Breaking News

लॉक डॉउन: दस दिनों तक चलेगा रक्तदान शिविर,नहीं होगी रक्त की कमी: कमांडेंट डॉ निशित

लॉक डॉउन: दस दिनों तक चलेगा रक्तदान शिविर,नहीं होगी रक्त की कमी: कमांडेंट डॉ निशित


गया। सीआरपीएफ 159 वीं बटालियन मुख्यालय में सोमवार को रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया। एक ओर जँहा कोरोना से पूरे दुनिया मे हाहाकार मचा हुआ है और कितनों की मौत हो गई हैं वंही खून की कमी को पूरा करने के लिए और जरूरतमंदों की आवश्कता को पूरा करने के लिए सीआरपीएफ के अधिकारी और जवान कर रहे हैं रक्तदान बिहार के गया में कोरोना वायरस के रोकथाम को लेकर विगत कई दिनों से  पुरे जिले में लॉक डाउन जारी है और लॉक डाउन के कारण मगध मेडिकल कॉलेज सह अस्पताल में बने ब्लड बैंक में खून की कमी हो गई हैं और कई तरह के मरीजों को खून नही मिला रहा है जिसको देखते हुए गया मुख्यालय के 159 वीं बटालियन के सीआरपीएफ ने एक पहल कर रक्तदान शिविर कार्यक्रम का आयोजन किया जिसमें सीआरपीएफ के अधिकारी व जवानों ने बढ़ चढ़ कर शामिल हुए और इस विषम परिस्थिति में अपना खून देकर वैसे जरूरतमंदों की आवश्यकता को पूरा करने का संकल्प लिया है और इस आयोजित कार्यक्रम में प्रतिदिन 10 से 12 लोग अपना अपना रक्त को दान कर लोगो को सहायता प्रदान करने के लिए आगे आए हैं जिसकी शुरुआत आज से की गई है जँहा वैश्विक महामारी में अधिकारी से लेकर जवान तक इस महामारी से लोगो को बचाने के लिए कर्मयुद्ध के रूप में कार्य कर रहे हैं वंही दूसरी ओर अपने रक्त को दान कर भी एक अहम भूमिका निभा रही है
मौके पर सीआरपीएफ के कमांडेंट डॉ निशित कुमार ने बताया कि ए एन एम सी एच में ब्लड की काफी कमी हो गई है जिसको लेकर उन्होंने हमसे बात हुई। लॉक डाउन के दौरान ब्लड की काफी कमी हो गई है और जरूरत भी है इसलिए सीआरपीएफ 159 बटालियन की रोज कम से कम दस यूनिय ब्लड दान करेगा सीआरपीएफ समाज सेवा के लिए हमेशा तत्पर रहता है। द्वितीय कमान अधिकारी सोहन सिंह ने बताया कि ब्लड डोनेशन कैंप चल रहा है सीआरपीएफ में जिसमें के हम लोग लॉक डाउन की वजह से ब्लड डोनेशन में जो दिक्कतें आ रही है उस कमी को पूरा करने के लिए हम लोगों ने रक्तदान शिविर का आयोजन किया है।

इस दौरान सीआरपीएफ के चिकित्सा पदाधिकारी डॉ अभिनव कुमार ने बताया कि खबर मिली कि लॉक डॉउन होने की वजह से मगध मेडिकल अस्पताल में ब्लड बैंक में रक्त की कमी आ गई है इसी को देखते हुए सीआरपीएफ मुख्यालय में ब्लड डोनेशन कैंप का आयोजन किया गया‌। यहां सोशल डिस्टेंसिंग को देखते हुए लगातार 10 दिनों तक कैंप चलेगा, सीआरपीएफ हर तरह से गया वासियों के साथ है।

वहीं ब्लड बैंक के अधिकारी ने बताया कि डोनर हैं लेकिन लॉक डाउन को लेकर अस्पताल पहुँच नही पा रहे हैं या तो गाड़ी नही मिला पा रहे हैं अगर वो आ रहे हैं तो रास्ते मे उनको परेशानी हो रही है नही तो ऐसी स्थिति नही होती थी मेरे यहां दो तीन कैम्प लगाने थे लेकिन लॉक डाउन के चलते स्थगित करना पड़ा है क्योंकि कैम्प में 100 से 150 लोग आते हैं और इस समय हमलोग सोशल डिस्टेंसिंग 100 200 आदमी को काटा नहीं करना है नतीजा यह हुआ कि ब्लड बैंक में ब्लड की कमी हो गई है इसीलिए हम लोगों ने सीआरपीएफ से रिक्वेस्ट किया और उन्होंने हमारे रिक्वेस्ट का पालन किया जिसके बाद यह कार्यक्रम को आयोजित किया गया जिसके लिए मैं इनका आभार प्रकट करता जरूरत के अनुसार हम लोग और फिर आगे रिक्वेस्ट करेंगे वरीय पुलिस अधीक्षक  आर्मी और मेडिकल के स्टाफ से अनुरोध करेंगे। इस मौके पर  द्वितीय कमान अधिकारी अवधेश कुमार डिप्टी कमांडेंट मोतीलाल, डिप्टी कमांडेंट अंबर घोष, चिकित्सा अधिकारी डॉ अभिनव कुमार डॉक्टर रोहिणी कुमारी सहित कई अधिकारी व जवान मौजूद थे।

No comments