Breaking News

आयुक्त ने की तकनीकी विभागों की प्रगति की समीक्षा

*आयुक्त ने की तकनीकी विभागों की प्रगति की समीक्षा*
गया, 27.02.2020, एनएचएआई की समीक्षा के दौरान बताया गया कि एनएच-2 (औरंगाबाद से चोरदाहा/ झारखंड बॉर्डर तक) 70 किलोमीटर में मेंटेनेंस का काम हुआ है। जीर्णोद्धार हेतु पुराना सरफेस हटा दिया गया है। 31 जनवरी 2020 को एनओसी मिल गया है दो-तीन दिनों में प्रशासनिक स्वीकृति मिल जाएगी। 45 दिनों में काम चालू हो जाएगा। आयुक्त महोदय ने कहा कि नेशनल हाईवे को सबसे बढ़िया सड़क माना जाता है और इस पर ड्राइविंग स्मूथ होना चाहिए ऐसा ना हो कि कहीं पुल पुलिया है तो गाड़ी को स्लो करना पड़े कहीं ऊबर खाबर सड़क नहीं होनी चाहिए इससे वाहन चलाने वाले को परेशानी होती है। उन्होंने इसी प्रकार फल्गु नदी पर बन रहे पुल पर भी ध्यान देने का निर्देश दिया। NH-82 गया- बिहार शरीफ सड़क की समीक्षा के दौरान आयुक्त महोदय ने कहा कि इस सड़क में एक भी लेन पूरी तरह से कंप्लीट नहीं है कहीं वाहन को दाएं से तो कहीं बांये से ले जाना पड़ता है। साथ ही पुल पुलिया के पास सड़क को पूर्णतया कंप्लीट नहीं किया गया है, जिससे वाहन को रोककर पार करना पड़ता है। बताया गया इस सड़क में मानपुर और हिसुआ बाईपास के समीप कुछ समस्या है। आयुक्त महोदय ने जल्द से जल्द समस्या का निराकरण करने के निर्देश दिए। एन एच-88 गया -डोभी रोड एवं गया- जहानाबाद रोड को भी ड्राइविंग स्मूथ बनाने के निर्देश दिए गए। अधीक्षण अभियंता द्वारा बताया गया कि अभी केवल गड्ढे को फिल अप कराया जा रहा है, इसके ऊपर पुनः लेयर चढ़ाकर से स्मूथ बनाया जाएगा। आयुक्त महोदय ने गया शहर में प्रवेश करने के लिए एक क्लियर रोड चिन्हित करने का निर्देश दिया और इसमें जनता का भी सहयोग प्राप्त करने के निर्देश दिए ताकि गया शहर में आसानी से प्रवेश किया जा सके।
पथ निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता द्वारा बताया गया कि एनएच -110 में बंधुगंज के समीप थोड़ी सी समस्या है शेष में सड़क ठीक है। आयुक्त महोदय ने कहा कि जहानाबाद- अरवल पथ में एक पुल की स्थिति काफी खराब है। उन्होंने जिलाधिकारी अरवल और जिलाधिकारी जहानाबाद को प्रधान सचिव पथ निर्माण विभाग को पत्र भेजने हेतु निर्देशित करने को कहा।
एनएच- 120 गया गोह तक के सड़क की स्थिति अच्छी बताई गई।
एस एच- 70 गया -फतेहपुर- रजौली,एस एच -101 अनुग्रह नारायण मेडिकल कॉलेज -मथुरापुर -कस्तूरा, एस एच-4 गया- खिजरसराय -इस्लामपुर की स्थिति ठीक बताई गई।
बोधगया- मोहनपुर रोड एवं मोहनपुर -बाराचट्टी रोड की समीक्षा के दौरान मोहनपुर- बाराचट्टी रोड में कुछ समस्या होने की जानकारी दी गई। आयुक्त महोदय ने कहा कि यह बहुत ही महत्वपूर्ण सड़क है, समस्या का निराकरण जल्द कराने के निर्देश दिए गए। 
मोहनपुर- फतेहपुर- भलुआ चट्टी रोड की समीक्षा के दौरान आयुक्त महोदय ने कहा कि मोहनपुर पार् करने के उपरांत 4किमी के बाद सड़क में, नदी पर, पुल नहीं है,जबकि नदी भी सुखी है। यह अत्यंत आवश्यक है। अधीक्षण अभियंता को स्वयं जाकर स्थल निरीक्षण कर लेने के निर्देश दिए गए।
