Breaking News

जयस महपंचायत आमसभा पुष्पराजगढ़ में सपन्न

जयस महपंचायत आमसभा पुष्पराजगढ़ में सपन्न

राजेन्द्रग्राम- जयस महपंचायत पुष्पराजगढ़ का आमसभा की शुरूआत  डाँ,हीरालाल अलावा, अलावा जयस राष्ट्रीय अध्यक्ष के अगुवाई में किया गया जयस कार्यकर्ताओं द्गारा समूहिक रूप से मल्यार्पण से स्वागत किया गया  विशिष्ट अतिथि श्रीमति हिमाद्री सिंह सांसद,हीरा श्याम जनपद अध्यक्ष सिंह ,रजेश सरेटिया,पुष्पराज सिंह ,अर्जुन सिंह,राम सिंह आर्मो जिला पंचायत उपाध्यक्ष,यशोदा सिंह पाटले प्रदेश सचिव महिला मोर्चा,नर्बदा सिंह ब्लाक कांग्रेस,मनोज सिंह धुर्वे,सुशीला टेकाम,अजय सिंह मार्को ब्लाक उपाध्यक्ष,जिया पेन्द्राम सम्भागीय सचिव जबलपुर,इन्द्रपाल मरकाम जिला अध्यक्ष डिण्डौरी,गोपाल सिंह उरेती जिला अध्यक्ष मंडला,दीपक मसराम जिला उपाध्यक्ष डिण्डौरी,ललन सिंह मरावी राष्ट्रीय संचालक,महा सिंहसंगठन मंत्री डिण्डौरी,नारेन्द्र सिंह मरावी पूर्व अनुसूचित जन जाति आयोग अध्यक्ष,पूरन चन्देल प्रदेश अध्यक्ष महरा समाज संगठन,राजन कुमार नईदिल्ली पत्रकार,कृष्णपाल सिंह जिला अध्यक्ष सीधी,डाँ,दिग्वजय सिंह डिण्डौरी,दलबीर सिंह,शंकर सिंह मार्को जिला अध्यक्ष उमरिया,दिनेश श्याम जयस जिला सरक्षंक प्रभारी अनूपपुर,आर पी सिंह धुर्वे जयस जिला अध्यक्ष,रघुवीर सिंह मरावी जिला जयस कार्मवाहक अध्यक्ष,मनोज सिंह मरावी सहित कार्यक्रम में हजारों की संख्या मे मौजूद रहे।डाँ,हीरा लाल अलावा आम सभा को संबोधित करते हुए कहा जयस कोई पार्टी लेवल का नहीं है यह समाज एक समाज सेवा है जो मैं आदिवासी समाज के लिए लडाई लडूंगा हमारे आदिवासी समाज मेरे साथ दे मैं कंधे से कंधे मिलाकर आदिवासीयों के हक की लडाई लडूंगा आदिवासी समाज को किसी के सामने भीख मांगने की जरुरत नहीं है आदिवासी के विकास व अपने अधिकार के लिए जल,जंगल,और जमीन की लडाई मैं लडूंगा ऐसे उन्होंने अश्वासन दिऐ है।

जयस ने बताया खनिज माफियाओं के खिलाफ समस्या

हम आदिवासीयों को चंद पैसे की लालच देकर आदिवासियों की जमीनों को खरीद कर क्रेसर डाल देते है अच्छे खासे उपजाऊ जमीन को बंजर बनाकर गड्ढे में तब्दील कर छोड़ देते है जिससे हमारे आदिवासी समाज सडक पर आ जाती है लेकिन जयस निर्णनय लिया है कि अब इस तरह की नवमत नहीं आएगी क्योंकी हमारे ही जमीन को बंजर बनाते है और आदिवासी समाज को भूखे मरने की दशा में आना पडता है। पुष्पराजगढ़ में जहां देखो आज बाहर से आकर महाजन लोग हम आदिवासियों की जमीनों खनिज माफियाओं द्गारा उपजाऊ जमीन को बंजर बना देते है।जयस का कहना है की अब अपने हक की लडाई लडकर अपने जमीन बचाने की कार्यकरेगा।

शिक्षा जगत को आगे लाना है

जयस महापंचायत पुष्पराजगढ़ में जयश प्रभारी अनूपपुर दिनेश श्याम ने कहा हमारे समाज में  बहुत कम पढे़ लिखे देखने को मिल रही है जिससे हमारे आदिवासी समाज पिछडते नजर आ रही है।आपने कहा भारतीय सविंधान उन्निस सौ सैतालिस को संविधान में रखा गया आदिवासी वन संपदा आज भी ज्यो का त्यों बना हुआ है,पेसा कनून में बताया गया कि पंचों के माध्यम से होती है ग्राम सभा हम ग्राम सभा की प्रस्ताल को कहीं भी पेश करते है उस प्रस्ताव को कोई भी नहीं लतकार सकता है।इसलिए हमारे आदिवासी समाज आज पढाई व शिक्षा की दशा में पीछे है और अब शिक्षा जगत को जगाने की प्रयाशरत रहेंगे।वहीं विंध्य क्षेत्र के सरंक्षक सीतल टेकाम ने कहा जयस एक बिचार धारा है जयस किसी पार्टी लेवल का नहीं है।जयस आदिवासी समाज के लिए लडाई लड रही है।किसी पार्टी लेवल से जयस को मतलब नहीं है आपने कहा एक एक आदिवासी डाँ,हीरा लाल अलावा नहीं बनेगा तब तक समाज सोते रहेगा बडे बडे जमीनों को धोखे में आकर बेच दिया जाता है जो बाद में हमारे समाज को रोड़ में आ जाते है इस कारण  हमको आदिवासी समाज को शिक्षा की दिशा दिखा बहुत जरुरी है।

No comments