Breaking News

गया काॅलेज,गया में छात्रा से अश्लील बाते करने वाले वकार अहमद के ज्वाइन के बाद छात्रों का हंगामा

*गया काॅलेज,गया में छात्रा से अश्लील बाते करने वाले वकार अहमद के ज्वाइन के बाद छात्रों का हंगामा
।*

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद ने छात्राओं के साथ अश्लीलता बाते के आरोपी और इस मामले में सस्पेंड हुए प्रोफेसर वकार अहमद को पुनः गया कॉलेज में ज्वाइन करने को लेकर जबरदस्त विरोध प्रदर्शन कियाl प्रदर्शन कर रहे छात्रों का आरोप है कि पूर्व में यह प्रोफेसर कॉलेज की एक छात्रा के साथ प्रिडिकल के नाम पर गलत डिमांड की ऑडियो वायरल हुआ था और पूर्व में भी परीक्षा के दौरान छात्राओं के साथ अश्लीलता के आरोप में आरोपित हो चुका है ऐसी स्थिति में गया कॉलेज प्राचार्य के द्वारा इन्हें पुनः यहां ज्वाइन करने देना काफी संदेह पैदा करता है,अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद की छात्र नेत्रि श्रुति त्रिपाठी ने कहा कि प्रो• वकार अहमद के गया काॅलेज में ज्वाईन से छात्राओं में डर का माहौल है वकार अहमद का केस जब न्यायालय में चल रहा तो फिर कैसे मगध विश्वविद्यालय के कुलपति इसे क्लीन चिट दे कर एक प्रतिष्ठित काॅलेज मे भेज सकते है,वकार अहमद पर जो आरोप है उसकी विश्वविद्यालय जांच टिम के पदाधिकारी से जब बात हुई तो उन्होंने कहा कि जांच रिपोर्ट हम ने अभी तक नही सौंपी भी कैसे कुलपति ऐसा निर्णय ले सकते है,जहां एक तरह प्रियंका रेड्डी जैसी घटना देश को दहला दी वही मगध विश्वविद्यालय के प्रतिष्ठित काॅलेज गया काॅलेज में छात्राओं के साथ गलत व्यवहार करने वाले प्रो• वकार अहमद कि दोवारा नियुक्ति होना छात्राओं के साथ एक बड़ी घटना को बुलावा देना है। वकार अहमद की दोवारा नियुक्ति से लगने लगा है कि विश्वविद्यालय के कुलपति छात्राओं से अश्लील बाते करने वाले प्रो• को बढ़ावा दे रहे है।मगध विश्वविद्यालय के कुलपति एवं गया कॉलेज के प्राचार्य कि भूमिका पर बढी प्रशन खड़ी होती है कि क्या ये शिक्षा का माहौल देना चाहते है छात्राओं को या डर पैदा कर रहे हैं छात्राओं में,वकार अहमद जैसे लोगो की नियुक्ति पैसे की लेन देन को दर्शाता है।वही छात्र नेता प्रशान्त कुमार ने कहा कि जब मगध विश्वविद्यालय के कुलपति  क्या चाहते है गया काॅलेज को बर्बाद करना एक ओर पीजी नामांकन शुल्क के नाम पर छात्र-छात्राओं को लुट रहे है दुसरी ओर छात्रा के साथ अश्लील बात करने वाले प्रो• की नियुक्ति काॅलेज मे कर रहे है इससे साफ जाहिर होता है कि कुलपति कि नीयत क्या है जब गया काॅलेज प्राचार्य से हम सभी ने बात कि तो उनहोने कहा कि हमें जो विश्वविद्यालय ने आदेश दिया है हम वो कर रहे है वकार कि नियुक्ति गलत नही है वही अंग्रेजी विभागाध्यक्ष ने कहा कि हमें जो प्राचार्य ने आदेश दिया हम तब ही उसे अपने विभाग में नियुक्ति की।मै छात्रों के विरोध को देखते हुए वकार अहमद के द्वारा कि गई घटना से एक बार और प्राचार्य को अवगत करती है।वही प्रशांत ने कहा कि वकार के नियुक्ति का हम जोर दर विरोध करेंगे।इस विरोध का जवाबदेही कुलपति और प्राचार्य कि होगी क्यो कि इन्होंने गलत तरीके से गलत व्यक्ति की नियुक्ति की है।इस मौके पर छात्रा प्रमुख विदूषी कुमारी,नगर छात्रा प्रमुख आरती कश्यप,लाडली,सोनी,पूजा,सत्यम कुशवाहा,शशि कुमार,राजीव कुमार आदि मौजूद थे।

No comments