क्लीन एयर एक्शन प्लान को लेकर हुई बैठक - BHARAT NEWS LIVE 24

Breaking

Friday, 8 November 2019

क्लीन एयर एक्शन प्लान को लेकर हुई बैठक

*क्लीन एयर एक्शन प्लान को लेकर हुई बैठक
*
गया, 08 नवंबर 19, 
रिपोर्ट
दिनेश कुमार पंडित

बिहार के जिला गया में जिलाधिकारी श्री अभिषेक सिंह की अध्यक्षता में समाहरणालय सभाकक्ष में क्लीन एयर एक्शन प्लान को लेकर पॉल्यूशन कंट्रोल बोर्ड के सदस्य एवं संबंधित पदाधिकारी के साथ समीक्षा बैठक की गई। बैठक में ज़िलाधिकारी द्वारा बताया गया कि गया विश्व के 20 प्रदूषित शहरों में शामिल है। यहाँ शुद्ध वायु के लिए बनाए गए नियमावली का अनुपालन कराया जाना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि नियमावली के अनुसार गृह निर्माण ग्रीन कवर के साथ किया जाना है, साथ ही उड़ने वाले पदार्थ पर नियंत्रण हेतु पानी का छिड़काव आवश्यक है। उन्होंने कहा कि जितने भी मॉल, प्राइवेट इंस्ट्यूशन के बिल्डिंग बन रहे हैं, सरकारी भवन बन रहे हैं उनमें इसका अनुपालन अनिवार्य रूप से कराया जाए। जिनके द्वारा इसका अनुपालन नहीं किया जाता है तो उन्हें नोटिस करते हुए जुर्माना अधिरोपित किया जाए। पुराने जेनरेटर एवं जेरॉक्स मशीन को अभियान चलाकर जब्त किया जाए। जहां भारी गाड़ी चलती है, बालूवाली गाड़ी चलती है। वहां नगर निगम को पानी का छिड़काव कराने का निर्देश दिया गया। सभी रूट पर पानी का छिड़काव करवाने के बाद ही झाड़ू लगाने का सुझाव दिया गया ताकि धूल न उड़ सके। 
जिलाधिकारी ने कहा कि गया को विश्व के 20 सर्वाधिक प्रदूषित शहरों में शामिल किया गया है इसके अनुसार एक्शन प्लान बनाया गया है। जिसमें स्पॉट माइनिंग के लिए जो प्रावधान दिए गए हैं उनका शत-प्रतिशत अनुपालन कराना होगा।
बैठक में वन विभाग को अधिक से अधिक प्लांटेशन कार्य कराने का सुझाव दिया। ज़िलाधिकारी ने बताया कि छोटी-छोटी झाड़ियां भी धूल को रोकती है इसलिए पौधा न सही झाड़ियां भी लगायी जा सकती है। उन्होंने कहा कि इसके अलावा सभी प्रकार के निर्माण कार्य के दौरान क्लीन एयर के निर्देशों का अनुपालन किया जाना चाहिए। 
जिलाधिकारी ने कहा कि जहां-जहां माइनिंग का कार्य हो रहा है जिला खनन पदाधिकारी वहां वायु प्रदूषण रोकने के नियमावली का शत-प्रतिशत अनुपालन करवाएं साथ ही वहां सघन पौधारोपण करावें तथा नियमावली का अनुपालन नहीं करने वालों के विरूद्ध सख्त कार्रवाई की जाए। उन्होंने कहा कि गया जिला में 499 ईंट भट्ठा संचालित हैं। अगले सत्र से ईंट भट्ठों के लिए निर्धारित मानक का अनुपालन करने वाले संचालकों को ही अनुज्ञप्ति प्रदान की जाएगी। 
जिलाधिकारी ने जिला परिवहन पदाधिकारी को शहर के एंट्री एवं एग्जिट प्वाइंट पर नियमित रूप से वाहनों के प्रदूषण जांच कराने का निर्देश दिया साथ ही कमर्शियल वाहनों का विगत 6 महीने में किये गए फिटनेस जांच का प्रतिवेदन उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। साथ ही शहर में जुगाड़ गाड़ी के प्रवेश पर रोक लगाने का निर्देश दिया। उन्होंने नगर आयुक्त श्री सावन कुमार को शहरी क्षेत्र में लकड़ी एवं कोयला से जलाए जाने वाले चूल्हे वाले प्रतिष्ठानों को चिन्हित कराने एवं उन पर रोक लगाने तथा कार्रवाई करने हेतु निर्देशित किया।
बैठक में नगर आयुक्त, नगर निगम श्री सावन कुमार, डीएफओ श्री अभिषेक कुमार, कार्यपालक पदाधिकारी नगर पंचायत बोधगया, सभी अनुमंडल पदाधिकारी, सभी प्रखंडों के अंचलाधिकारी एवं अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।

No comments:

Post a Comment