Breaking News

सिंहेश्वर महोत्सव का हुआ भव्य आगाज, कलाकारों ने बाँधा शमां

सिंहेश्वर महोत्सव का हुआ भव्य आगाज, कलाकारों ने बाँधा शमां
 
मधेपुरा बिहार 

हर खबर आप तक 

भारत न्यूज़ लाइव 24

रिपोर्टर अमीर आजाद

महाशिवरात्रि के शुभ अवसर पर होने वाले बारह दिवसीय श्री सिंहेश्वर महोत्सव का शुभारंभ रविवार को भव्य रूप से किया गया. जिसकी अध्यक्षता डीएम नवदीप शुक्ला ने की. स्वागत भाषण लोक निवारण पदाधिकारी शिव कुमार शैव ने दिया. 

कार्यक्रम की शुरूआत दीप प्रज्वलित कर पर्यटन मंत्री कृष्ण कुमार ऋषि, विधि मंत्री नरेंद्र नारायण यादव, एससी-एसटी कल्याण मंत्री डॉ. रमेश ऋषिदेव, सांसद दिलेश्वर कामेत, डीएम नवदीप शुक्ला, एसपी संजय कुमार व अन्य ने किया. कार्यक्रम की शुरुआत शशिप्रभा जायसवाल ने स्वागत गीत से किया. जिसके बाद नन्हीं बच्ची ऐश्वर्या ने गिटार पर राष्ट्रगान की धुन बजाया जिसे सुन सभी मंत्रमुग्ध हो गए और बच्ची का जमकर तारीफ किया. 

उद्घाटन समारोह से पूर्व सभी अतिथि को पुष्पगुच्छ, अंगवस्त्र और प्रतीक चिन्ह से सम्मानित किया गया. इस कार्यक्रम में 3 दिनों तक बॉलीवुड के कलाकार और 9 दिनों तक रामायण मंचन की प्रस्तुति दी जाएगी । पर्यटन मंत्री कृष्ण कुमार ऋषि ने कहा कि सभी की निगाह रहती है कि अच्छे कलाकार आये हैं कि नही. इस धरती पर जो भी आते हैं वो अपना माथा जरूर टेकते हैं. बिहार लगातार प्रगतिशील है. हम लगातार अच्छे होते जा रहे हैं. 2005 में नीतीश कुमार की सरकार आने पर दिनोदिन विकास होता जा रहा है. हम दो ही मेला बहुत दिनों से सुन रहे हैं. सोनपुर मेला विश्व प्रसिद्ध मेला है. हम सिंहेश्वर मेला को सोनपुर मेला के स्तर पर क्यो न पहुंचाएं. कैसे उस स्तर पर सिंहेश्वर पहुचे इस पर ध्यान देने की आवश्यक्ता है. सिंहेश्वर अपने लोगों का मेला है. अन्य राज्य के लोग जो यह आते है उन्हें ब्रांड अम्बेसडर समझे. जब आप दूसरे राज्य के लोगों को ब्रांड अम्बेसडर समझने लगेंगे तब आप उस स्तर पर पहुच जाएंगे. 2016 में शराब बंदी हुई थी. लोगो को लगा कि अब पर्यटक बिहार नही आएंगे. जब इसका पड़ताल किया गया तो पता चला की पर्यटकों में बढ़ोतरी हुई है.

कहा कि पूर्व में सिंहेश्वर महोत्सव के लिए 20 लाख की राशि दिये गए, लेकिन 18 लाख खर्च हुए तो इस बार 18 लाख भेजा गया. फिर कहा गया इससे नैन होगा तो हम आश्वासन देते हुए 10 लाख रुपये तुरंत भिजवा दिए. शिव के कारण इस मेले का महत्व काफी है. इसलिए मेला को और आकर्षक बनाये राशि की चिंता नहीं करें. शिवगंगा भी है जिसका अपने आप में अलग महत्व है. इस पावन धरती पर राष्ट्रपति पुरस्कार से सम्मानित कलाकार भी है. आपका यह मेला राष्ट्रीय स्तर पर कैसे पहुंचे सबके साथ मिलकर इसके लिए पहल करे, सरकार आपके साथ है. जिसना प्रयास करना होगा करेंगे. यहाँ पर्यटक आये वही हमारे ब्रांड एम्बेसडर हैं.  डीएम को यह भी कहा कि मेले का अच्छा रिपोर्ट भेजे सारी सुविधाएं दी जाएगी.  ऐसा शिवगंगा को ऐसा बनाये कि उसका जल बाबा पर चढ़ जाए. बाकी सब व्यवस्था हम कर देंगे । 

