Breaking News

कोषांगों के कार्यों की हुई समीक्षा* *पराली जलाने वालों के विरुद्ध होगी कार्रवाई* *रमजान को देखते हुए जिला स्तर पर अलग बनेगा एक कोरेंटिन सेंटर*

*कोषांगों के कार्यों की हुई समीक्षा*
*पराली जलाने वालों के विरुद्ध होगी कार्रवाई*
*रमजान को देखते हुए जिला स्तर पर अलग बनेगा एक कोरेंटिन सेंटर*
*खाद्यान्न का वितरण नहीं करने वाले डीलरों के विरुद्ध होगी कार्रवाई*
गया, 26 अप्रैल, 2020,
रिपोर्टः
दिनेश कुमार पंडित
बिहार से
बिहार के जिला गयामें  जिलाधिकारी, गया श्री अभिषेक सिंह व वरीय पुलिस अधीक्षक श्री राजीव मिश्रा की संयुक्त अध्यक्षता में कोविड 19 वैश्विक महामारी कोरोना से बचाव व सुरक्षा के लिए किए गए लॉक डाउन के दौरान गठित कोषांगों के कार्यों की समीक्षा की गयी। क्वॉरेंटाइन कोषांग के वरीय नोडल पदाधिकारी सह जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी श्री नरेश झा ने बताया कि अबतक कोरोना के कुल 176 संदिग्ध मामले आए हैं, 160 मामले अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल के एवं 16 मामले अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, महकार के हैं। आज 03 नये मामले एएनएमएमसीएच में आए हैं। कुल 166 लोगों को डिस्चार्ज किया जा चुका है, जिनमें 16 अतिरिक्त प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र, महकार एवं 150 अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल अस्पताल से किये गए हैं। अब तक गया में कुल 06 मामले पॉजिटिव पाए गए हैं, जिनमें से 5 में रिकवरी किया गया है।
कैमूर के 08 एवं औरंगाबाद के 02 एवं गया के 01 कुल 11 पॉजिटिव एवं 2 अन्य संदिग्ध कुल 13 संदिग्ध अनुग्रह नारायण मगध मेडिकल कालेज में इलाजरत हैं।
बताया गया कि एएनएमएमसीएच में कई चिकित्सकों द्वारा कार्य करने में आनाकानी की जाती है। जिलाधिकारी ने सख्त लहजे में कहा कि प्रतिनियुक्त दंडाधिकारी प्रतिवेदित करेंगे कि किसके द्वारा कार्य करने में लापरवाही बरती जा रही है। उनके प्रतिवेदन के आधार पर संबंधित के विरुद्ध अनुशासनिक कार्रवाई की जाएगी।
क्वारंटाइन के वरीय प्रभारी उप विकास आयुक्त, श्री किशोरी चौधरी ने बताया की 91 नए संदिग्ध क्वारंटाइन में रखा गया है एवं 21 लोगों को डिस्चार्ज किया गया है। ज़िलाधिकारी ने निदेश दिया कि जहां भी महिला एवं बच्चे क्वारंटाइन में हैं उनके लिए विशेष ध्यान देने की आवश्कता है एवं उनके साथ महिला कांस्टेबल एवं महिला मजिस्ट्रेट की प्रतिनियुक्ति की जाए।
सामग्री कोषांग के वरीय प्रभारी सह निदेशक, डी०आर०डी०ए० श्री संतोष कुमार ने बताया कि जरूरतमंद, निर्धन व बेसहारा लोगों के सहायतार्थ बीटीएमसी ने 500 पैकेट, प्राण संस्था, गया ने 300 पैकेट, सेवा वेलफेयर ट्रस्ट, बोधगया ने 80 पैकेट कुल 880 पैकेट खाद्यान्न पैकेट उपलब्ध कराए गए। पूर्व से शेष पैकेट 677 है, कुल पैकेट 1557 उपलब्ध है। जिसका वितरण कल करवाया जायेगा। 
आज ग्रामीण कार्य विभाग के सहायक अभियंता, शहरी क्षेत्र द्वारा मानपुर क्षेत्र में में 80 खाद्यान्न पैकेट, ज़िला कल्याण पदाधिकारी द्वारा रमना रोड में 300 प्राण संस्थान द्वारा टनकुप्पा, ढिबर और अपूर्व में 250 पैकेट एवं जिला कार्यक्रम पदाधिकारी, शिक्षा द्वारा 25 पैकेट कुल 655 खाद्यान्न पैकेट का वितरण कराया गया। 
सामग्री कोषांग के वरीय प्रभारी श्री संतोष कुमार ने बताया कि उनके पास लगभग 10,000 सूती के मास्क उपलब्ध हैं। जिलाधिकारी ने नल जल, नाली गली और मनरेगा में कार्य करने वाले मजदूरों के लिए मास्क उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। श्री संतोष कुमार ने कहा कि जेल के कैदियों के लिए भी 1500 मास्क भेजा जा रहा है।
सिविल सर्जन श्री वीके सिंह ने बताया कि डोर टू डोर सर्वे किया जा रहा है। अभी तक 281000 घरों के 1784000 लोगों की स्क्रीनिंग की जा चुकी है, जिनमें से शेरघाटी के 08 एवं बोधगया के 01 कुल 9 लोग संदिग्ध मिले हैं। जिलाधिकारी ने उन सबों को क्वॉरेंटाइन सेंटर में रखने के निर्देश दिए साथ ही कहा कि 22 एवं 23 अप्रैल 2020 को जो भी बाहर से आए हैं उन सबों की सैंपलिंग कर ली जाए। 
