Breaking News

लोक शिकायत के तहत 18 मामलों की हुई सुनवाई

*लोक शिकायत के तहत 18 मामलों की हुई सुनवाई
*
गया, 11 फरवरी, 2020, लोक शिकायत निवारण अधिकार अधिनियम, 2015 के तहत द्वितीय अपील में ज़िला पदाधिकारी, गया श्री अभिषेक सिंह के द्वारा 18 मामलों में सुनवाई की गई। सुनवाई के क्रम में कुछ मामलों का निष्पादन *ऑन द स्पॉट* किया गया। 
लखीबाग, बुनियादगंज के अपीलार्थी श्री सुनील कुमार द्वारा भूमि विवाद के संबंध में अपील दायर की गयी थी। सुनवाई के क्रम में जिलाधिकारी ने थानाध्यक्ष मुफस्सिल एवं अंचलाधिकारी मानपुर को संबंधित भूमि विवाद के मामले को जांच कराने का निर्देश दिया था। आज सुनवाई के क्रम में जांच रिपोर्ट प्राप्त होने के बाद सुनील कुमार की उक्त जमीन सही पायी गयी। उन्होंने अंचलाधिकारी को दखल दिलाने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने अपीलार्थी श्री सुनील कुमार को कहा कि यदि बाउंड्री वाल करने में कोई कठिनाई आती है तो थाना प्रभारी से संपर्क कर प्राथमिकी दर्ज कराएंगे।
ग्राम सलेमपुर, टिकारी के अपीलार्थी श्री मुकेश विद्यार्थी द्वारा आर डी पब्लिक स्कूल, टिकारी में धांधली के संबंध में अपील दायर की गयी थी। सुनवाई में उपस्थित शिक्षा विभाग के कर्मी द्वारा बताया गया कि 2014 में आर डी पब्लिक स्कूल की प्रस्वीकृति प्राप्त हुआ था। उस समय से आज तक आरटीई के तहत 25% सीट पर बच्चों का नामांकन भी लिया गया है परंतु उनके द्वारा उक्त बच्चों को किसी प्रकार का देय सुविधाएं यथा पाठ्यपुस्तक एवं पोशाक उपलब्ध नहीं कराया गया जबकि उस विद्यालय को पूर्व में प्रतिपूर्ति की राशि भी निर्गत की गई है। विद्यालय द्वारा स्वयं स्वीकार किया गया था कि ग्रीष्मावकाश के बाद सभी बच्चों को देय सुविधाएं प्रदान कर दी जाएगी परंतु इसके बावजूद विद्यालय द्वारा सभी बच्चों को कोई भी सुविधाएं उपलब्ध नहीं कराई गई। अपीलार्थी की शिकायत को गंभीरता से लेते हुए जिलाधिकारी ने शिक्षा विभाग को आरडी पब्लिक स्कूल टिकारी के प्रस्वीकृति रद्द करने का निर्देश दिया साथ ही आरटीई के तहत जितने भी राशि उस विद्यालय को दिया गया है उन राशि की वसूली हेतु कार्यवाही की जाए।
ग्राम मखपा, टिकारी के अपीलार्थी श्री मनोज कुमार मिश्रा द्वारा अतिक्रमण मुक्त कराने के संबंध में अपील दायर की गयी थी। सुनवाई के दौरान अपीलार्थी ने बताया कि उक्त भूमि पर अब तक अतिक्रमण नहीं हटाया गया है। जिलाधिकारी ने अंचलाधिकारी टिकारी को 14 फरवरी तक अतिक्रमण हटाने का निर्देश दिया एवं अगली सुनवाई की तिथि में अतिक्रमण मुक्त कराए गए भूमि का फोटोग्राफ भी उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।
अपीलार्थी श्री मुनेश्वर सिंह, मशीन मैन जिला परिषद गया द्वारा एसीपी एवं एमएसीपी का भुगतान करने के संबंध में अपील दायर किया गया था। सुनवाई के क्रम में अपीलार्थी श्री मुनेश्वर सिंह को उक्त राशि का बैंक चेक उपलब्ध करा दिया गया।
ग्राम बरसाना, जिला गया के अपीलार्थी श्री गनौरी मांझी द्वारा परवाना जमीन के संबंध में अपील दायर की गयी थी। अंचलाधिकारी फतेहपुर द्वारा बताया गया कि उक्त जमीन के परवाना के लिए नोटिस भेजा जा चुका है। जिलाधिकारी ने उक्त जमीन को 15 दिनों के अंदर जांच रिपोर्ट उपलब्ध कराने का निर्देश दिया।
गेवाल विगहा, थाना रामपुर के अपीलार्थी मोहम्मद कमरुद्दीन द्वारा अवैध ढंग से मापी कर घेराबंदी के संबंध में अपील दायर की गयी थी। जिलाधिकारी द्वारा उक्त जमीन का जांच करने का निर्देश भूमि सुधार उप समाहर्ता सदर एवं नगर निगम को दिया गया था। भूमि सुधार उप समाहर्ता द्वारा जांच प्रतिवेदन उपलब्ध करा दी गई परंतु नगर निगम द्वारा उक्त जमीन का जांच रिपोर्ट उपलब्ध नहीं कराया गया। जिलाधिकारी ने नगर आयुक्त को 7 दिनों के अंदर रिपोर्ट उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि अपीलार्थी द्वारा प्रस्तुत किए गए सभी कागजातों को गंभीरता से जांच किया जाए।
अपीलार्थी पप्पू चंद्रवंशी द्वारा सरकारी भूमि पर अवैध कब्जा के संबंध में अपील दायर की गयी थी। 
जिलाधिकारी ने उक्त जमीन जिस पर शिकायत की गई है। उन संबंधित जमीनों को हाई लेवल इंक्वायरी कराने का निर्देश दिया। उन्होंने सहायक समाहर्ता, डीसीएलआर सदर एवं एएसडीओ(asdo) सदर का टीम गठित कर उक्त जमीन का मामला अंचल कार्यालय सदर, जिला निबंधक कार्यालय एवं संबंधित दस्तावेजों की उच्च स्तरीय जांच करायी जाए। उक्त जमीन को आयुक्त महोदय द्वारा अतिक्रमण मुक्त कराने का भी आदेश पारित था परंतु अब तक अंचलाधिकारी द्वारा कोई कार्यवाई नहीं की गई। जिलाधिकारी ने अंचलाधिकारी के कार्यशैली को गंभीरता से लेने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने अंचलाधिकारी नगर के विरुद्ध जांच कराने का निर्देश दिया।

No comments