एससी-एसटी कल्याण मंत्री डा. रमेश ऋषिदेव ने कहा बाबा की नगरी में एक माह तक चलने वाला मेला में महोत्सव पहले तीन दिन का होता था अब 12 दिन का हो गया. जिसमें 3 दिन बॉलीवुड के कलाकारों द्वारा तथा 9 दिन रामायण मंचन हो गया. उन्होंने कहा पर्यटन मंत्री ने कहा है कि महोत्सव में जो पैसा लगेगा वह दिया जायेगा. उन्होंने सिंहेश्वर वासियों से अपील की सिंहेश्वर आने वाले श्रद्धालुओं की सेवा करें ताकि लोग खुश हो कर घर जाये. उन्होंने पर्यटक मंत्री को संबोधित करते हुए कहा यह बाबा की नगरी है बाबा के लिए कोई घोषणा करते हैं तो बाबा उसकी झोली भर देते हैं. बाबा के परिवार से सीख लेना चाहिए कि बाबा की सवारी नंदी, मैया की सवारी शेर, गणेश जी की सवारी चूहा एक दूसरे के दुश्मन हैं लेकिन सब आपस में मिलजुल कर रहते हैं. उन्होंने सिंहेश्वर मंदिर न्यास समिति के लोगों का बिना नाम लिए कहा जो बाबा को छेड़ते हैं बाबा उसे नहीं छोड़ते हैं. उसी पर पर कहा भगवान शिव से मैया ने अच्छा घर बनाने की उसके जिद के आगे भगवान ने सोना का महल बनाया. पूजा के लिए पंडित को बुलाया पूजा के बाद दक्षिण में मैया ने पंडित को कहा जो मांगोगे वह मिलेगा. पंडित ने सोने का महल ही मांग लिया. इसलिए जो भाग्य में नही होता है वह नहीं मिलता है । 

लघु सिचाई व विधि विभाग मंत्री नरेंद्र नारायण यादव ने कहा हमारा देश गंगा जमुनी तहजीब के हिसाब से चलता है । हमरा देश ऋषि मुनियों का देश है. हम अपने अतिथि को देवता का स्वरूप मानते हैं. कोशी महोत्सव, उग्रतारा महोत्सव सहित अन्य महोत्सव में पिछले साल 10 लाख से ज्यादा पर्यटक राज्य में आये. इस वर्ष 11 लाख से अधिक पर्यटक हमारे राज्य में अभी तक आ चुके हैं. शिव की महिमा बखान करते हुए कहा जब  हलाहल की उत्पत्ति हुई तो जगत में भगदड़ मच गया. तब भगवान भोलेनाथ ने विष को पी कर जन कल्याण किया । सांसद दिलेश्वर कामत ने कहा मधेपुरा में पढता था तो सिंहेश्वर मेला पैदल आते थे पूजा करते थे और मेला देखते थे, जो बहुत ही भीड़ वाला मेला लगता था । 

डीएम नवदीप शुक्ला ने कहा कि बड़ी खुशी की बात है कि मंत्री जी के सहयोग से आयोजन का स्तर बढता जा रहा है । जिसके कारण सिनेमा के कलाकारों को को मंच पर देखते हैं । एसपी संजय कुमार ने कहा कि मेला और महोत्सव का शांति से आनंद उठाएं। किसी प्रकार की गड़बड़ी होने पर तत्काल शिकायत करें।

No comments