Breaking News

दिनांक 17 जुलाई 2019 को पुलिस अधीक्षक बलरामपुर * देव रंजन वर्मा* द्वारा तुलसीपुर मे प्रभारी निरीक्षक तुलसीपुर/ जरवा/ महाराजगंज तराई/ कोतवाली गैसड़ी/ हरैया तथा पचपेड़वा के प्रभारी निरीक्षक एवं थानों पर नियुक्त जनसुनवाई अधिकारी (पुरुष/ महिला) के साथ तथा इसी क्रम मे थाना को0उतरौला मे प्र0नि0 उतरौला/प्र0नि0 रेहरा /सादुल्लाहनगर एवं थानों पर नियुक्त जनसुनवाई अधिकारियों के साथ कार्यशाला का आयोजन




बलरामपुर(ब्यूरो)अशोक कुमार पाल
भारत न्यूज लाइव24 हर खबर आप तक

दिनांक 17 जुलाई 2019 को पुलिस अधीक्षक बलरामपुर * देव रंजन वर्मा* द्वारा तुलसीपुर मे प्रभारी निरीक्षक तुलसीपुर/ जरवा/ महाराजगंज तराई/ कोतवाली गैसड़ी/ हरैया तथा पचपेड़वा के प्रभारी निरीक्षक एवं थानों पर नियुक्त जनसुनवाई अधिकारी (पुरुष/ महिला) के साथ तथा  इसी क्रम मे थाना को0उतरौला मे प्र0नि0 उतरौला/प्र0नि0 रेहरा /सादुल्लाहनगर एवं थानों पर नियुक्त जनसुनवाई अधिकारियों के साथ कार्यशाला का आयोजन कर उन्हें प्रशिक्षित किया गया । कार्यशाला मे पुलिस अधीक्षक  ने बताया कि 1 जनवरी 2019  से अब तक भूमि विवाद से संबंधी जितने भी प्रार्थना पत्र प्राप्त हुए हैं व अन्य भूमि विवाद प्रकाश में आए हैं, उन्हें चिन्हित करें तथा दोनों पक्षों को नोटिस देकर थाना समाधान दिवस में तलब करें । भूमि विवाद से संबंधित गांव के ग्राम प्रधान व चौकीदार को समाधान दिवस में बुलाया जाए । समाधान दिवस के दिन चौकी व हल्कावार थाने में अलग-अलग मेज लगाई जाए व समाधान दिवस में विवादों को सुलझाने की दिशा में पुलिस राजस्व कर्मी /ग्राम प्रधान व चौकीदार मिलकर प्रयास करेंगे । विवाद में समझौता हो जाने पर सुलहनामा लिखवाया जाएगा । जिस पर दोनों पक्षों/ राजस्व कर्मी/ पुलिस /ग्राम प्रधान व चौकीदार के हस्ताक्षर सुलहनामा पढ़कर सुनाएं जाने के बाद कराएंगे । *संपूर्ण कार्यवाही की फोटोग्राफी व वीडियोग्राफी कराई जाएगी । पी०डी०एफ० बनाकर सुलहनामा व आख्या, प्रार्थना पत्र सहित आईजीआरएस के व्हाट्सएप नंबर 7839870103 पर जन सुनवाई अधिकारी द्वारा प्रेषित किया जाएगा ।* यदि थाना पर समझौता नहीं होता है तो राजस्व /पुलिस टीम विवाद के मौके पर जाकर स्थली निरीक्षण करेंगे व स्थल का फोटो  व वीडियो तैयार करेंगे व मौके पर विवाद को निस्तारित करने का प्रयास करेंगे तथा विवाद निस्तारित होने के पश्चात या तकनीकी कारण से विवाद का निस्तारण ना होने पर उसकी आख्या राजस्व कर्मी द्वारा तैयार की जाएगी । जिस पर हस्ताक्षर सभी संबंधित से करा कर आख्या प्रारूप में व प्रार्थना पत्र तथा स्थली निरीक्षण की फोटोग्राफी व वीडियोग्राफी का पीडीएफ आइजीआरएस के व्हाट्सएप नंबर भेजी जाएगी।
               
 यदि कभी अवैध निर्माण/ भूमि विवाद की सूचना पर यूपी 100 कर्मी या थाने की पुलिस विवाद स्थल पर जाती है तो विवाद स्थल का स्थलीय निरीक्षण कर उसका फोटोग्राफी और वीडियोग्राफी बनाएंगे तथा पक्षकारों को मौके पर विवाद का निपटारा ना होने पर थाने पर तलब करेंगे तथा अपनी आख्या व मौके से लिया गया फोटो और वीडियो आइजीआरएस के व्हाट्सएप नंबर पर भेजें ।
               
जनसुनवाई अधिकारी क्षेत्राधिकारी  के प्रतिनिधि के रूप में कार्य करेंगे जो क्रास जनसुनवाई अंकित लाल पट्टी धारण करेंगे जनसुनवाई अधिकारी सप्ताह में एक बार जनसुनवाई में प्राप्त जांच आख्या व रजिस्टर के साथ अपने अपने क्षेत्राधिकारी  के समक्ष प्रस्तुत होकर जांच आख्या व रजिस्टर को सीन कराएंगे । जन सुनवाई अधिकारी द्वारा आवेदक को पीली पर्ची रसीद प्रार्थना पत्र प्राप्त करने के पश्चात भी जाएगी जनसुनवाई अधिकारी प्रार्थना पत्र में गंभीर संज्ञेय अपराध के घटना का अंकित पाए जाने पर तत्काल थाना प्रभारी व क्षेत्राधिकारी को सूचना देंगे ।

No comments