Breaking News

सीएए ,एनआरसी एवं एनपीआर के खिलाफ बाराचट्टी में लगा भीम चौपाल

सीएए ,एनआरसी एवं एनपीआर के खिलाफ बाराचट्टी में लगा भीम चौपाल

बाराचट्टी (गया)।राष्ट्रीय स्तर पर लाए गए नागरिक संशोधन अधिनियम (सीएए), राष्ट्रीय नागरिकता रजिस्टर (एनआरसी), तथा राष्ट्रीय जनसंख्या रजिस्टर (एनपीआर) के खिलाफ आगामी 27 फरवरी 2020 को पटना के गांधी मैदान में आयोजित होने वाले महारैली को लेकर आज बाराचट्टी के काहुदाग पंचायत अंतर्गत निमियाटांड स्थित मध्य विद्यालय के प्रांगण में एक स्वयंसेवी संगठन के नेतृत्व में भीम चौपाल का आयोजन किया गया। इस मौके पर लोक मंच के संयोजक फादर अल्टो ने कहा कि भारतीय संविधान किसी भी नागरिक को जाति, धर्म, लिंग, वंश के आधार पर भेदभाव नहीं करता है। लेकिन मौजूदा केंद्र सरकार ने देश में इस कानून को लाकर गंभीर संवैधानिक संकट खड़ा कर दिया है। जिसका खामियाजा यहां के दलित ,पिछड़े, अल्पसंख्यकों को भुगतना होगा ।इसका जीता जागता उदाहरण असम की है, जहां यह कानून लागू होने के बाद 19 लाख लोग आज भी नागरिकता से वंचित हैं। वहीं इसकी प्रक्रिया पूरी करने में देश पर 55 हजार करोड़ अतिरिक्त बोझ बढ़ेगा जिसका नतीजा देश के विकास पर पड़ेगा। चौपाल को संबोधित करते हुए मंच के महिला कार्यकर्ता संगीता देवी ने उपस्थित लोगों से आगामी 27 फरवरी को पटना के गांधी मैदान में होने वाले महारैली में अधिकाधिक लोगों की भागीदारी की अपील की। समारोह को संबोधित करने वाले अन्य लोगों में ब्रृज रविदास, रामाशीष यादव ,पूर्व पंचायत समिति सदस्य आदि शामिल थे।

No comments