Breaking News

ठगी का खुलासा, घटना में संलिप्त 01अभियुक्त गिरफ्तार*



*ठगी का खुलासा, घटना में संलिप्त 01अभियुक्त गिरफ्तार*
(बलरामपुर)
दिनांक 25 नवंबर 2019 का प्रार्थी गण मोहम्मद इरशाद पुत्र अली अहमद निवासी हरबंस पुर थाना कोतवाली नगर जनपद बलरामपुर तथा अन्य द्वारा प्रार्थना पत्र दिया कि तीन अज्ञात अभियुक्त जो स्वयं को मनोरंजन विभाग का अधिकारी बताते हुए दुकान में चेकिंग करने लगे तथा KGN मोबाइल शॉप से रू0 25000 बाबा इलेक्ट्रॉनिक्स से रू0 25000 तथा मनीष मोबाइल शॉप से रू0 12000 जुर्माना लेकर रसीद दिए । बाद में जानकारी हुई कि वह सभी मनोरंजन विभाग के अधिकारी नहीं थे। तीनों व्यक्तियों द्वारा फर्जी आईडी दिखा कर फर्जी रसीद देकर हम लोगों से पैसे की ठगी की गई है। इस संबंध में थाना कोतवाली देहात द्वारा मु0अ0सं0 390 /19 धारा 419, 420, 467, 468, 471,346 भा0द0सं0 का अभियोग पंजीकृत कर विवेचना उप निरीक्षक श्री संतोष पासवान द्वारा की जा रही थी।
      प्रभारी निरीक्षक थाना कोतवाली देहात वीरेंद्र सिंह मय हमराही गण के साथ तलाश वांछित वारंटी क्षेत्र में मामूर थे कि जरिए मुखबिर खास सूचना मिली कि मुकदमा अपराध संख्या 390/19 से संबंधित अभियुक्त जिनकी तलाश आप लोगों द्वारा की जा रही है, जो अपनी क्वालिस गाड़ी HR05H5932 में बैठकर बहराइच  से बलरामपुर आ रहे हैं । इस सूचना पर विश्वास करके प्रभारी निरीक्षक थाना कोतवाली देहात, प्रभारी स्वाट टीम तथा प्रभारी सर्विलांस टीम के साथ रेणुकानाथ मंदिर तिराहे पर गाड़ी का इंतजार करने लगे । कुछ ही देर में बहराइच की तरफ से एक गाड़ी आती दिखी जिसको नजदीक आने पर एकबारगी घेर कर रोक लिया गया, जिसमें से गाड़ी के पीछे बैठे दो व्यक्ति भागने में सफल रहे तथा चालक को पकड़ लिया गया । नाम पता पूछने पर अपना नाम धीरज सिंह पुत्र अमर सिंह निवासी मुरारी नगर शिकारपुर रोड खुर्जा थाना कोतवाली नगर जनपद बुलंदशहर बताया । भागे हुए दोनों व्यक्तियों के बारे में पूछा गया तो बताया पहला व्यक्ति रमेश कुमार पुत्र दौजीराम निवासी मुमरेगा थाना इगलास जनपद अलीगढ़ व मनोज कुमार पुत्र हरी सिंह निवासी सिसवा थाना गोंडा जनपद अलीगढ़ बताया । कड़ाई से पूछताछ करने पर बताया कि उपरोक्त साथियों के साथ मिलकर पूर्व की घटना को अंजाम दिया गया था तथा गलती स्वीकार करते हुए माफी मांगने लगा ।
        अब तक की विवेचना से जो कुछ बातें सामने निकल कर आई हैं उनका विवरण निम्न वत है । मनोरंजन विभाग से संबंधित अधिकारी बताते हुए मोबाइल शाप व छोटे-छोटे साइबर कैफे चलाकर आजीविका पैदा करने वाले लोगों को पकड़कर ये उनको डराते हैं कि तुम अश्लील फोटो वीडियो डाउनलोड करने का सॉफ्टवेयर  पायरेसी आदि का गैरकानूनी धंधा करते हो तुम को जेल भेजा जाएगा और जब वह व्यक्ति घबरा जाता है तब उसको यह गैंग एक फर्जी जुर्माने की रसीद काटकर उससे पैसा लेकर उसको छोड़ देते हैं । यह भी संज्ञान में आया है कि इस गैंग ने जनपद बलरामपुर के अतिरिक्त पूर्वी उत्तर प्रदेश के कई पिछड़े जनपदों में इस प्रकार से ठगी और धोखाधड़ी करके उगाही की है। इस गैंग का लीडर धीरज सिंह नाम का व्यक्ति है जो खुर्जा बुलंदशहर का रहने वाला है । अभियुक्त को गिरफ्तार कर माननीय न्यायालय प्रेषित किया जा रहा है ।
 *गिरफ्तार अभियुक्त का विवरण*
1- धीरज सिंह पुत्र अमर सिंह निवासी मुरारी नगर शिकारपुर रोड खुर्जा थाना कोतवाली नगर जनपद बुलंदशहर ।

 गिरफ्तारी का समय- 05:30 बजे ।

*बरामदगी का विवरण* 
1- 07 अदद् बुकलेट रसीदें, डिफेंस एण्टीपेरेसी ।
2- 01 अदद क्वालिस कार गाड़ी नं0- HR 05H5932 ।

*गिरफ्तार करने वाली टीम*
1- वीरेन्द्र सिंह प्रभारी निरीक्षक को0देहात ।
2-उ0नि0 अख्तर अली
3- उ0नि0 संतोष पासवान
4-हे0का0 उपेन्द्र यादव 
5-हे0का0 धर्मपाल
6- आरक्षी नीरज श्याम शुक्ला
*स्वाट टीम*
1-  दुर्गेश सिंह प्रभारी स्वाट टीम
2- आरक्षी बिरजू गुप्ता
*सर्विलांस टीम*
1-  चंद्रहास मिश्र प्रभारी सर्विलांस
2- आरक्षी रोहित शुक्ला
3 आरक्षी अखिलेश खरवार
4- आरक्षी राकेश
अशोक कुमार पाल

No comments