Breaking News

उत्‍तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बलरामपुर में बुधवार को सुबह फिट काटकर इंडिया मूवमेंट की शुरुआत की।



(बलरामपुर)
उत्‍तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बलरामपुर में बुधवार को सुबह फिट काटकर इंडिया मूवमेंट की शुरुआत की। साथ ही बलरामपुर जिले के विकास कार्यों की बुधवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने समीक्षा की। इस दौरान उन्‍होंने अफसरों को फटकार भी लगाई। मुख्यमंत्री ने कहा कि 30 नवंबर तक सभी सड़कों को गड्ढा मुक्त कराएं। अधिकारियों को चेतावनी दी कि आप सभी लोग दो घंटे जन सुनवाई करें, इसके बाद फील्ड में उतरे। स्वास्थ्य के मामले में बलरामपुर पिछड़ता रहा है इसीलिए यहां पर केजीएमयू का सैटलाइट सेंटर स्वीकृत किया गया है। यह सैटलाइट सेंटर मेडिकल कॉलेज के रूप में विकसित होगा और यहां पर डॉक्टरों की कमी दूर होगी। सीएम योगी ने कहा कि यहां पर एमबीबीएस व पीजी की डिग्री लेने वाले डॉक्टरों से रिमोट एरिया में कुछ दिनों तक काम कराने का अनुबंध भी कराया जाएगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि बहराइच मेें मेडिकल काॅलेज शुरू कर दिया गया है जबकि बलरामपुर में इस वित्तीय वर्ष में केजीएमयू सैटलाइट सेंटर का काम शुरू कर दिया जाएगा। गोंडा में भी अगले सत्र में एक मेडिकल कॉलेज स्वीकृत किया जाएगा। मंगलवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जिले पहुंचे थे। बुधवार को पांच बजे तुलसीपुर स्थित शक्तिपीठ देवीपाटन मंदिर के गर्भ गृह में देवी मां का पूजन अर्चन किया। इसके बाद गौशाला जाकर गौ सेवा की। मंदिर महंत मिथिलेश नाथ के साथ सीएम ने पूरा परिसर देखा। थारू छात्रावास का भी जायजा लिया। स्थानीय लोगों से हाल-चाल भी पूछा। इसके बाद सीएम योगी अपने निर्धारित समय पर पुलिस लाइन पहुंचे। यहां उन्‍हें गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया। ढाई घंटे बैठक के बाद सीएम योगी लखनऊ के लिए रवाना हो गए।

मुख्यमंत्री ने कहा कि अगले वित्तीय वर्ष में गोंडा जिले को भी मेडिकल कॉलेज की सौगात दी जाएगी। देवीपाटन मंडल के तीन जिले बहराइच, श्रावस्ती व बलरामपुर नेपाल सीमा से सटे हुए हैं। इन जिलों में सुरक्षा के दृष्टिकोण से काफी महत्वपूर्ण है। नेपाल के अधिकारियों के साथ सुरक्षा के मानकों पर भी गहन चर्चा करें। इसके अलावा सीएम ने कहा कि राम जन्मभूमि मुद्दे पर सुप्रीम कोर्ट का जो फैसला आया है, उसकी यूपी पुलिस ने जिस तरह मुस्तैद होकर आपसी सौहार्द और भाईचारा बनाए रखा, यह बेहतर कार्य है। 



सीएम ने कहा कि बलरामपुर की धरती श्रद्धेय अटल बिहारी वाजपेयी और नानाजी देशमुख की कर्म स्थली रही है। यह जिला हमारे प्रधानमंत्री के दृष्टि से काफी महत्वपूर्ण है और इसका पिछड़ापन दूर करने के लिए इसे आकांक्षात्मक जिले में शामिल किया गया है। इसके विकास के छह पैरामीटर निर्धारित है। हर योजना का बेहतर क्रियान्वयन हो। स्वास्थ्य के दृष्टिकोण से बलरामपुर काफी पिछड़ा रहा है। केजीएमयू सैटेलाइट सेंटर का निर्माण इसी वित्तीय वर्ष शुरू होगा। स्वास्थ्य सेवाएं काफी बेहतर होंगी। हम केजीएमयू मेडिकल कॉलेज में पढ़ने वाले छात्रों से अनुबंध भी कराएंगे कि वह अपनी पढ़ाई पूरी करने के बाद कुछ दिन तक यहां के ग्रामीण इलाकों में अपनी सेवाएं दे। 
लोक कल्याण को समर्पित है।
संतों का जीवन : बलरामपुर में बोले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

कंबल जरूरतमंद को वितरित करें, खैरात न बांटे बेसहारा पशुओं के चारे पानी की व्यवस्था सीवीओ की होगी। 50 लाख के ऊपर वाले सभी कार्यों की हर 15 दिन में समीक्षा करें। खनन पर अंकुश लगाएं। शराब, खनन, पशु व भूमाफिया के खिलाफ कठोर कार्रवाई करें। कंबल जरूरतमंद को वितरित करें, खैरात न बांटे। कंबल अच्छी क्वालिटी का होना चाहिए। इसके बाद पुलिस कैंटीन का उद्घाटन किया।  
बलरामपुर(ब्यूरो)अशोक कुमार पाल

No comments