जिलाधिकारी ने उन्हें 1 मई 2020 से जेई के टीकाकरण के लिए तैयारी कर लेने के निर्देश दिए।
वरीय पुलिस अधीक्षक श्री राजीव मिश्रा के सुझाव पर जिलाधिकारी ने जिला स्तर पर मुस्लिम समुदाय के लिए किसी मदरसे में आज ही एक कवरेन्टीन सेंटर खोलने के निर्देश कोरेंटिन सेंटर के वरीय प्रभारी उप विकास आयुक्त को दिए। उन्होंने कहा कि इसका प्रभारी जिला शिक्षा पदाधिकारी मोहम्मद मुस्तफा हुसैन अंसारी को बनाया जाए ताकि वे आवश्यकता अनुसार सारी व्यवस्था करा सके। 
उल्लेखनीय है कि रमजान के महीने में मुस्लिम समुदाय के लोगों को सुबह 3:00 से 4:00 बजे तक खाना की आवश्यकता होती है साथ ही संध्या में अफतार के लिए वांछित खाद्य सामग्री की आवश्यकता होती है। 
क्वॉरेंटाइन सेंटर के वरीय प्रभारी उप विकास आयुक्त श्री किशोरी चौधरी ने बताया कि कोरेंटिन सेंटर में 93 लोगों की संख्या बढ़ी है। सभी कोरेंटिन सेंटर पर कुल 3500 लोग प्रतिदिन भोजन कर रहे हैं। 
जिलाधिकारी ने कहा कि जिनके 14 दिन पूरे हो गए हैं उन्हें कवरेन्टीन सेंटर से डिस्चार्ज कर होम कवरेन्टीन कर दिया जाए। साथ ही उन्होंने निर्देश दिया कि सभी कोरेंटिन सेंटर पर दिन के 12:00 बजे एवं रात्रि 7:00 बजे तक निश्चित रूप से भोजन उपलब्ध करा दिया जाए।
जिला नियंत्रण कक्ष के प्रभारी सहायक समाहर्ता श्री के अशोक ने बताया कि आज जितने भी कॉल आए हैं सब का फॉलोअप कराया गया है जो कॉल सुखा राशन के लिए आए थे, उन्हें राशन उपलब्ध करा दिया गया है साथ ही 15 से 20 कॉल आवश्यक दवाओं के लिए आए थे, जिन्हें दवा होम डिलीवरी कराया जा रहा है।
सहायक औषधि नियंत्रक ने बताया कि जिले के दवा दुकानों से प्राप्त सूची के अनुसार कुल 109 लोगों ने सर्दी, खांसी व बुखार की दवा खरीदी है। जिलाधिकारी ने उन सबों को चिन्हित करते हुए उनकी स्क्रीनिंग कराने के निर्देश दिए।
जीविका के डीपीएम ने बताया कि डोर टू डोर राशन कार्ड के लिए सर्वे करने का कार्य कल तक पूरा हो जाएगा। कुल 35604 लोगों के सर्वे कर चिन्हित किया गया है। जिलाधिकारी ने कहा कि वर्ष 2017-18 में आधार नंबर नहीं रहने के कारण जिनके राशन कार्ड लिंक नहीं हो पाए थे और जो अहर्ता प्राप्त लाभुक है, उनके राशन कार्ड नहीं छूटने चाहिए।
जिला आपूर्ति पदाधिकारी ने बताया कि सर्वे किए गए राशन कार्ड का सत्यापन संबंधित प्रखंड विकास पदाधिकारी के लॉग इन से किया जाएगा और उन्हीं की अनुशंसा द्वारा संबंधित अनुमंडल पदाधिकारी को राशन कार्ड बनाने के लिए सूची भेजी जाएगी। जिला आपूर्ति पदाधिकारी ने बताया कि जिले में 79% खाद्यान्न का वितरण किया जा चुका है। जिलाधिकारी ने कहा कि जिन डीलरों के द्वारा खाद्यान्न का उठाव व वितरण नहीं किया गया है, उनके विरुद्ध कार्रवाई की जाएगी। उन्होंने अपर समाहर्ता श्री मनोज कुमार को वैसे डीलरों की सूची बनवाने के साथ ही त्वरित कार्रवाई करने के निर्देश दिए।
जिला कृषि पदाधिकारी ने बताया कि इस वर्ष प्रति हेक्टर 18 से 20 क्विंटल गेहूँ की उपज हुई है। जबकि प्रति हेक्टेयर 28 से 32 क्विंटल उपज होनी चाहिए। 
पराली जलाने के संबंध में पूछे जाने पर उन्होंने बताया कि खिजरसराय के 2 किसानों द्वारा एक-एक एकड़ में पराली जलाई गई है। नियमानुसार उन्हें 3 साल तक किसी भी प्रकार की कृषि सहायता नहीं मिलेगी। जिलाधिकारी ने पर्यावरण अधिनियम की सुसंगत धाराओं के तहत उनके विरूद्ध प्राथमिकी दर्ज कराने के निर्देश दिए।
बैठक में नगर आयुक्त श्री सावन कुमार, सहायक समाहर्ता श्री के एम अशोक, उप विकास आयुक्त श्री किशोरी चौधरी, अपर समाहर्ता श्री मनोज कुमार, जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी श्री नरेश झा, सिविल सर्जन गया एवं सभी कोषांगों के पदाधिकारी उपस्थित थे।

No comments