देवोत्थान एकादशी पर महिलाओं ने उपवास रखकर देवताओं का किया पूजन - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Friday, 8 November 2019

देवोत्थान एकादशी पर महिलाओं ने उपवास रखकर देवताओं का किया पूजन

*देवोत्थान एकादशी पर महिलाओं ने उपवास रखकर देवताओं का किया पूजन
*
भारत न्यूज़ लाइव 24 हर खबर आप तक 

सीधी-कार्तिक मास की प्रबोधनी एकादशी पर महिलाओं ने हर वर्ष की तरह इस बार भी अपने घरों में तुलसी पूजन किया। शुक्रवार को पूरी धार्मिक श्रद्धा के साथ पर्व को मनाया गया। खासकर महिलाओं में इस पूजन को लेकर भारी उत्साह देखा गया। सुबह से ही महिलाएं पूजा की सामग्री एकत्रित कर रही थीं। घरों में तुलसी के पौधे का पूजन किया गया। कई स्थानों पर सामूहिक रूप से भी तुलसी की विशेष पूजा अर्चना की गई। तुलसी के पौधे को दुल्हन की तरह श्रृंगार कर सजाया गया था।

जिला के कई स्थानों पर तुलसी विवाह कार्यक्रम भी आयोजित किए गए। तुलसी को भारतीय जनमानस में पवित्र स्थान दिया गया है। यह लक्ष्मी व नारायण दोनों को समान रूप से प्रिय है। बिना तुलसी के यज्ञ, हवन, पूजन, कर्मकाड, साधना व उपासना पूरे नहीं होते। यहा तक कि श्राद्ध, तर्पण, दान, संकल्प के साथ ही चरणामृत, प्रसाद व भगवान के भोग में तुलसी का होना अनिवार्य माना गया है। भारतीय समाज में तुलसी के पौधे को देवतुल्य मान ऊंचा स्थान दिया गया है। यह औषधि भी है और मोक्ष प्रदायिनी भी। तुलसी के बारे में अनेक पौराणिक कथाएं विद्यमान हैं। जहा तुलसी होती है वहा साक्षात लक्ष्मी का भी निवास होता है। कार्तिक मास तुलसी पूजन के लिए पवित्र माना गया है। वैष्णव पूजा विधान में तुलसी पूजन व विवाह प्रमुख है। नियमित रूप से स्नान के बाद तुलसी को प्रात: काल जल दिया जाता है और संध्याकाल में हम तुलसी के चरणों में दीपक जलाते हैं।

*राजीव तिवारी (राजू) भारत न्यूज़ लाइव हर खबर आप तक सीधी*

No comments:

Post a Comment