Breaking News

जेई और टीए कोरोना के लिए करें अवेयरनेस-डी एम

*जेई और टीए कोरोना के लिए करें अवेयरनेस-डी एम
*
*कोरोना को लेकर सभी वार्ड सचिव एवं वार्ड सदस्य ग्रामीणों को करे जागरूक-डीएम*
रिपोर्टः
बिहार से दिनेश कुमार पंडित
बिहार के जिला गया, में  जिलाधिकारी श्री अभिषेक सिंह ने जिला परिषद के सभागार में लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग के जूनियर इंजीनियर, टेक्निकल असिस्टेंट के साथ कोरोना वायरस के लिए जागरूकता को लेकर बैठक की। जिलाधिकारी ने सभी वार्ड सचिव, वार्ड सदस्य को अपने अपने क्षेत्र में लोगों को कोरोना वायरस के संदर्भ में जागरूक करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि लोगों को इससे बचाव के लिए सावधानी बरतने की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि यह वायरस 9 से 12 घंटे तक मेटल पर, डोर पर, बोर्ड पर या किसी ग्लास पार्टिकल पर जाकर सटा रहता है। इस दौरान कोई भी आदमी जाकर उसे टच करता है तो वह पार्टिकल उसके हाथ या संपर्क क्षेत्र में चला आता है। इसके बाद हमारे जो सामान्य गतिविधि हैं जैसे आंख छूना, नाक छूना, कान छूना, चेहरा छूना, से वह वायरस पार्टिकल धीरे-धीरे मुंह के द्वारा शरीर में प्रवेश कर जाता है। जिसके कारण इंफेक्शन हो जाता है और इनफेक्टेड व्यक्ति खांसी बुखार इत्यादि से पीड़ित हो जाता है। यही वायरस खांसने से किसी दूसरे व्यक्ति को संक्रमित करता है। वैसे आदमी को सावधानी बरतने की आवश्यकता है। वैसे लोगों को मास्क पहनना चाहिए। उन्होंने कहा कि मास्क सभी को पहनने की आवश्यकता नहीं है। उन्हें मास्क पहनना आवश्यक है, जो व्यक्ति सर्दी खांसी बुखार से ग्रसित है। उन्होंने वायरस से बचाव के लिए अपने हाथों को साबुन से अच्छी तरह से 20 सेकंड तक धोने का सुझाव दिया। उन्होंने कहा कि यदि आप ट्रेन से सफर कर रहे हैं या बस से सफर कर रहे हैं या टेम्पू से सफर कर रहे हैं, तो उसके बाद हाथ को निश्चित रूप से धोएं। यदि आप कोई संदिग्ध सामान छूते हैं, उसके बाद हैंड वॉश जरूर करें। उन्होंने कहा कि समाज में ऐसा भ्रांति फैली हुई है कि नॉनवेज खाने से बीमारी फैलती है यह बात पूर्णतया गलत है। नॉनवेज या अंडा खाने से कोरोना वायरस नहीं फैलता है। उन्होंने उपस्थित जूनियर इंजीनियर, टेक्निकल असिस्टेंट को अपने-अपने क्षेत्र में सभी ग्रामीणों को इन सभी बिंदुओं पर अनिवार्य रूप से जागरूक करने का निर्देश दिया। 
इस बैठक में उन्होंने नल जल योजना की भी समीक्षा की तथा नल जल योजना में बोरिंग और पाइप लाइन में हो रही समस्या को पीएचडी के अभियंता ने एक-एक कर सभी प्रखंडों की प्रगति की स्थिति बताई। बैठक में बताया गया कि वजीरगंज प्रखंड के कई पंचायत में नल जल योजना के तहत किए जा रहे बोरिंग में ग्रामीणों द्वारा व्यवधान उत्पन्न किया जा रहा है। जिलाधिकारी ने अंचलाधिकारी वजीरगंज को 2 दिन के अंदर स्थल निरीक्षण कर खुद उपस्थित रहकर बोरिंग कराना सुनिश्चित करने के निदेश दिए। साथ ही इमामगंज, टिकारी, फतेहपुर, मोहनपुर और आमस प्रखंड में भी इसी समस्या को लेकर जिलाधिकारी ने संबंधित अंचलाधिकारी को उपस्थित रहकर बोरिंग कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि यदि कोई व्यक्ति द्वारा सरकारी कार्य में बाधा पहुंचाता है तो उसके विरुद्ध प्राथमिकी दर्ज कराएंगे। उन्होंने उपस्थित अभियंता को निर्देश दिया कि नल जल योजना का कार्य पूर्ण रूप से गुणवत्तापूर्ण रहनी चाहिए। क्योंकि इसका मॉनिटरिंग पीएचईडी के द्वारा, इसके बाद जिला स्तर के पदाधिकारी द्वारा एवं उसके बाद सचिवालय स्तर से भी मॉनिटरिंग एवं जांच की जाएगी। यदि गुणवत्ता में कोई कमी पाई जाएगी तो संबंधित अभियंता पर अनिवार्य रूप से कार्रवाई होगा। 
उन्होंने कहा कि अभिलेखों का संधारण भी सही रूप से करें। उन्होंने पीएचइडी द्वारा लगाए गए टावर पर फ्लेक्स लगवाने के निर्देश दिए एवं फ्लेक्स में सभी डिटेल अंकित कराने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सरकार का ऐसा निर्देश है कि गया जिला में अप्रैल माह के अंत तक या 15 मई तक सभी प्रखंडों में कार्य पूर्ण होनी चाहिए। जिससे इस वर्ष गर्मी के मौसम में पानी की दिक्कत बहुत हद तक नहीं होगी। उन्होंने कहा कि जिस प्रखंड में अप्रैल माह तक नल जल योजना पूर्ण हो जाएगा, वैसे अभियंता को सम्मानित किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जो कांट्रेक्टर बोरिंग करने में नाराजगी जाहिर कर रहे हैं वैसे कांट्रेक्टर को ब्लैक लिस्टेड करके उनका निबंधन रद्द किया जाए। इसके उपरांत उन्होंने पुनः उपस्थित सभी अभियंता को निर्देश दिए की अपने अपने क्षेत्र में कोरोना वायरस के लिए जागरूकता अनिवार्य रूप से करें।
बैठक में उपस्थित निदेशक डीआरडीए श्री संतोष कुमार, जिला पंचायत राज पदाधिकारी श्री सुनील कुमार, कार्यपालक अभियंता लोक स्वास्थ्य अभियंत्रण विभाग श्री विवेक कुमार एवं अन्य पदाधिकारी एवं कर्मी उपस्थित थे।

No comments