Breaking News

10 रुपये का विदेषी सब्जी का पौध किसानों को मिलेगा 01 रुपये में - डा॰ प्रेम कुमार

*10 रुपये का विदेषी सब्जी का पौध किसानों को मिलेगा 01 रुपये में - डा॰ प्रेम कुमार
*
(दिनांक 27.04.2020)
रिपोर्टः
दिनेश कुमार पंडित

बिहार के माननीय  डाॅ॰ प्रेम कुमार, कृषिमंत्री, कृषि, पशुपालन एवं मत्स्य संसाधन विभाग, बिहार ने उप निदेषक, उद्यान, मगध प्रमण्डल, गया श्री राकेष कुमार से उद्यान निदेषालय द्वारा 90 प्रतिषत अनुदान पर वितरित किये जाने वाले विदेषी एवं उन्नत सब्जी के पौध योजना की प्रगति की समीक्षा की।
समीक्षा के बाद माननीय मंत्री ने कहा कि गया जिले में बोधगया विदेषी पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र है और विदेषी पर्यटकों को ध्यान में रखते हुये कई प्रकार की विदेषी सब्जियों की माॅग यहाॅ सालों भर रहती है। इसके साथ ही सूचना क्रान्ति के दौर में आम लोगों के बीच भी इन सब्जियों की माॅग बढ़ी है। किसानों द्वारा इन सब्जी के पौध और बीज आॅनलाईन क्रय किये जा रहें है। इन्हीं सब कारणों से उद्यान निदेषालय के अन्तर्गत संचालित सेन्टर आॅफ एक्सीलेन्स देषरी एवं चण्डी मंे बिहार के किसानों को उच्च गुणवत्ता के विदेषी सब्जी के पौध एवं संकर प्रभेद के सब्जी के पौध उपलब्ध कराने हेतु पौध तैयार कराये जा रहे हैं। अधिक से अधिक किसान इन पौधों को प्राप्त कर सकें, इसलिये सरकार 90 प्रतिषत अनुदान पर इन पौधों को उपलब्ध करा रही है। विदेषी सब्जी के एक पौध की कीमत 10 रुपये निर्धारित है जिसे सरकार किसानों को 01 रुपये मंे उपलब्ध करा रही है। संकर सब्जी के एक पौध की कीमत 03 रुपये है एवं इसे सरकार मात्र 30 पैसे में किसानों को उपलब्ध करा रही है। कोई भी किसान इस योजना अन्तर्गत अधिकतम एक एकड़ का पौध प्राप्त कर सकता है। बिहार राज्य के पंजीकृत किसान उद्यान विभाग की वेबसाईट www.horticulture.bihar.gov.in पर जाकर एकीकृत बागवानी विकास योजना लिंक से आॅनलाईन आवेदन कर सकते हैं। योजना का लाभ लेने के लिये किसानों से एल॰पी॰सी॰ अथवा अद्यतन जमीन रसीद की अनिवार्यता नहीं होगी। ऐसे गैर रैयत किसान जो पट्टे पर खेती करते हैं उनके द्वारा योजना का लाभ बगल के किसान से पहचान लेकर लिया जा सकता है। किसानों को आवेदन करते समय पहचान पत्र, एल॰पी॰सी॰ अथवा रसीद या पट्टे पर खेती करने वाले किसान का पहचान एवं बैंक पासबुक की छायाप्रति अपलोड करना पड़ता है।
उप निदेषक, उद्यान ने बताया कि विदेषी सब्जी के लिये गया में 8,000 पौध एवं औरंगाबाद, जहानाबाद, नवादा एवं अरवल में 4,000 पौध प्रत्येक जिला के लिये लक्ष्य निर्धारित है अर्थात प्रमण्डल में कुल 24,000 पौध वितरित किये जायेंगें। संकर प्रभेद के सीडलेस खीरा, बैगन एवं कुकुरबिट्स के पौध के वितरण के लिये गया को 1,60,000 जबकि औरंगाबाद, नवादा, जहानाबाद एवं अरवल में प्रत्येक जिला के लिये 80,000 पौध का लक्ष्य निर्धारित है, इस प्रकार प्रमण्डल में कुल 4,80,000 संकर सब्जियों के पौधे वितरित किये जा रहें हैं। 
माननीय मंत्री महोदय ने निदेष दिया कि किसानों को आॅनलाईन आवेदन करने के लिये प्रखण्डों में पदस्थापित प्रखण्ड उद्यान पदाधिकारी व्यापक प्रचार प्रसार करें एवं आत्मा अन्तर्गत गठित कृषक हित समूहों, महिला खाद्य सुरक्षा समूहों एवं एफ॰पी॰ओ॰ के सदस्यों से आवेदन कराकर कलस्टर में किसानों से विदेषी एवं संकर सब्जियों की खेती करायी जाय, साथ ही बाजार से टैग कर बिक्री की व्यवस्था भी बनायी जाय।

No comments