Breaking News

कांग्रेस कार्यसमिति की बंद कमरे की बैठकों पर अटकलें न लगाए मीडिया : सुरजेवाला*

**कांग्रेस कार्यसमिति की बंद कमरे की बैठकों पर अटकलें न लगाए मीडिया : सुरजेवाला*

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने सोमवार को एक बयान जारी कर कहा है कि पार्टी कार्यसमिति में होने वाली चर्चा से जुड़ी खबरों पर मीडिया को अटकलें नहीं लगानी चाहिए। पार्टी प्रवक्ता ने उम्मीद जताई है कि बंद दरवाजों के पीछे होने वाली इन बैठकों की गोपनीयता का मीडिया सम्मान करेगी।


एक समाचार पत्र ने रविवार को कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में हुई चर्चा को लेकर खबर छापी थी। इसमें कहा गया था कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कुछ राज्यों के मुख्यमंत्रियों से नाराज हैं। उनका कहना है कि इन मुख्यमंत्रियों ने पार्टी से पहले अपने बेटों को आगे रखा है। बैठक के अंदर हुई चर्चा के मीडिया में लीक होने के बाद आज कांग्रेस की ओर से यह बयान जारी किया गया है।

सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस कार्य समिति सर्वोच्च निर्णय लेने वाली इकाई है। यह विचारों का आदान-प्रदान करने, नीतियों को तैयार करने और सुधारात्मक कार्रवाई करने का एक लोकतांत्रिक मंच है। सीडब्ल्यूसी ने पार्टी के प्रदर्शन, किसी भी विशिष्ट व्यक्ति की भूमिका या आचरण पर आकांक्षाओं के बजाय उसके सामने आने वाली चुनौतियों के साथ-साथ आगे के तरीके पर एक सामूहिक विचार-विमर्श किया। 25 मई के सीडब्ल्यूसी प्रस्ताव में विचार-विमर्श का सार सार्वजनिक भी जारी किया गया।



*संवाददाता कमलेश सिंह चौहान सीधी सिहावल भारत न्यूज़ लाइव 24 हर खबर आप तक*

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने सोमवार को एक बयान जारी कर कहा है कि पार्टी कार्यसमिति में होने वाली चर्चा से जुड़ी खबरों पर मीडिया को अटकलें नहीं लगानी चाहिए। पार्टी प्रवक्ता ने उम्मीद जताई है कि बंद दरवाजों के पीछे होने वाली इन बैठकों की गोपनीयता का मीडिया सम्मान करेगी।


एक समाचार पत्र ने रविवार को कांग्रेस कार्यसमिति की बैठक में हुई चर्चा को लेकर खबर छापी थी। इसमें कहा गया था कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कुछ राज्यों के मुख्यमंत्रियों से नाराज हैं। उनका कहना है कि इन मुख्यमंत्रियों ने पार्टी से पहले अपने बेटों को आगे रखा है। बैठक के अंदर हुई चर्चा के मीडिया में लीक होने के बाद आज कांग्रेस की ओर से यह बयान जारी किया गया है।

सुरजेवाला ने कहा कि कांग्रेस कार्य समिति सर्वोच्च निर्णय लेने वाली इकाई है। यह विचारों का आदान-प्रदान करने, नीतियों को तैयार करने और सुधारात्मक कार्रवाई करने का एक लोकतांत्रिक मंच है। सीडब्ल्यूसी ने पार्टी के प्रदर्शन, किसी भी विशिष्ट व्यक्ति की भूमिका या आचरण पर आकांक्षाओं के बजाय उसके सामने आने वाली चुनौतियों के साथ-साथ आगे के तरीके पर एक सामूहिक विचार-विमर्श किया। 25 मई के सीडब्ल्यूसी प्रस्ताव में विचार-विमर्श का सार सार्वजनिक भी जारी किया गया।



*संवाददाता कमलेश सिंह चौहान सीधी सिहावल भारत न्यूज़ लाइव 24 हर खबर आप तक*

No comments