Breaking News

जिलाधिकारी ने किया हृदय योजना के कार्यों का निरीक्षण

*जिलाधिकारी ने किया हृदय योजना के कार्यों का निरीक्षण*

गया, 15 जून, 2019,



रिपोर्टः

दिनेश कुमार पंडित


बिहार के जिला गया में  जिलाधिकारी श्री अभिषेक सिंह ने आज विष्णुपद मंदिर अवस्थित मुख्य मंच, तुलसी उद्यान एवं देवघाट सहित उन तमाम स्थलों का निरीक्षण किया जहां हृदय योजना के तहत कार्य कराया जा रहा है। इस दौरान उन्होंने विष्णुपद मंदिर परिसर में निर्माणाधीन मुख्य मंच का निरीक्षण किया जहां पितृपक्ष के दौरान मुख्य कार्यक्रम संपन्न कराया जाता है।उन्होंने विजय भारद्वाज, कार्यपालक अभियंता सी पी डब्लू डी, गया को मेला के पूर्व फिनिशिंग करने का निर्देश दिया। 

विष्णुपद मंदिर के दाहिने रास्ते में अवस्थित स्थल का भी निरीक्षण किया जहां उन्हें बताया गया कि इस स्थल पर तथा सामने 31 दुकानें बनाई जा रही हैं, दोनों ओर से गेट रहेगा। जिलाधिकारी ने बीच मे ट्रेस का निर्माण कराने का निदेश दिया। 

तुलसी उद्यान के अंदर का आश्रय स्थल बन चुका है तथा सामने एक स्टॉल बनाया जाना है कार्यपालक दंडाधिकारी सीपीडब्ल्यूडी ने बताया कि तुलसी उद्यान के घेराबंदी का कार्य संपन्न कराया जा चुका है तथा यहां हार्टिकल्चर कराया जाना है। जिलाधिकारी ने तुलसी उद्यान के सामने निर्माण हेतु प्रस्तावित द्वार के संबंध में डूडा के कार्यपालक अभियंता से पूछने पर उन्होंने बताया कि ₹8 लाख से यहां द्वार का निर्माण होना था जो कि अभी टेंडर की प्रक्रिया में है। जिलाधिकारी ने बिलम्ब के लिए नाराजगी जाहिर करते हुए इसका निर्माण पितृपक्ष मेला के पूर्व करा लेने का निर्देश नगर आयुक्त को दिया। 

देवघाट के निरीक्षण के दौरान बन रहे आश्रय स्थल, चेंजिंग रूम तथा पियाऊ का उन्होंने निरीक्षण किया और इस दौरान उन्होंने कार्य में तेजी लाने का निर्देश कार्यपालक अभियंता सी पी डब्लू डी, गया को दिया साथ ही श्मसानघाट से पहले देवघाट से विष्णुपद मंदिर पर चढ़नेवाले सीढ़ी के ऊपर से शेड दिलवाने का निर्देश नगर आयुक्त नगर निगम गया को दिया।

वैतरणी तालाब के समीप चल रहे कार्य का उन्होंने बारीकी से निरीक्षण किया। इस अवसर पर प्रोजेक्ट मैनेजर हृदय योजना ने बताया कि चारों तरफ से पत्थर लगाने का कार्य तेजी से किया जा रहा है तथा प्लेटफार्म की चौड़ाई को ढाई फीट से बढ़ाकर 4 फीट किया गया है। जिलाधिकारी ने पितृपक्ष मेला से पहले हर हाल में कार्य संपन्न कराने का निर्देश दिया।

गोदावरी तालाब के समीप चल रहे कार्य के निरीक्षण के दौरान उन्होंने अंचलाधिकारी नगर से गोदावरी तालाब का घेराबंदी एक ओर से तोड़े जाने पर सवाल किए तो अमीन द्वारा बताया गया कि यह गैरमजरूआ मालिक की जमीन है। उल्लेखनीय है कि गैरमजरूआ मालिक की जमीन सरकारी जमीन होती है। इस पर झिड़की लगाते हुए जिलाधिकारी ने अंचलाधिकारी को कार्यस्थल पर खड़े होकर घेराबंदी कराने का निर्देश दिया।

सीता कुंड के निरीक्षण के दौरान कार्यपालक अभियंता सीपीडब्ल्यूडी, गया द्वारा चल रहे कार्यों के संबंध में जिलाधिकारी को एक-एक कर अवगत कराया गया। उन्होंने बताया कि यहां लाल पत्थर का प्रयोग किया जा रहा है जो कि काफी महंगा है। निरीक्षण के दौरान जिलाधिकारी ने पियाऊ स्थलों पर वाटर कूलर लगाने का निर्देश दिया साथ ही सीता कुंड के संबंध में आख्यान एवं पौराणिक घटनाक्रम का स्क्रिप्ट प्रबंध कारिणी समिति से प्राप्त कर अंकित करवाने तथा चल रहे कार्य को मेला प्रारम्भ होने के पूर्व पूर्ण करवाने का निर्देश कार्यपालक अभियंता सीपीडब्लूडी को दिया। 

सीता कुंड से लौटने के क्रम में जिलाधिकारी ने दंडीबाग अवस्थित पंप हाउस का बारीकी से निरीक्षण किया इस अवसर पर नगर आयुक्त तथा श्रीराम ईपीसी एवं रैंकी एजेंसी के प्रतिनिधि एवं दंडीबाग के अभियंताओं से पंप हाउस एवम कार्यरत पंप के बारे में जानकारी ली। बताया गया कि यहां कुल 14 पंप हैं, जिनमें से 3 वाटर लेवल घटने से कार्य नहीं कर रहा है। शहरी क्षेत्र में कुल 193 स्थलों पर लीकेज बंद कराया गया है तथा अभी भी लिकेज बंद कराने का कार्य चल रहा है। जिलाधिकारी ने जलापूर्ति योजना के लिए कार्यरत दोनों एजेंसी के प्रतिनिधियों से इस मुश्किल घड़ी में अपने को स्थापित करने का सुझाव दिया और कहा कि जनता का विश्वास जीतने का यही समय होता है और जब दो बड़ी एजेंसी गया में कार्यरत हो तो पेयजल की समस्या नहीं होनी चाहिए इसलिए उन्होंने दोनों एजेंसी के प्रतिनिधियों को सुझाव दिया कि शहरी क्षेत्र में जलापूर्ति की समस्या उत्पन्न ना होने दें।

इस अवसर पर नगर आयुक्त नगर निगम गया श्री कंचन कपूर,उप निदेशक जन सम्पर्क नागेन्द्र कुमार गुप्ता, अनुमंडल पदाधिकारी सदर सत्येंद्र प्रसाद गुप्ता सहित तमाम संबंधित पदाधिकारी उपस्थित थे।

No comments