Breaking News

कोषांगों के कार्यों की हुई समीक्षा

*कोषांगों के कार्यों की हुई समीक्षा
*
*कालाबाजारी को रोकने के लिए होगी छापेमारी*
*अनुपस्थित कर्मियों के विरुद्ध होगी कार्रवाई*
गया, 26 मार्च 2020, समाहरणालय सभाकक्ष में जिलाधिकारी श्री अभिषेक सिंह की अध्यक्षता में कोविड-19 कोरोना वायरस से बचाव को लेकर बनाए गए कोषांगों की समीक्षा हुई। क्वॉरेंटाइन कोषांग की समीक्षा के दौरान जिलाधिकारी ने कहा कि जो लोग उन
कोरेनटाइम सेंटर में रह रहे हैं उनकी जांच प्रतिदिन एएनएम जाकर करें। वरीय पदाधिकारी इसे सुनिश्चित कराने साथ ही जो आइसोलेशन सेंटर में रखे गए हैं उनकी निगरानी की जाए। उन्होंने कहा कि एइनएमसीएच में विदेश से आने वाले संदेहास्पद व्यक्तियों की जांच होती है और यदि वहां से भाग जाते हैं तो इसके लिए संबंधित पदाधिकारी एवं चिकित्सकों के विरुद्ध जवाबदेही तय की जाएगी।
जिला नियंत्रण कॉल सेंटर की समीक्षा के दौरान सहायक समाहर्त्ता श्री के एम अशोक ने बताया कि आज कुल 180 कॉल आएं हैं, जिनमें अधिकतर कालाबाजारी की सूचना से संबंधित थे। जिलाधिकारी ने कहा कि जैसे ही कहीं से कॉल आता है कालाबाजारी की सूचना की, तत्काल संबंधित पदाधिकारी को इसकी सूचना दी जाए और 1 घंटे के अंदर संबंधित दुकान पर छापेमारी की जाए और छापेमारी का फोटो व्हाट्सएप पर भी भेजा जाए।
समीक्षा के दौरान बताया गया कि बहुत सारे कोषांगों के कर्मी नहीं आ रहे हैं। जिलाधिकारी ने सख्त निर्देश देते हुए कहा कि कल के बाद यानी 28 मार्च से संबंधित पदाधिकारी एवम कर्मी की उपस्थिति की जांच की जाएगी और अनुपस्थित पाए जाने पर उनके विरुद्ध आपदा प्रबंधन अधिनियम की धारा 56 के तहत उनके विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज की जाएगी, जिसके अंतर्गत कम से कम 1 वर्ष की सजा मुकर्रर है।
एनएमसीएच के अधीक्षक द्वारा बताया गया कि अभी तक 96 व्यक्तियों के सैंपल की जांच कराई गई है जिनमें से 85 का रिपोर्ट आ गया है और सभी रिपोर्ट नेगेटिव हैं। जिलाधिकारी ने कहा कि जो व्यक्ति क्वॉरेंटाइन में रह रहे हैं या आइसोलेशन वार्ड में रह रहे हैं वह भागने न पाए इस पर एहतियात बरती जाए।
किराना दुकान एवं सब्जी, फल के लिए निर्धारित दर की सूची महत्वपूर्ण स्थलों पर लगाने के निर्देश दिए गए। उन्होंने सामग्री कोषांग के पदाधिकारी को शहर के थोक विक्रेताओं के साथ बैठक कर यह सुनिश्चित कर लेने का निर्देश दिया कि उन्हें बाहर से माल मंगाने के लिए यदि वाहन की आवश्यकता हो तो संबंधित वाहन के लिए पास उपलब्ध कराई जाए।
बैठक में वरीय पुलिस अधीक्षक श्री राजीव मिश्रा, सहायक समाहर्त्ता श्री के एम अशोक, उप विकास आयुक्त श्री किशोरी चौधरी, जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी श्री नरेश झा, अपर समाहर्त्ता श्री निरंजन चौधरी सहित तमाम पदाधिकारी उपस्थित थे।

No comments