़ा नहीं रख पाते। ज़िलाधिकारी ने प्रखंड विकास पदाधिकारी, बेलागंज से इसकी जानकारी ली तो बताया गया कि रसोईया रात का खाना बनाकर 8 बजे तक चली जाती है, इस कारण दिक्कत हो रही है। 
ज़िलाधिकारी ने कहा कि एक और रसोइया रखा जाए जो सुबह *सेहरी* के वक़्त मुस्लिम समुदाय केक्वारंटाइन लोगों के लिए ताज़ा खाना बनाये। इसके उपरांत सभी मुस्लिम समाज के लोगों ने ज़िलाधिकारी महोदय को शुक्रिया कहा। 
इसके उपरांत ज़िलाधिकारी ने *अग्रवाल उच्च विद्यालय, बेलागंज क्वारंटाइन सेंटर* गए, जहां 79 लोग क्वारंटाइन हैं। निरीक्षण के क्रम में सभी को कतारबद्ध करके खाना दिया जा रहा था। खाने में चावल, दाल एवं सोयाबीन व आलू की सब्ज़ी थी। ज़िलाधिकारी ने खाने की गुणवत्ता को देखकर खुशी व्यक्त की। ज़िलाधिकारी ने वहाँ भी सभी लोगों से उनके पेशा के संबंध में जानकारी ली। उनमें से एक ने बताया कि वो कानपुर के होटल में *शेफ* है। ज़िलाधिकारी ने उसे बोधगया एवं गया के होटलों में शेफ का कार्य करने को कहा। उन्होंने बताया कि यहाँ पैसा समय पर नहीं मिलता एवं कम पैसा दिया जाता था, इसी वजह से उसे कानपुर जाना पड़ा। 
ज़िलाधिकारी ने उसे फिलहाल क्वारंटाइन सेन्टर में खाना बनाने का कार्य करने का सुझाव दिया एवं जो दैनिक मज़दूरी है उसे दिया जाएगा। ज़िलाधिकारी ने प्रखंड विकास पदाधिकारी, बेलागंज को कहा कि सभी क्वारंटाइन सेन्टर पर महत्वपूर्ण नंबर का बैनर लगाए, जिसमे ज़िला नियंत्रण कक्ष का नंबर भी होना चाहिए। ज़िलाधिकारी ने क्वारंटाइन सभी लोगों को कहा कि यदि उन्हें किसी भी प्रकार की समस्या होती है। चाहे खाने में हो, रहने में हो इत्यादि वे सीधे नियंत्रण कक्ष को सूचित करेंगे।
इसके उपरांत ज़िलाधिकारी ने सभी को सामाजिक दूरी बनाये रखने, लगातार साबुन का प्रयोग करने, मास्क का प्रयोग करने का सुझाव दिया और कहा कि इससे आपकी, आपके आस पास के लोगों की, आपके घर परिवार की एवं आपके समाज की सुरक्षा के दृष्टिकोण से यह ज़रूरी है। 
इसके उपरांत प्रखंड कोंच के *गांधी इंटर उच्च विद्यालय, कोंच क्वारंटाइन सेंटर*, का निरीक्षण किया। निरीक्षण के क्रम में क्वारंटाइन लोगों ने कुछ कमियां बतायी। जिस पर ज़िलाधिकारी ने क्वारंटाइन सेंटर के प्रभारी को तुरंत पूरे सेन्टर की सफाई करवाने, सभी रूम में पंखा लगवाने, मच्छर बत्ती इत्यादि की व्यवस्था करने एवं ससमय भोजन उपलब्ध कराने के निदेश दिये। ज़िलाधिकारी ने साथ ही क्वारंटाइन सभी लोगों को किसी भी प्रकार की समस्या की जानकारी नियंत्रण कक्ष के दूरभाष पर देने को कहा। निरीक्षण के दौरान जिला पंचायती राज पदाधिकारी, गया श्री सुनील कुमार, अनुमंडल पदाधिकारी श्री मनोज कुमार, संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारी एवं क्वॉरेंटाइन सेंटर के प्रभारी उपस्थित थे।

No comments