Breaking News

अमरकंटक नर्मदा महोत्सव की तैयारियाँ ज़ोरों पर

अमरकंटक नर्मदा महोत्सव की तैयारियाँ ज़ोरों पर

डीआईजी शहडोल रेंज पीएस उईके ने कार्यक्रम स्थल एवं सुरक्षा व्यवस्था का किया मुआयना

अनूपपुर 28 जनवरी 2020/

नर्मदा जयंती के अवसर पर 31 जनवरी से 2 फ़रवरी तक आयोजित होने वाले अमरकंटक नर्मदा महोत्सव की तैयारियाँ ज़ोरों पर हैं। डीआईजी शहडोल रेंज पी॰एस॰ उईके द्वारा आज तैयारियों एवं आयोजन में प्रयुक्त होने वाले कार्यक्रम स्थलों की व्यवस्थाओं एवं सुरक्षा प्लान की समीक्षा की गयी। इस दौरान कलेक्टर चंद्रमोहन ठाकुर एवं पुलिस अधीक्षक द्वारा कार्यक्रम की विस्तार से जानकारी एवं व्यवस्थाओं के सम्बंध में डीआईजी को अवगत कराया गया। श्री उईके द्वारा व्यवस्थाओं के सम्बंध में आवश्यक निर्देश दिए गए। संयुक्त टीम ने मुख्य कार्यक्रम स्थल, माँ नर्मदा मंदिर, आगंतुक ग्रामीणों की ठहरने की व्यवस्था, माँ नर्मदा कुंड, मैकल पार्क, रामघाट सभी स्थलों का निरीक्षण किया। इस दौरान पेय जल व्यवस्था, आवागमन व्यवस्था, कार्यक्रम के दौरान साफ़ सफ़ाई आदि विषयों में विस्तारपूर्वक चर्चा की गयी एवं आवश्यक सुधारात्मक निर्देश दिए गए।

महोत्सव के माध्यम से क्षेत्र की समृद्ध सांस्कृतिक धरोहर कला एवं स्थानीय स्वास्थ्यवर्धक कृषि उत्पादों (जैसे-कोदो चावल) का आमजनो के समक्ष प्रदर्शन किया जाएगा। इस उद्यम के माध्यम से अमरकंटक को सदाबहार पर्यटन स्थल के रूप में विकसित करने का प्रयास किया जा रहा है, ताकि क्षेत्र में पर्यटन एवं सहायक संबद्ध क्षेत्रों में रोज़गार की सम्भावनाओं एवं जनजातियों के जीवन स्तर में वृद्धि हो।

कार्यक्रम के आकर्षण

*माँ नर्मदा शोभा यात्रा*

नर्मदा नदी क्षेत्र में "माँ" के रूप में पूजी जाती हैं। महोत्सव के दौरान अमरकंटक नगरीय क्षेत्र में माँ नर्मदा की शोभा यात्रा निकाली जाएगी। पारम्परिक रूप से निकलने वाली इस शोभा यात्रा में इस बार स्थानीय जनजातीय समूहों के द्वारा लोकनृत्य आयोजित किए जाएँगे।

*योगाभ्यास*

सम्पूर्ण स्वास्थ्य सुनिश्चित करने की प्राचीन भारतीय पद्धति "योग" आज पूरे विश्व में चर्चित है एवं अपनाई जा रही है। योग शारीरिक मानसिक एवं आध्यात्मिक शांति एवं समन्वय प्राप्त करने का उत्कृष्ट माध्यम है। अमरकंटक नर्मदा महोत्सव के दौरान प्रतिदिन मैकल पार्क में इंदिरा गाँधी जनजातीय विश्वविद्यालय के योग शिक्षकों के द्वारा आमजनो हेतु योगाभ्यास शिविर आयोजित किया जाएगा। अमरकंटक के रमणीय एवं सुरम्य वातावरण में योग करना एक अविस्मरणीय अनुभव है, जो कि आने वाले समय में शहरों महानगरों के निवासियों को भागदौड़ भरी ज़िंदगी से दूर शारीरिक मानसिक एवं आध्यात्मिक लाभ लेने हेतु अमरकंटक आने हेतु आकर्षित करेगा।

*सांस्कृतिक कार्यक्रम*

नैसर्गिक भव्यता से परिपूर्ण अमरकंटक क्षेत्र जनजातीय संस्कृति की अनूठी धरोहर है। महोत्सव के दौरान स्थानीय जनजातीय कला एवं संस्कृति का विधिवत प्रदर्शन किया जाएगा। जनजातीय कलाकारों को महोत्सव के दौरान विश्व विख्यात कलाकारों के साथ मंच प्रदान किया जाएगा ताकि यहाँ की सांस्कृतिक विरासत को बड़े स्तर पर पहुँचाया जा सके जो कि आगे चलकर आजीविका संवर्धन में सहायक हो। सांस्कृतिक कार्यक्रमों के साथ जनजातीय समूहों द्वारा निर्मित आभूषणों, बीजापुरी काष्ठ शिल्प आदि के स्टॉल लगाए जाकर जनजातीय कला को संरक्षित प्रोत्साहित एवं मूल्यवर्धक बनाने का प्रयास किया जा रहा है।

*ट्रेकिंग*

विंध्य एवं सतपुड़ा पहाड़ियों के संगम क्षेत्र मैकल पहाड़ियों में स्थित अमरकंटक एक अनूठी प्राकृतिक विरासत है। सघन वन से आच्छादित यह क्षेत्र अचानकमार अमरकंटक जैवमंडल आगार क्षेत्र में स्थित है। क्षेत्र की प्राकृतिक सुंदरता एवं भौतिक उच्चावच प्रकृति प्रेमियों के लिए उपहार है। क्षेत्र की इस क्षमता से प्रकृति प्रेमियों को अवगत कराने हेतु प्रतिदिन 4 रूट में ट्रेकिंग गतिविधि आयोजित की जाएगी।

*महाआरती*

महोत्सव के दौरान माँ नर्मदा मंदिर के साथ साथ प्रतिदिन माँ नर्मदा तट रामघाट में भव्य महाआरती का आयोजन किया जाएगा। उच्च मंचो में 7 पुजारियों के द्वारा एक साथ आरती की जाएगी। इस दौरान माँ नर्मदा के जीवन पर आधारित लाइट एवं साउंड शो आयोजित किया जाएगा। इसके साथ ही शहर के कई स्थलों में महाआरती के सीधे प्रसारण की व्यवस्था रहेगी।


*कन्या भोज*

अमरकंटक नर्मदा महोत्सव-2020 के द्वितीय दिवस 1 फ़रवरी 2020 में माँ नर्मदा का जन्मदिवस है। इस दिन के सभी कार्यक्रम बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ थीम पर आयोजित होंगे। समस्त कार्यक्रम एवं प्रस्तुतियाँ नारी शक्ति पर आधारित होंगी। इस दिन की शुरुआत माँ नर्मदा एवं देवी स्वरूप बालिकाओं के पूजन तथा 2100 बालिकाओं के सामूहिक कन्या भोज से होगी।

*108 कुंडीय यज्ञ*

क्षेत्र की समृद्धि ख़ुशहाली एवं दैवीय आशीर्वाद की प्राप्ति हेतु महोत्सव के समापन दिवस में 108 कुँडीय यज्ञ का आयोजन किया जाएगा।

No comments