Breaking News

बुद्ध की ज्ञानस्थली बोधगया का शहर अतिक्रमण की चपेट में

बुद्ध की ज्ञानस्थली बोधगया का शहर अतिक्रमण की चपेट में 
बिहार के बोधगया में.
बिहार के विश्व धरोहर बुद्ध की ज्ञान स्थली बोधगया का शहर इन दिनों अतिक्रमणकारियों के चपेट में कराह रहा है l जबकि यह शहर पर्यटकों का मुख्य स्थल माना जाता है l बोधगया शहर बुद्ध भगवान की ज्ञानस्थली के नाम से देश ही नहीं विदेशों में जाना जाता है ऐसे स्थानों पर सड़क का मुख्य भाग अतिक्रमणकारियों के चपेट में आने से पर्यटकों  एवं लोगों के सामने संकट उत्पन्न हो गया है l ताज्जुब तो इस बात की है की माननीय उच्च न्यायालय पटना के निर्देश एवं मीडिया द्वारा प्रमुखता से समाचार प्रकाशित होने के बावजूद भी बुद्ध भगवान की ज्ञान स्थली  की मुख्य सड़क एवं बाजार  इन दिनों अतिक्रमणकारियों के चपेट में कराह रहा है l और नगर पंचायत प्रशासन से लेकर स्थानीय प्रशासन के कानों तक जू नहीं रेंगता l इसी का परिणाम है कि सब्जी बेचने वाले से लेकर ठेला गुपचुप बेचने वालों से लेकर दुकान लगाने वाले  लोगों का मनोबल सर चढ़कर बोलने लगा है l बताया जाता है कि ठेला लगाने ,सब्जी ,फल बेचने एवं छोटी वाहनों को लगाने वाले से लेकर दुकान लगाने वालों द्वारा नगर पंचायत एवं स्थानीय प्रशासन को मोटी रकम दी जाती है इसी का परिणाम है कि इन दिनों बुद्ध भगवान की ज्ञान स्थली की मुख्य सड़कें अतिक्रमण की चपेट में कराह रहा है और प्रशासन मूकदर्शक बना हुआ है l जबकि शासन प्रशासन से लेकर पर्यटकों का आवागमन  होते रहता है इसके बावजूद भी बुद्ध भगवान की ज्ञान स्थली अतिक्रमण की चपेट में कराह रहा है जिससे कई सवाल को खड़ा करता है l आखिर इसके लिए दोषी कौन ? और प्रशासनिक  स्तर से वैसे लोगों के विरोध कार्रवाई क्यों नहीं की जाती जिन्होंने नियम की धज्जियां उड़ा कर अतिक्रमण किया है l कब होगा अतिक्रमणकारियों से मुक्त बुद्ध भगवान की ज्ञान स्थली का मुख्य सड़क ,  ऐसे कई सवाल हैं जो बोधगया निवासियों के जेहन में  कौध रही है l जबकि प्रतिदिन देश ही नहीं विदेशों से सैकड़ों पर्यटकों का आवागमन होता है l बोधगया के मुख्य सड़क इर्द गिर्द सड़कों की सफाई नहीं होने से गंदगी का अंबार लगा हुआ है जिससे सड़ांध बदबू फैल रहा है l और बीमारी फैलने की आशंका बढ़ गई है l मीडिया के कर्मियों द्वारा प्रशासनिक  स्तर से लेकर स्थानीय स्तर के पदाधिकारियों से पूछे जाने के क्रम में जवाब यही मिलता है कि सड़क हो अतिक्रमणकारियों से मुक्त करा दिया जाएगा l एवं शहरों की साफ-सफाई पूरे पैमाने पर की जाएगी l लेकिन न शहर की सफाई हो पाई और ना ही अतिक्रमणकारियों से शहर को मुक्त करा सका l  जबकि माननीय उच्च  न्यायालय ने भी कई दिशा निर्देश देते हुए अतिक्रमण मुक्त करने का फरमान जारी कर चुका है l इसके बावजूद भी शहर के मुख्य सड़क को  अतिक्रमणकारियों से मुक्त नहीं कराया गया जिससे कई सवाल को खड़ा करता है l ऐसे तो कभी-कभी  माननीय उच्च न्यायालय ने पारित आदेश में खेद व्यक्त किया या फिर आदेश पारित किया तो कुछ दिनों के लिए प्रशासनिक स्तर पर सड़क पर लगे ठेला झुग्गी झोपड़ी से लेकर सब्जी फल विक्रेताओं को सड़क से मुक्त करा दिया जाता हैl  परंतु स्थाई तौर पर प्रशासनिक स्तर से कोई पहल नहीं किया गया है l जो खेद का विषय है l स्थानीय प्रशासन, जिला प्रशासन  से लेकर राजनीतिक बुद्धिजीवी एवं समाजसेवी व्यक्तियों को भी  बढ़-चढ़कर आगे आकर पहल करने की आवश्यकता है l
[13/02, 10:16 am] विश्वनाथ औरंगाबाद: औरंगाबाद के जिला पदाधिकारी ने  बारुण प्रखंड में किया औचक निरीक्षण l कई कर्मी रहे अनुपस्थित l औरंगाबाद बिहार से ऑल इंडिया न्यूज़ टीम की रिपोर्ट :-  बिहार के औरंगाबाद के जिला पदाधिकारी राहुल रंजन महिवाल ने बारुण प्रखंड मुख्यालय में जाकर औचक निरीक्षण किया l  एवं कई दिशा निर्देश दी l ऐसे तो जिला पदाधिकारी राहुल रंजन महिवाल को पहुंचते ही मुख्यालय में हड़कंप मच गया l प्रखंड मुख्यालय के कर्मचारी  एवं पदाधिकारी अपने कार्यों में कार्य करते व्यस्त दिखे l जिला पदाधिकारी राहुल रंजन महिवाल ने कर्मचारियों की उपस्थिति पंजी देखें जिसमें कई कर्मचारी कार्यालय से अनुपस्थित पाए गए जिसके लिए जिला पदाधिकारी ने उपस्थिति पंजी में दर्ज नाम के सामने अनुपस्थित कर्मचारियों  के सामने हाजिरी काट दिया गयाl एवं स्पष्टीकरण की मांग करने का निर्देश  जिला पदाधिकारी ने जारी की l बताया जाता है कि निरीक्षण के दौरान  नाजिर अजय कुमार सिन्हा लेखापाल सह आईटी सहायक मुकेश कुमार ईश्वर कुमार दयानंद चौरसिया की हाजिरी जिला पदाधिकारी ने स्वयं काटे l जिला पदाधिकारी ने सख्त निर्देश देते हुए कहा है कि स्पष्टीकरण का जवाब संतोषजनक नहीं रहने पर कर्मचारियों के विरोध दंडात्मक कार्रवाई की जाएगी l अब देखना होगा  की जिला पदाधिकारी द्वारा औचक निरीक्षण के बाद कार्यालय में क्या परिणाम  आता है यह तो आने वाला समय बताएगा लेकिन जिस प्रकार से जिला पदाधिकारी ने प्रखंड की दौरा कर औचक निरीक्षण किया l जिससे कर्मचारियों में हड़कंप मचा है l

No comments