कुर्था -मऊ- टिकारी सड़क में भी टिकारी एवं मऊ के समीप समस्या बताई गई। जहानाबाद-घोसी-इस्लामपुर राजगीर सड़क को सही बताया गया। एसएच-101 अंबा से गया 55 किलोमीटर सड़क को भी ठीक बताया गया। शिवगंज- रफीगंज- बैदराबाद सड़क की समीक्षा के दौरान आयुक्त महोदय ने कहा कि इस सड़क में देवकुंड वाला पार्ट को छोड़ दिया गया है। 3. 3 किलोमीटर में सड़क नहीं होने, गोह के पास सड़क सिंगल होने एवं बाजार के समीप कीचड़ रहने की जानकारी देते हुए उन्होंने बचे हुए भाग को जल्द से जल्द ठीक करवाने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि पटना जाने के लिए यह एक अच्छी वैकल्पिक सड़क हो सकती है।
गया- पंचानपुर -दाउदनगर सड़क, हिसुआ- नवादा- पकड़ी बरावां, गया -फतेहपुर-रजौली, मानिकपुर -कुर्था- किंजर, इमामगंज- डुमरिया सड़क की समीक्षा की गई। 
बिहार राज्य पुल निर्माण निगम की समीक्षा के दौरान बताया गया कि पुल निर्माण की 6 योजना गया में चल रही है, 3 योजना मार्च तक पूर्ण हो जाएगी। आयुक्त महोदय ने बताया कि डुमरिया के पहले बने हुए पुल की गुणवत्ता काफी खराब है एजेंसी को चिन्हित करते हुए उसे ब्लैक लिस्टेड करने के निर्देश दिए गए। साथ ही गया- शेरघाटी पथ में चीताब कला के समीप के पुल जून तक पूर्ण होने की जानकारी दी गई। आयुक्त महोदय ने पुल निर्माण में गुणवत्ता पर ध्यान देने के निर्देश दिए।
अधीक्षण अभियंता ने बताया कि जहानाबाद में 2, अरवल में 1 तथा औरंगाबाद में 1 योजना में कार्य चल रहा है। रोपवे के संबंध में बताया गया कि बराबर में 2000 मीटर का, गया में प्रेतशिला, ब्रह्मयोनि और डुंगेश्वरी में रोपवे टेंडर की प्रक्रिया में है। आयुक्त महोदय ने कहा कि गुरपा में भी रोपवे बनाया जाना चाहिए। 
ग्रामीण कार्य विभाग के अधीक्षण अभियंता ने बताया कि नल- जल योजना के अंतर्गत सड़क काटकर पाइप ले जाया जा रहा है लेकिन पुनः सड़क का निर्माण नहीं कराया जा रहा है। आयुक्त महोदय ने पीएचडी के अधीक्षण अभियंता को अपने कनीय अभियंता को ग्रामीण कार्य विभाग के कनीय अभियंता से समन्वय स्थापित कर उन जगहों की सूची उपलब्ध कराने के निर्देश दिए ताकि सड़क की मरम्मत कराई जा सके।
पीएचईडी के अधीक्षण अभियंता ने बताया कि नल जल योजना में विद्युत संबंधन की समस्या उत्पन्न हो रही है।बिजली विभाग द्वारा नए मीटर उपलब्ध कराने में विलंब किया जा रहा है आयुक्त महोदय ने पूर्व से कनेक्शन हेतु आवेदन देने का निर्देश दिए उन्होंने कहा कि चुकी संपूर्ण राज्य में नल जल योजना के तहत कनेक्शन लिया जा रहा है। इसलिए मीटर की समस्या उत्पन्न हो गई है।
भवन निर्माण विभाग के अधीक्षण अभियंता ने बताया कि उनकी बड़ी परियोजनाओं में रफीगंज में एक इंजीनियरिंग कालेज तथा जहानाबाद के हुलासगंज में इंजीनियरिंग कॉलेज का निर्माण कार्य चल रहा है। हुलासगंज में पहुंच पथ की समस्या है, इसके लिए भूमि अधिग्रहण की कार्रवाई प्रक्रिया में है। आयुक्त महोदय ने एटीआई(प्रशासनिक प्रशिक्षण संस्थान) गया का भवन निर्माण कार्य जल्द पूर्ण कराने के निर्देश दिए।
आयुक्त महोदय ने अंत में सभी अधीक्षण अभियंता को संबोधित करते हुए कहा कि यह वित्तीय वर्ष का अंतिम महीना है इसलिए अपने अपने विभाग के जीएसटी, माइनिंग रॉयल्टी और टीडीएस कटौती कराना सुनिश्चित करें ताकि सरकार को समय राजस्व प्राप्त हो सके।
बैठक में आयुक्त के सचिव, उप निदेशक जन संपर्क एवं सभी तकनीकी विभाग के अधीक्षण अभियंता उपस्थित थे।

No comments