Breaking News

जिलाधिकारी ने की विभागों की साप्ताहिक समीक्षा

*जिलाधिकारी ने की विभागों की साप्ताहिक समीक्षा
*
रिपोर्टः
दिनेश कुमार पंडित
बिह
बिहार के जिला गया में
समाहरणालय सभाकक्ष में जिलाधिकारी श्री अभिषेक सिंह की अध्यक्षता में सभी विभागों के प्रगति की साप्ताहिक समीक्षा बैठक की गई। बैठक में शौचालय निर्माण, जलशक्ति अभियान, नल जल, नली गली, कृषि फसल सहायता, राशन कार्ड, लोक शिकायत निवारण अधिकार अधिनियम, लोक सेवाओं का अधिकार अधिनियम, एम.जे.सी. एवं सीडब्ल्यूजेसी मामले में शपथ दायर करना, ऐ.ई.एस बीमारी के प्रति जागरूकता, प्रमादी डीलर पर कार्रवाई की स्थिति की समीक्षा की गई। 
लोक सेवाओं के अधिकार अधिनियम की समीक्षा के दौरान बताया गया कि परैया, सदर गया प्रखंड में कई आवेदन समयातीत हो गए हैं। जिलाधिकारी ने कहा कि वैसे आवेदन जो समयातीत हो गए हैं उन सबों के लिए संबंधित पदाधिकारी/कर्मियों पर जुर्माना अधिरोपित किया जाएगा। यदि किसी पदाधिकारी/कर्मचारी का स्थानांतरण हो गया है, उनके द्वारा जब तक उनसे संबंधित मामले का निष्पादन नहीं हो जाता तब तक उन्हें अंतिम वेतन प्रमाण पत्र नहीं उपलब्ध कराया जाए। उन्होंने कहा कि यदि निरीक्षण के दौरान आरटीपीएस काउंटर पर बिचौलिए नजर आए तो आईटी असिस्टेंट एवं संबंधित पदाधिकारी पर अनुशासनिक कार्रवाई की जाएगी। पंचायत सरकार भवन में कार्यरत आरटीपीएस काउंटर के संबंध में बताया गया कि समय से कार्यालय में काउंटर नहीं चलते हैं इसके संबंध में आईटी मैनेजर ने बताया कि सभी पंचायत को आईडी लॉगिन और पासवर्ड दिया गया है। जिलाधिकारी ने वरीय पदाधिकारी सह जिला अल्पसंख्यक पदाधिकारी को लगातार क्षेत्र भ्रमण कर इसकी जांच करने का निर्देश दिया। 
सात निश्चय के तहत स्टूडेंट क्रेडिट कार्ड की समीक्षा के दौरान बताया गया कि 2626 आवेदन स्वीकृत हैं, 2223 आवेदकों को ऋण प्रदान किया गया है।
नल जल योजना के समीक्षा के दौरान बताया गया कि 2613 वार्डों में से 2570 वार्डों में काम प्रारंभ हो गया है। 396 वार्डों में बोरिंग हो गया है। जिलाधिकारी ने जिला पंचायत राज पदाधिकारी को सभी वार्डों में काम शुरू करवाने का निर्देश दिया। साथ ही वैसे वार्ड जहां बोरिंग फेल हो गया हो उस वार्ड को पीएचइडी को स्थानांतरित करने का निर्देश दिया।
पीएचइडी के कार्यपालक अभियंता ने बताया कि उनके 1507 वार्ड में से 303 वार्डों में कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। तथा 1204 वार्डो के लिए टेंडर किया जा चुका है। 
शौचालय निर्माण की समीक्षा के दौरान उप विकास आयुक्त श्री किशोरी चौधरी ने बताया कि 43 हजार लोगों को 30 जून तक प्रोत्साहन राशि का भुगतान कराने का लक्ष्य निर्धारित किया गया था। जिनमें से 14500 लाभुकों को भुगतान किया जा चुका है। 
जिलाधिकारी ने प्रखंड के सभी वरीय पदाधिकारी को अपने अपने प्रखंड का भ्रमण कर स्थानीय पदाधिकारी से समन्वय कर बैंक से संपर्क कर भुगतान करवाने का निर्देश दिया। 
वुडको द्वारा नल जल योजना में धीमी प्रगति से काम करने के लिए उन्हें चेतावनी दी गई और कहा गया कि इस महीने के अंत तक 25% वार्डों में कार्य पूर्ण नहीं हुआ तो देय राशि में कटौती की जाएगी।
जिलाधिकारी ने कहा कि पर्यावरण बचाने के लिए पौधारोपण किया जाना है और इसके लिए जिला स्तर पर *हरित गया कोष* की स्थापना की गई है। इस कोष में लोग स्वेच्छा से दान दे सकते हैं। उन्होंने कहा कि वे चाहते हैं कि सभी पदाधिकारी 1 दिन का अपना वेतन इस कोष में दान देकर इसकी शुरुआत करें ताकि औरों को भी प्रेरणा मिल सके। इस राशि का उपयोग पौधा खरीदने या पौधा की सुरक्षा में किया जाएगा। 
जिलाधिकारी ने सभी पदाधिकारी को कहा कि उनके विभाग द्वारा जो कार्य किए जा रहे हैं उनमें से पांच- पांच सक्सेस स्टोरी (सफलता की कहानी) फोटोग्राफ के साथ प्रत्येक महीने जिला सूचना जनसंपर्क कार्यालय को उपलब्ध कराएं ताकि अच्छे कार्य करने वाले को प्रोत्साहित करने हेतु समाचार पत्रों में इसे प्रकाशित कराया जा सके। फिलहाल दो-दो सक्सेस स्टोरी उपलब्ध कराने का निर्देश दिया गया।
बैठक में सहायक समाहर्ता, उप विकास आयुक्त, जिला लोक शिकायत निवारण पदाधिकारी, जिला शिक्षा पदाधिकारी, अनुमंडल पदाधिकारी सदर, उप निदेशक जन संपर्क पदाधिकारी सहित तमाम पदाधिकारी मौजूद थे।


Editor prajapati

No comments